scorecardresearch
Wednesday, 24 April, 2024
होमचुनावMP की इंदौर-1 सीट पर BJP के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय 28,000 वोटों से आगे

MP की इंदौर-1 सीट पर BJP के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय 28,000 वोटों से आगे

विजयवर्गीय ने चुनाव लड़ने के लिए नामांकित किये जाने पर आश्चर्य जताया था. इस बीच, उनके प्रतिद्वंद्वी, कांग्रेस के संजय शुक्ला ने बार-बार उन्हें 'बाहरी' कहा.

Text Size:

भोपाल : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय इंदौर-1 विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के अरबपति उम्मीदवार संजय शुक्ला से 28,000 वोटों से आगे चल रहे हैं.

विजयवर्गीय ने चुनाव लड़ने के लिए नामांकित किए जाने पर आश्चर्य और अनिच्छा जाहिर की थी.

इस निर्वाचन क्षेत्र में 3.63 लाख पंजीकृत मतदाता हैं और 34,000 पहली बार मतदाता बने हैं. इसमें प्रवासी आबादी भी 1 प्रतिशत से अधिक शामिल है.

इस चुनाव में भाजपा के बड़े दिग्गजों में से एक, विजयवर्गीय ने चुनाव से पहले मतदाताओं से कहा था कि वह सिर्फ एक विधायक बनने का लक्ष्य नहीं रख रहे हैं और वह पार्टी में एक बड़ी भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं.

यह जीत ऐसे समय में आई है जब भाजपा, मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में शिवराज सिंह चौहान से आगे किसी और को देख रही है, उसने विजयवर्गीय के अलावा सात मौजूदा सांसदों – जिनमें तीन केंद्रीय मंत्री भी शामिल हैं – को मैदान में उतारा है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

‘बाहरी’

चुनाव प्रचार के दौरान, कांग्रेस के संजय शुक्ला ने बार-बार विजयवर्गीय की राष्ट्रीय नेता की छवि का इस्तेमाल करते हुए उन्हें बाहरी और ‘ऐसा नेता, जो नहीं जीतेगा’ कहा था.

गौरतलब है कि भाजपा के राष्ट्रीय सचिव, नजदीकी इंदौर-2 में पंजीकृत मतदाता हैं.

इसके विपरीत, शुक्ला ने खुद को निर्वाचन क्षेत्र का “बेटा” बताया, दिन की शुरुआत में पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि कांग्रेस राज्य की 230 विधानसभा सीटों में से 140 सीटें हासिल करेगी.

शुक्ला, जो कि मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ से मुलाकात करेंगे, ने भोपाल में संवाददाताओं से कहा, “हमने भाजपा को सत्ता में 18 साल दिए, लेकिन 2018 में कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद, भाजपा ने विधायकों को खरीद लिया और तब से वसूली के अलावा कोई काम नहीं किया है.”

अपनी ओर से, विजयवर्गीय, जिन्होंने यह दिखाने के लिए विधानसभा क्षेत्र में एक घर खरीदा है कि अब वह यहां के निवासी हैं, ने पहले अपने प्रतिद्वंद्वी को “राजनीतिक रूप से अपरिपक्व” कहा था. इस अनुमान को दरकिनार करते हुए कि यह एक कड़ा मुकाबला होगा, उन्होंने दिप्रिंट को बताया कि इंदौर के लोग हमेशा उनके लिए खड़े रहे हैं.

विजयवर्गीय ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा, “भाजपा न सिर्फ मध्य प्रदेश बल्कि राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी सरकार बनाएगी.”

(अनुवाद और संपादन : इन्द्रजीत)

(इस ख़बर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें : MP के ‘मामा’ शिवराज सिंह चौहान ने कैसे भितरखाने घिरे होने पर भी BJP के लिए बदल दिए हालात


 

share & View comments