scorecardresearch
Friday, 19 July, 2024
होमराजनीति'प्रियंका गांधी चुप क्यों हैं', दौसा रेप कांड पर बीजेपी नेता तरुण चुघ ने कांग्रेस पर उठाया सवाल

‘प्रियंका गांधी चुप क्यों हैं’, दौसा रेप कांड पर बीजेपी नेता तरुण चुघ ने कांग्रेस पर उठाया सवाल

राजस्थान के दौसा जिले में शुक्रवार को एक पुलिस उप-निरीक्षक पर एक नाबालिग लड़की के साथ कथित तौर पर बलात्कार का आरोप लगाया गया है.

Text Size:

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तरूण चुघ ने राजस्थान के दौसा बलात्कार की घटना पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की चुप्पी को लेकर उनकी आलोचना की और चुनावी राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाया.

राजस्थान के दौसा जिले में शुक्रवार को एक पुलिस उप-निरीक्षक पर एक नाबालिग लड़की के साथ कथित तौर पर बलात्कार का आरोप लगाया गया है. एएसपी दौसा बजरंग सिंह के मुताबिक, आरोपी की पहचान भूपेन्द्र के रूप में हुई है.

तरूण चुघ ने कहा, “यह दुखद और अपमानजनक है. यह वहां कानून और व्यवस्था के काम करने के तरीके का सबसे बड़ा उदाहरण है. ‘मैं लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ कहने वाली (कांग्रेस महासचिव) प्रियंका गांधी इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं?”

दौसा में एक नाबालिग लड़की से कथित तौर पर बलात्कार के आरोप में एक पुलिस अधिकारी की गिरफ्तारी पर संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने कहा कि मामले में राजस्थान सरकार को नोटिस जारी किया जा रहा है.

शनिवार को चुनावी राज्य में यौन अपराधों की एक श्रृंखला सामने आने के बाद एएनआई से बात करते हुए, एनसीपीसीआर अध्यक्ष ने कहा, “हमने घटना का उचित संज्ञान लिया है और मामले में राजस्थान सरकार को नोटिस जारी करने की प्रक्रिया में हैं. घटना के बारे में जो प्रारंभिक जानकारी प्राप्त हुई है उसके अनुसार कार्रवाई कर रहे हैं. इस घटना के आलोक में पीड़िता और उसके परिजनों की सुरक्षा सुनिश्चित करना भी महत्वपूर्ण है. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि लड़की और उसके परिवार को इस घटना के बाद से निपटने के लिए उचित परामर्श प्रदान किया गया है.”

लालसोट क्षेत्र में पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन के बीच, भाजपा नेता किरोड़ी लाल मीणा मौके पर पहुंचे, जबकि सैकड़ों स्थानीय लोगों ने अशोक गहलोत सरकार और राज्य पुलिस के खिलाफ नारे लगाए.

मीणा ने अपने एक्स हैंडल पर पोस्ट किया, “लालसोट में एक पुलिसकर्मी द्वारा 7 वर्षीय दलित लड़की के साथ बलात्कार को लेकर लोगों में गुस्सा है. मैं पीड़िता और उसके परिवार को न्याय दिलाने में मदद करने के लिए मौके पर पहुंचा हूं. राज्य पुलिस निरंकुश हो गई है और गहलोत सरकार चुनाव से पहले ऐसे अपराध करने से भी बाज नहीं आ रही है.”


यह भी पढ़ें: ‘कांग्रेस हीरो नहीं ज़ीरो है’, राजनाथ बोले- BJP सत्ता में आई तो छत्तीसगढ़ में धर्म परिवर्तन पर रोक लगाएगी


 

share & View comments