scorecardresearch
Friday, 21 June, 2024
होमदेशअयोध्या में दर्शन के बाद उत्तराखंड के CM बोले — हम गौरवान्वित हो रहे हैं कि फिर राम युग आ रहा है

अयोध्या में दर्शन के बाद उत्तराखंड के CM बोले — हम गौरवान्वित हो रहे हैं कि फिर राम युग आ रहा है

उत्तराखंड के सीएम के साथ उनकी कैबिनेट के पांच सहयोगियों ने भी अयोध्या में रामलला के दर्शन किए और मंगलवार देर शाम सभी देहरादून लौट गए.

Text Size:

नई दिल्ली: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन-पूजन किए और कहा कि आज हम गौरवान्वित हो रहे हैं कि फिर से राम युग शुरू हो रहा है.

पुष्कर सिंह धामी मंत्रिमंडल के पांच सहयोगी — वरिष्ठ मंत्री सतपाल महाराज, रेखा आर्य, धन सिंह रावत, प्रेमचंद अग्रवाल और सुबोध उनियाल, के साथ यहां पहुंचे. इनके अलावा राज्यसभा सदस्य नरेश बंसल भी मौजूद थे.

भारतीय जनता पार्टी उप्र इकाई के मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित ने बताया कि अयोध्या में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी बेहद उत्साहित और भक्ति भाव में डूबे हुए नज़र आए.

दीक्षित ने बताया कि अयोध्या में महर्षि वाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा में पहुंचने पर मुख्यमंत्री धामी और उनके सहयोगियों का भव्य स्वागत हुआ. इस दौरान पूरा परिसर जय श्रीराम के नारों से गूंज उठा. यहां से वे सभी राम जन्मभूमि के लिए रवाना हुए.

दीक्षित ने कहा, मुख्यमंत्री एवं उनके सहयोगी श्री अयोध्या धाम में प्रभु राम को साष्टांग नमन कर पूजा अर्चना की. राम लला के लिए मुख्यमंत्री उपहार लेकर आए जिनको प्रभु के चरणों में समर्पित किया. प्रभु श्री राम लला के दर्शन के समय श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय जी, ट्रस्ट के सदस्य दिनेंद्र दास जी, विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के केंद्रीय मंत्री राजेंद्र पंकज साथ रहे.

धामी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘श्रीराम का उत्तराखंड से अटूट संबंध है. सरयू नदी का उद्गम स्थल जिसके तट पर श्रीराम के पिता एवं महाराज दशरथ ने संतान प्राप्ति के लिए अनुष्ठान किया था, वे बागेश्वर जिले में है. हमारा गहरा संबंध है और उत्तराखंड के लोग हमेशा यहां आएंगे.’’

पुरानी स्मृतियों को ताज़ा करते हुए धामी ने कहा, ‘‘लखनऊ यूनिवर्सिटी में छात्र रहते हुए बहुत बार अयोध्या आया और तब भगवान रामलला को टेंट में देखकर उस समय मन भावुक हो जाता था, लेकिन आज हम गौरवान्वित हो रहे हैं कि फिर से राम युग शुरू हो रहा है.’’

मुख्यमंत्री ने बताया कि राम की नगरी अयोध्या में उत्तराखंड वासियों के लिए हमारी सरकार राज्य अतिथि गृह बनाने की तैयारी कर चुकी है.

4700 वर्ग मीटर में बनने वाले इस राज्य अतिथि गृह को बनाने के लिए राज्य सरकार ने ज़मीन की खरीद को लेकर 32 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से भगवान राम के दर्शन करने के लिए अयोध्या पहुंचने वाले राम भक्तों को इस राज्य अतिथि गृह में सुविधा मुहैया करवाई जाएगी.

लोकसभा चुनाव में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के प्रभाव के बारे में पूछ जाने पर सीधा जवाब न देते हुए धामी ने कहा, ‘‘राम यत्र, तत्र और सर्वत्र हैं.’’

एक आधिकारिक जानकारी में कहा गया है कि उत्तराखंड के जॉली ग्रांट हवाई अड्डे से सीधे अयोध्या पहुंचे धामी और उनके सहयोगी भगवान राम की पूजा-अर्चना करने के बाद देर शाम देहरादून लौट गए.


यह भी पढ़ें: 500 साल तक अयोध्या रही ‘श्रीहीन’, अब लौटी है रौनक


 

share & View comments