scorecardresearch
Thursday, 30 May, 2024
होमशासनचीन को घेरने की कोशिश नहीं: अमेरिका

चीन को घेरने की कोशिश नहीं: अमेरिका

Text Size:

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने कहा कि अमेरिका चीन के साथ शीत युद्घ नहीं कर रहा पर वो चाहता है कि चीन दोनों देशों में सुरक्षा और समृद्धि के समर्थन में ज़िम्मेदारी और निष्पक्षता के साथ काम करे. 

वाशिंगटन: अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने शुक्रवार को यहां कहा कि अमेरिका, चीन को घेरने का प्रयास नहीं कर रहा, लेकिन वह बीजिंग को मानवाधिकार के प्रति सम्मान और सैन्य विस्तार से संबंधित मामलों में उसके दृष्टिकोण को ठीक करने के लिए समझा रहा है. विदेश विभाग में एक संवाददाता सम्मेलन में पोंपियो ने कहा, “अमेरिका चीन के साथ कोई शीत युद्ध या नियंत्रण नीति का पालन नहीं कर रहा है. इसके बजाय हम सुनिश्चित करना चाहते हैं कि चीन दोनों देशों में सुरक्षा और समृद्धि के समर्थन में ज़िम्मेदारी और निष्पक्षता के साथ काम करे.”

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, उनके साथ रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चीन के विदेश मामलों के कार्यालय निदेशक यांग जिची और चीन के रक्षा मंत्री वी फेंग्हे मौजूद थे. दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच सुरक्षा और कूटनीति को लेकर दूसरे चरण की वार्ता हुई, जिसके बाद यह संवाददाता सम्मेलन हुआ.

इस संबंध में यांग ने विश्वास जताया कि उनके मतभेंदों को संवाद के माध्यम से ही हल किया जा सकता है.

यांग ने कहा, “इन मुद्दों को संवाद और परामर्श के माध्यम से सुलझाया जा सकता है. किसी समाधान पर पहुंचने के बजाए व्यापार युद्ध से केवल दोनों पक्षों और वैश्विक अर्थव्यवस्था को ही नुकसान होगा.”

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

जी-20 में शी-ट्रंप की मुलाकात

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उनके चीनी समकक्ष शी जिनपिंग से जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान अर्जेंटीना में नवंबर अंत में होने वाली मुलाकात काफी महत्वपूर्ण है.

चीन के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चीन (सीपीसी) के पोलित ब्यूरो सदस्य ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि दोनों राष्ट्रों को संवाद मज़बूत करना चाहिए और सकारात्मक परिणाम सुनिश्चित करने के लिए समन्वय करना चाहिए.

share & View comments