Tuesday, 5 July, 2022
होमसमाज-संस्कृतिकुंभ में पहले स्नान का आगाज, पंडालों और मेले का नजारा

कुंभ में पहले स्नान का आगाज, पंडालों और मेले का नजारा

कुंभ मेले का आगाज होने के साथ हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती नदी का मिलन स्थल माने जाने वाले पवित्र संगम में डुबकी लगाई.

Text Size:

प्रयागराजः मकर संक्रांति के मौके पर कुंभ मेले का आगाज होने के साथ हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती नदी के मिलन स्थल माने जाने वाले पवित्र संगम में डुबकी लगाई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के आध्यात्मिक, सांस्कृतिक और सामाजिक विविधताओं का गवाह बनने के लिए भक्तों से आग्रह किया कि वे इस वर्ष भारी संख्या में इसका हिस्सा बनें. आइए आपको कुछ तस्वीरों के जरिये कुंभ का माहौल दिखाते हैं-

एक पंडाल में साधुओं की मंडली जिसमें एक नागा साधु अपने शरीर में राख लगा कर बैठा हुआ.

मकरसंक्रांति के पहले स्नान का आगाज, भजन-कीर्तन के साथ स्नान करने जाते हुए साधु.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

मेला क्षेत्र में वीआईपी तंबुओं की व्यवस्था है, जिसमें पांच सितारा सुविधाएं उपलब्ध हैं.

एक पंडाल में साधु भजन-कीर्तन जमाये हुए. शाही स्नान की तैयारी में.

एक नागा साधु अपने पारंपरिक भेष में त्रिशूल और मालाओं से सजा-धजा.

मेले में एक भव्य पंडाल तैयार करते श्रमिक, होगा कई दिनों तक कथा का आयोजन.

कुंभ 2019 प्रयागराज का प्रवेश द्वार और आने-जाने के लिए लोहे के पत्तर की अस्थाई सड़क.

share & View comments