scorecardresearch
Thursday, 11 April, 2024
होमदेशमोदी ने तीन हजार महिलाओं को स्वयं सहायता समूह बनाने के लिए प्रेरित करने वाली महिला उद्यमी को सराहा

मोदी ने तीन हजार महिलाओं को स्वयं सहायता समूह बनाने के लिए प्रेरित करने वाली महिला उद्यमी को सराहा

Text Size:

गुवाहाटी, 16 दिसंबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को असम की एक महिला उद्यमी की सराहना की, जिन्होंने समाज के आर्थिक उत्थान के लिए एक प्रेरणा के रूप में तीन हजार लोगों को स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) बनाने के लिए प्रेरित किया।

मोदी ने कहा कि गुवाहाटी की रहने वाली कल्याणी राजबोंगशी एक ऐसा उदाहरण हैं कि जब एक महिला आत्मनिर्भर होती है, तो वह कैसे समाज की वृद्धि में योगदान दे सकती है।

मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ कार्यक्रम के दौरान राजबोंगशी से संवाद किया और आर्थिक आत्मनिर्भरता की दिशा में अपने ज्ञान के माध्यम से दूसरों की मदद करने के लिए उनकी सराहना की।

प्रधानमंत्री ने कहा, ”मुझे यह सुनकर बेहद खुशी हुई कि आपके ज्ञान से दूसरों को फायदा हुआ। आप इसका जीता-जागता उदाहरण हैं कि जब एक महिला आत्मनिर्भर होती है, तो समाज काफी लाभान्वित होता।”

राजबोंगशी एक उद्यमी हैं और एक स्वयं सहायता समूह चलाती हैं। वह समूह के जरिए अपने इलाके की महिलाओं की मदद करती हैं और उन्हें घर चलाने में आर्थिक योगदान देती हैं।

अपने उद्यम के वित्तीय विकास का उल्लेख करते हुए राजबोंगशी ने बताया कि उन्होंने सबसे पहले दो हजार रुपये से एक मशरूम इकाई से अपने कारोबार की शुरुआत की और उसके बाद असम सरकार द्वारा दिए गए 15 हजार रुपये से उन्होंने एक खाद्य प्रसंस्करण इकाई खोली।

उन्होंने कहा कि उन्होंने आस-पास के इलाकों की तीन हजार महिलाओं को 300 एसएचजी बनाने में मदद की और इनमें से 200 से अधिक समूहों को बैंकों से मदद मिली, जिसके लिए राज्य सरकार ने उन्हें इस साल की शुरुआत में ‘असम गौरव’ पुरस्कार से सम्मानित किया था।

भाषा जितेंद्र रंजन

रंजन

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments