Thursday, 30 June, 2022
होमदेशJ&K पुलिस ने तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया, स्लीपर सेल से जुड़ी अहम जानकारी मिली

J&K पुलिस ने तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया, स्लीपर सेल से जुड़ी अहम जानकारी मिली

इनसे पूछताछ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के पुराने स्लीपर सेल से जुड़ी एक गहरी साजिश का खुलासा भी हुआ है जो पिछले साल पल्हालन हाईवे पर ग्रेनेड हमले के लिए जिम्मेदार था.

Text Size:

नई दिल्ली: सोमवार को जम्मू और कश्मीर पुलिस ने गोशबुग के सरपंच मंजूर अहमद बांगरू की हत्या से जुड़े लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के तीन हाइब्रिड आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया.

15 अप्रैल को बारामूला के पट्टन के पल्हालन के वुसन इलाके में गोशबुग के सरपंच मंजूर अहमद बांगरू पर अज्ञात आतंकवादियों ने गोलीबारी की थी जिसमें उनकी मौत हो गई थी. हमले के तुरंत बाद इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया गया और पट्टन पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई.

सोमवार को जांच में बारामूला पुलिस और सेना की 29 आरआर की जॉइंट टीम ने तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया है.

इनसे पूछताछ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के पुराने स्लीपर सेल से जुड़ी एक गहरी साजिश का खुलासा भी हुआ है जो पिछले साल पल्हालन हाईवे पर ग्रेनेड हमले के लिए जिम्मेदार था.

जम्मू और कश्मीर पुलिस ने कहा, ‘उस मामले में गिरफ्तार आरोपी खासतौर से बांदीपोरा के मुख्य साजिशकर्ता, मोहम्मद अफजल और मेहराजुद्दीन डार ने आतंक और अराजकता फैलाने के लिए मल्टीपल टारगेट की पहचान करने और उन पर हमला करने के लिए पहले से ही कई ब्लाइंड स्लीपर सेल को काम सौंपा था. ये दोनों वेब ऑफ मॉड्यूल में शामिल पाए गए हैं और गिरफ्तार किए जा चुके हैं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पुलिस ने आगे बताया कि इन मॉड्यूल को पीआरआई, नागरिकों समेत सॉफ्ट टारगेट की पहचान करने और उन पर हमला करने का काम सौंपा गया था जिसके लिए पकड़े गए हाइब्रिड आतंकवादियों को पिस्तौल और गोला-बारूद मुहैया कराया गया था.

इस मामले में जिन लोगों को गिरफ्तार किया है उनमें नूर मोहम्मद यातू, मोहम्मद रफीक पारे और आशिक हुसैन पर्रे शामिल हैं.

जम्मू और कश्मीर पुलिस के मुताबिक, तीन आतंकवादियों ने लश्कर के आतंकवादी युसूफ कांट्रू और हिलाल शेख (दोनों मालवाह ऑपरेशन में मारे गए) द्वारा निर्देशित साजिश का खुलासा किया और जो हाल ही में घुसपैठ किए गए आतंकवादियों गुलजार गनाले (बांदीपोरा में एक मुठभेड़ में मारा गया) और वुसन के उमर लोन (अभी भी एक्टिव है) द्वारा निष्पादित किया गया.

आगे की जांच में तीन चाइनीज़ पिस्तौल, तीन पिस्तौल मैग्जीन, दो ग्रिनेड्स और 32 राउंड बरामद किए हैं.

पुलिस ने कहा, ‘बारामूला में तीन आतंकियों की सफल गिरफ्तारी और हथियार और गोला-बारूद की बरामदगी ने एक और सनसनीखेज मामला सुलझा दिया है. भविष्य में सामान्य क्षेत्र में नियोजित प्रमुख आतंकी साजिशों को नाकाम कर दिया. पकड़े गए व्यक्तियों से पूछताछ से भविष्य में आतंकवाद निरोधी अभियानों के लिए और जानकारी मिलने की संभावना है.’


यह भी पढ़ेंः एक और एक्सटेंशन मिला तो सामंत गोयल कुछ दशकों में सबसे लंबे समय तक पद पर रहने वाले रॉ प्रमुख बन जाएंगे


share & View comments