scorecardresearch
Saturday, 23 September, 2023
होमदेशदिल्ली हाई कोर्ट से मिली अंतरिम राहत के बाद बीमार पत्नी से मिलने पहुंचे मनीष सिसोदिया

दिल्ली हाई कोर्ट से मिली अंतरिम राहत के बाद बीमार पत्नी से मिलने पहुंचे मनीष सिसोदिया

दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को दिल्ली आबकारी नीति में कथित अनियमितताओं से जुड़े धन शोधन मामले में गिरफ्तार सिसोदिया को उनकी बीमार पत्नी से मिलने की अनुमति दे दी थी.

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया शनिवार को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा अपनी बीमार पत्नी से मिलने की अनुमति मिलने के बाद राष्ट्रीय राजधानी में अपने आवास पहुंचे.

दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को दिल्ली आबकारी नीति में कथित अनियमितताओं से जुड़े धन शोधन मामले में गिरफ्तार आम आदमी पार्टी (आप) नेता सिसोदिया को उनकी बीमार पत्नी से मिलने की अनुमति दे दी थी.

न्यायमूर्ति दिनेश कुमार शर्मा ने तिहाड़ जेल अधीक्षक को सिसोदिया को उनके आवास पर ले जाने का निर्देश दिया था, जहां उन्हें सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक अपनी पत्नी से मिलने की अनुमति दी गई है.

जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सिसोदिया को सुरक्षा घेरे में सुबह करीब नौ बजे उनके आवास पर ले जाया गया. उन्हें शाम पांच बजे वापस जेल आना होगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सिसोदिया को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने 26 फरवरी को आबकारी घोटाले में उनकी कथित भूमिका के लिए गिरफ्तार किया था और वह तब से हिरासत में हैं. हाई कोर्ट ने 30 मई को सीबीआई के मामले में उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया था.

सिसोदिया को नौ मार्च को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दर्ज मामले में गिरफ्तार किया गया था और वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं.

हाई कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि पत्नी से मुलाकात के लिए जेल से बाहर आने के दौरान सिसोदिया मीडियाकर्मियों से या अपने परिवार से इतर किसी अन्य व्यक्ति से बात नहीं करेंगे और वह फोन या इंटरनेट का इस्तेमाल भी नहीं करेंगे.


यह भी पढ़ें:PM मोदी ओडिशा के बालासोर में ट्रेन हादसे की जगह का करेंगे दौरा, अस्पताल में पीड़ितों से मिलेंगे


share & View comments