gurugram incident
गुरुग्राम में मुस्लिम परिवार के साथ हिंसा के बाद सन्नाटा पसरा है/ज्योति यादव
Text Size:
  • 102
    Shares

नई दिल्ली: गुरुग्राम हिंसा मामले में आलोचनाओं का सामना कर रही पुलिस ने सोमवार को दो और लोगों को गिरफ्तार कर लिया. इसके साथ गिरफ्तार लोगों की संख्या तीन हो गई. पुलिस ने कहा कि धीरेंद्र उर्फ धीरे तथा अमित को सोमवार तड़के लगभग दो बजे गिरफ्तार किया गया. ये दोनों लोग भूप सिंह नगर में होली के दिन अल्पसंख्यक समुदाय के चार युवकों पर हमला करने वाले 35-40 लोगों में शामिल थे.

गुरुग्राम पुलिस ने शुक्रवार को मुख्य आरोपी महेश को गिरफ्तार किया था.

गुरुग्राम पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) सुभाष बोकन ने कहा, “दोनों आरोपी भूप सिंह नगर के सटे नयागांव नामक गांव के निवासी हैं. वे घटना के बाद से फरार थे.


यह भी पढ़ें: ग्राउंड रिपोर्ट: गुरुग्राम में सांप्रदायिकता का इस्तेमाल ‘गुंडई’ करने वाले लड़कों को बचाने के लिए हो रहा है


उन्होंने कहा, ’21 मार्च की शाम लगभग पांच बजे क्रिकेट के खेल से शुरू हुए विवाद ने तब हिंसक रूप ले लिया जब हमलावर पीड़ितों में से एक का पीछा कर उसके घर में घुस गए.’

घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. यह वीडियो पीड़ित के परिवार के एक सदस्य ने इमारत की तीसरी मंजिल से बनाया था.

बोकन ने कहा, ‘क्रिकेट के दौरान दोनों पक्षों में हुआ विवाद जब बढ़ा तो धीरे और अन्य लोग लाठी, हॉकी की छड़ें लेकर आ गए.’ उन्होंने कहा, ‘वे मोहम्मद दिलशाद उर्फ शमशाद के घर में घुस गए और उन्हें पीट दिया.’

बोकन ने कहा, ‘चार युवकों को बेरहमी से पीटा गया. उन्हें तबतक पीटा गया जबतक एक पीड़ित मोहम्मद शाहिद बेहोश नहीं हो गया.’ उन्होंने कहा, ‘यह भी खुलासा हुआ है कि हमलावर घरों से जाते समय आभूषण और अन्य कीमती सामान भी अपने साथ ले गए.’

गुरुगाम पुलिस मामले में अब तक लगभग 30 युवकों से पूछताछ कर चुकी है.


  • 102
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here