Tuesday, 4 October, 2022
होमदेशकॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत 22 गोल्ड सहित 61 पदकों के साथ चौथे स्थान पर रहा

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत 22 गोल्ड सहित 61 पदकों के साथ चौथे स्थान पर रहा

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के आखिरी दिन सिंधु, लक्ष्य, शरथ और सात्विक-चिराग ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया और भारत ने हॉकी में रजत पदक जीता.

Text Size:

नई दिल्ली: भारत सोमवार को बर्मिंघम में खत्म हुए कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में 22 गोल्ड, 16 सिल्वर और 23 ब्रॉन्ज के साथ कुल 61 पदक लेकर तालिका में चौथे नंबर पर अपनी जगह बनाई.

भारत ने गेम्स के आखिरी दिन 3 गोल्ड अपने नाम किए. दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू और लक्ष्य सेन ने सोमवार को यहां फाइनल में विपरीत अंदाज में जीत दर्ज करते हुए बैडमिंटन प्रतियोगिता का क्रमश: महिला और पुरुष एकल का गोल्ड मेडल जीता जबकि सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी भी पुरुष युगल में गोल्ड मेडल जीतने में सफल रही.

उधर, अचंता शरत कमल ने टेबल टेनिस के पुरुष एकल स्पर्धा में इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड को 4-1 से हराकर गोल्ड मेडल को अपने नाम कर लिया.

भारत ने पुरुष हॉकी में रजत पदक भी जीता. एकतरफा फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से 0-7 से हारने के बाद भारत एक भी गोल नहीं कर पाया.

दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधू ने दुनिया की 13वें नंबर की कनाडा की मिशेल ली को 21-15, 21-13 से हराकर 2014 ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में उनके खिलाफ मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया. सिंधू ने 2014 में कांस्य पदक जीता था जबकि मिशेल गोल्ड जीतने में सफल रहीं थी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

दो युवा खिलाड़ियों के बीच हुए पुरुष एकल फाइनल में दुनिया के 10वें नंबर के खिलाड़ी और विश्व चैंपियनशिप के ब्रॉन्ज मेडल विजेता लक्ष्य सेन ने पहला गेम गंवाने के बाद जोरदार वापसी करते हुए मलेशिया के दुनिया के 42वें नंबर के खिलाड़ी एनजी टीजे योंग को 19-21, 21-9, 21-16 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में पदार्पण करते हुए गोल्ड जीता.

सात्विक और चिराग की दुनिया की सातवें नंबर की जोड़ी ने पुरुष युगल फाइनल में बेन लेन और सीन वेंडी की इंग्लैंड की दुनिया की 19वें नंबर की जोड़ी को 21-15, 21-13 से हराया.

इससे पहले सिंधू ने मिशेल के खिलाफ 11 मैच में नौवीं जीत दर्ज की. सिंधू का राष्ट्रमंडल खेलों में यह तीसरा व्यक्तिगत पदक है. उन्होंने 2018 गोल्ड कोस्ट खेलों में भी रजत पदक जीता था.

भारत ने बर्मिंघम खेलों की बैडमिंटन प्रतियोगिता में तीन स्वर्ण सहित छह पदक जीते. सोमवार को तीन स्वर्ण से पहले मिश्रित टीम के रजत पदक के अलावा किदांबी श्रीकांत ने पुरुष एकल जबकि त्रीशा जॉली और गायत्री गोपचंद की जोड़ी ने महिला युगल में कांस्य पदक जीते.

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन 2010 में किया था जब देश के दिग्गजों ने 38 गोल्ड सहित 101 पदक जीते थे.


यह भी पढ़ें: ‘धर्म गुरुओं’ के लिए तिरंगा—भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा चाहता है कि स्वतंत्रता दिवस पर मंदिरों-मस्जिदों में ध्वज फहराया जाए


राष्ट्रपति मुर्मू और पीएम मोदी ने दी बधाई

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रमंडल खेलों के आखिरी दिन सोमवार को पदक जीतने वाले भारतीय खिलाड़ियों के प्रयासों की सराहना करते हुए बधाई दी.

राष्ट्रपति मुर्मू ने सिंधु की जीत के बाद ट्वीट किया, ‘सिंधू ने राष्ट्रमंडल खेलों में बैडमिंटन में ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतकर देश का दिल जीत लिया. आपने कोर्ट पर अपने जादुई खेल से लाखों लोगों को मंत्रमुग्ध किया। आप की शानदार जीत से हमारा तिरंगा ऊंचा लहराया और बर्मिंघम में हमारा राष्ट्रगान गूंज रहा है.’

उन्होंने लक्ष्य सेन के लिए लिखा, ‘युवा और ऊर्जावान लक्ष्य सेन ने भारत को गौरवान्वित किया. राष्ट्रमंडल खेलों में बैडमिंटन में स्वर्ण जीतने पर बधाई. जिस तरह से आपने शानदार प्रदर्शन से मुकाबले में वापसी की वह नए साहसिक भारत का प्रतीक है, जो जीतने के लिए दृढ़ संकल्प है। बर्मिंघम में आप हमारे तिरंगे को फिर से ऊंचा किया.’

उन्होंने चिराग और सात्विक को बधाई देते हुए लिखा, ‘हमारे बैडमिंटन दल इतिहास रच दिया. राष्ट्रमंडल खेलों में बैडमिंटन युगल में स्वर्ण जीतने के लिए सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी को बधाई. आपकी जीत हमारे युवाओं को प्रेरणा देगी. आपकी जीत के कारण बर्मिंघम में हमारा राष्ट्रगान बजने पर भारतीयों को गर्व महसूस हो रहा है.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू और दिग्गज टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल सहित राष्ट्रमंडल खेलों के अंतिम दिन पदक जीतने वाले भारतीय खिलाड़ियों को बधाई दी.

मोदी ने ट्वीट किया, ‘बेजोड़ पीवी सिंधू चैंपियन ऑफ चैंपियंस हैं. वह बार-बार दिखाती हैं कि वह कितनी उत्कृष्ट खिलाड़ी हैं. उनका समर्पण और प्रतिबद्धता प्रेरणादायी है. राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने पर उन्हें बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं.’

स्वर्ण पदक जीतने के लिए शरत कमल को बधाई देते हुए मोदी ने ट्वीट किया, ‘शरत कमल का स्वर्ण पदक इतिहास में विशेष पदक के रूप में दर्ज होगा. उन्होंने धैर्य, प्रतिबद्धता और लचीलेपन की ताकत दिखाई. उन्होंने शानदार कौशल का नजारा पेश किया. इससे भारतीय टेबल टेनिस को काफी बढ़ावा मिलेगा. उन्हें बधाई और शुभकामनाएं.’

टेबल टेनिस पुरुष एकल में कांस्य पदक जीतने के लिए जी साथियान को बधाई देते हुए मोदी ने कहा, ‘साथियान ने पूरे राष्ट्रमंडल खेलों में शानदार प्रदर्शन किया. टेबल टेनिस में कांस्य पदक जीतने के लिए मैं उन्हें बधाई देता हूं. उनकी दृढ़ता और प्रतिबद्धता सराहनीय है. मुझे यकीन है कि वह आगामी टूर्नामेंट में भी शानदार प्रदर्शन करेंगे.’

साथियान ने कांस्य पदक के मुकाबले में इंग्लैंड के पॉल ड्रिकहॉल को 11-9, 11-3, 11-5, 8-11, 9-11, 10-12, 11-9 से हराया.

भाषा के इनपुट से 


यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री का 467 करोड़ रुपये वाला नया आवास परिसर सुरंग के जरिये PMO और संसद से जुड़ा होगा


share & View comments