scorecardresearch
Friday, 14 June, 2024
होमविदेशजो बाइडन ने ओडिशा रेल हादसे पर जताया दुख, कहा- भारत के दुख से दुखी है अमेरिका

जो बाइडन ने ओडिशा रेल हादसे पर जताया दुख, कहा- भारत के दुख से दुखी है अमेरिका

ओडिशा के बालासोर में शुक्रवार को हुए रेल हादसे में 288 यात्रियों की मौत हो गई और 1,100 से अधिक यात्री घायल हो गए.

Text Size:

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने रविवार को भयानक ओडिशा ट्रेन दुर्घटना के पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की, जिसमें 288 यात्रियों की जान चली गई और 1,000 से अधिक घायल हो गए.

अमेरिका की प्रथम महिला और बाइडन की पत्नी जिल बाइडन ने कहा कि बालासोर जिले में घातक ट्रेन दुर्घटना की दुखद खबर से वे दोनों हतप्रभ हैं. व्हाइट हाउस के एक आधिकारिक बयान के अनुसार, बाइडन ने एक बयान में कहा, ‘‘मैं और जिल (बाइडन) भारत में हुए भीषण रेल हादसे के त्रासदीपूर्ण समाचार से दुखी हैं. हमारी संवेदनाएं इस भयानक घटना में घायल हुए और अपने प्रियजन को खो चुके लोगों के साथ हैं.’’

ओडिशा के बालासोर में शुक्रवार को हुए रेल हादसे में 288 यात्रियों की मौत हो गई और 1,100 से अधिक यात्री घायल हो गए. बालासोर जिले में 12841 शालीमार-चेन्नई सेंट्रल कोरोमंडल एक्सप्रेस और 12864 बेंगलुरु-हावड़ा एक्सप्रेस ट्रेन के पटरी से उतरने और एक मालगाड़ी से टकराने से यह हादसा हुआ.

आगे उन्होंने कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत परिवार और संस्कृति के संबंधों में निहित गहरे बंधन साझा करते हैं जो हमारे दो राष्ट्रों को एकजुट करते हैं – और पूरे अमेरिका के लोग भारत के इस दुख से दुखी हैं. ”

विनाशकारी ट्रेन दुर्घटना में आधिकारिक मौत अब तक 288 आंकी गई थी, जिसमें 1,000 और घायल हुए थे.
कुल 1,175 घायलों को विभिन्न सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया और 793 को अब तक इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

त्रासदी पर प्रारंभिक रिपोर्ट में कहा गया है कि बालासोर जिले के बहानागा बाजार स्टेशन पर तीन अलग-अलग पटरियों पर बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस, कोरोमंडल एक्सप्रेस और एक मालगाड़ी में तीन-तरफ़ा दुर्घटना हुई.
इसमें कहा गया है कि शुक्रवार शाम हुए हादसे में इन दोनों ट्रेनों के 17 डिब्बे पटरी से उतर गए और गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गए.


यह भी पढ़ेंः ब्राह्मण वर्चस्व और द्रविड़ आंदोलन के बाद अब तमिलनाडु को चाहिए कि सारी कड़वाहट भुला दे


 

share & View comments