scorecardresearch
Friday, 19 July, 2024
होमदेशअर्थजगतLIC IPO के लिए कीमत का दायरा 902-949 रुपए प्रति शेयर तय किया, 4 मई से शुरू होगा ऑफर

LIC IPO के लिए कीमत का दायरा 902-949 रुपए प्रति शेयर तय किया, 4 मई से शुरू होगा ऑफर

यह आईपीओ बिक्री पेशकश (ओएफएस) के रूप में है और इसके जरिए सरकार 22.13 करोड़ शेयर बेचकर एलआईसी में अपनी 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने जा रही है.

Text Size:

नई दिल्ली: बुधवार को लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (एलआईसी) ने इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) के लिए अपना प्राइस बैंड 902-949 रुपये प्रति शेयर तय की है. आईपीओ के तहत एंकर निवेशक दो मई को बोली लगाएंगे. आईपीओ 4 मई से शुरू होगी और 9 मई तक बोली लगाने वालों के लिए खुली रहेगी.

शेयर आईपीओ बंद होने के एक हफ्ते बाद 17 मई को शेयर बाजारों में सूचीबद्ध हो सकते हैं.

सेबी के पास दाखिल अंतिम कागजात के मुताबिक बोली लगाने वालों के डीमैट खाते में शेयरों का आवंटन 16 मई तक होगा, जिसके बाद एलआईसी शेयर बाजारों में इक्विटी शेयरों का कारोबार शुरू करेगी और शेयर ‘17 मई को या उसके आसपास’ सूचीबद्ध किए जाएंगे.

इस मौके पर निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने कहा कि एलआईसी को सूचीबद्ध करना सरकार की दीर्घकालिक रणनीति का हिस्सा है और इससे लंबी अवधि में निगम के मूल्य में ज्यादा बढ़ोतरी होगी.

पांडेय ने कहा, ‘पूंजी बाजार के माहौल को देखते हुए एलआईसी आईपीओ का आकार सही है और इससे बाजार में पूंजी और मौद्रिक आपूर्ति में कमी नहीं होगी.’

उन्होंने कहा कि करीब 20,557 करोड़ रुपए के घटे आकार के बावजूद एलआईसी का आईपीओ देश में अब तक का सबसे बड़ा आरंभिक सार्वजनिक निर्गम होगा.

सरकार ने फरवरी में एलआईसी की पांच फीसदी हिस्सेदारी बेचने की योजना बनाई थी.

उन्होंने कहा, ‘एलआईसी को सूचीबद्ध करने के निर्णय में बाजार की मांग, बाजार की स्थितियों, घरेलू प्रवाह और निगम के वित्तीय प्रदर्शन सहित कई कारकों को ध्यान में रखा गया है.’

पांडेय ने कहा कि इससे पहले हुई वैश्विक भू-राजनीतिक घटनाओं के अस्थायी झटके से बाजार उबर गया है.

सरकार को बोली के ऊपरी छोर पर करीब 21,000 करोड़ रुपये मिलेंगे.

यह आईपीओ बिक्री पेशकश (ओएफएस) के रूप में है और इसके जरिए सरकार 22.13 करोड़ शेयर बेचकर एलआईसी में अपनी 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने जा रही है.

खुदरा निवेशकों और पात्र कर्मचारियों को प्रति इक्विटी शेयर 45 रुपये की छूट मिलेगी, जबकि एलआईसी के पॉलिसीधारक 60 रुपये प्रति इक्विटी शेयर की छूट पा सकेंगे. निर्गम के तहत 15 के गुणक में शेयरों की बोली लगाई जा सकेगी.

आईपीओ के तहत 15,81,249 शेयर कर्मचारियों के लिए और 2,21,37,492 शेयर पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित हैं। योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए 9.88 करोड़ से अधिक शेयर और गैर-संस्थागत खरीदारों के लिए 2.96 करोड़ से अधिक शेयर आरक्षित हैं.

भाषा के इनपुट से 


यह भी पढ़ें : मुफ्त की बिजली, मुफ्त का पानी देश की अर्थव्यवस्था पर बहुत महंगी पड़ेगी


share & View comments