Monday, 6 December, 2021
होमएजुकेशनदिल्ली में 19 महीने बाद 50 फीसदी की क्षमता के साथ आठवीं के छात्रों के लिए स्कूल खुले

दिल्ली में 19 महीने बाद 50 फीसदी की क्षमता के साथ आठवीं के छात्रों के लिए स्कूल खुले

कोविड-19 के मामले कम होने के मद्देनजर सितंबर में नौवीं से 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले गये थे. हालांकि, मार्च 2020 के बाद से पहली बार आठवीं तक के छात्रों के लिए कक्षाएं स्कूल परिसर में हो रही हैं.

Text Size:

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में करीब 19 महीने बाद सोमवार को आठवीं तक के छात्रों के लिए कई स्कूल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुल गए. कोविड-19 के कारण मार्च 2020 से स्कूलों में कक्षाएं बंद कर दी गई थीं. नौंवी से 12वीं तक के छात्रों के लिए स्कूल सितंबर में खुल गए थे.

कई निजी स्कूल हालांकि दिवाली के बाद स्कूल परिसर में कक्षाएं शुरू करेंगे.

स्कूलों के सोमवार को खुलने पर छात्र मास्क पहने नजर आए. स्कूल में प्रवेश तथा निकास के समय उचित दूरी बनाए रखने के लिए स्वयंसेवक तैनात किए गए हैं और छात्रों की ‘थर्मल’ जांच की जा रही है .

इस बीच, दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पूर्वी दिल्ली के विनोद नगर में राजकीय सर्वोदय विद्यालय पहुंचे और छात्रों के साथ बातचीत की.

सिसोदिया ने कहा बहुत खुश हूं कि नर्सरी से लेकर आठवीं तक के स्कूल आज से खुल गए हैं. हमलोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि एक नवंबर से स्कूल परिसर में कक्षाएं खुलेंगी, कक्षाएं ऑनलाइन तथा, ऑफलाइन यानी परिसर में, दोनों प्रकार से चलेंगी. डीडीएमए ने यह भी कहा था कि स्कूलों को यह सुनिश्चित करना होगा कि एक समय में एक कक्षा में 50 प्रतिशत से अधिक छात्र न हों और किसी भी छात्र को परिसर में आने के लिए मजबूर न किया जाए.

कोविड-19 के मामले कम होने के मद्देनजर सितंबर में नौवीं से 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले गये थे. हालांकि, मार्च 2020 के बाद से पहली बार आठवीं तक के छात्रों के लिए कक्षाएं स्कूल परिसर में हो रही हैं.


यह बी पढ़ें: लॉकडाउन के बाद स्कूल लौटे बच्चों के लिए एडजस्ट करना हो रहा मुश्किल, किशोर भी घुलमिल नहीं रहे


 

share & View comments