scorecardresearch
Thursday, 11 July, 2024
होमराजनीति4 राज्यों में मतगणना जारी, खरगे ने लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा के लिए 6 दिसंबर को INDIA ब्लॉक की बैठक बुलाई

4 राज्यों में मतगणना जारी, खरगे ने लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा के लिए 6 दिसंबर को INDIA ब्लॉक की बैठक बुलाई

ऐसा पता चला है कि पार्टी अन्य गठबंधन सहयोगियों के साथ सीट-बंटवारे की बातचीत शुरू करने से पहले विधानसभा चुनावों के नतीजों का इंतजार कर रही थी.

Text Size:

नई दिल्ली: जब चार राज्यों में वोटों की गिनती चल रही है, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने 6 दिसंबर को एक बैठक बुलाने के लिए INDIA गठबंधन के नेताओं को फोन किया है. और सुझाव दिया गया है कि बैठक शाम 6 बजे नई दिल्ली में खरगे के आवास पर आयोजित की जाए.

विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) के घटक दलों के नेता अगले लोकसभा की चुनाव की रणनीति तय करने के लिए आगामी छह दिसंबर को बैठक करेंगे.

सूत्रों का कहना है कि बैठक के दौरान ‘इंडिया’ के घटक दलों के नेताओं द्वारा लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से मुकाबला करने की रणनीति पर चर्चा करने और उसे अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है.

शुरुआती रुझानों के मुताबिक, कांग्रेस मध्य प्रदेश और राजस्थान हारती दिख रही है, जबकि छत्तीसगढ़ में कांटे की टक्कर है. कांग्रेस के लिए एकमात्र उम्मीद की किरण तेलंगाना से आती दिखाई दे रही है, जहां चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक, सुबह 10.45 बजे पार्टी भारतीय राष्ट्र समिति (बीआरएस) के खिलाफ निर्णायक रूप से आगे चल रही थी.

इंडिया गठबंधन की आखिरी बैठक सितंबर में हुई थी. कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक, पार्टी अन्य गठबंधन सहयोगियों के साथ सीट बंटवारे पर बातचीत शुरू करने से पहले चार विधानसभा चुनावों के नतीजों का इंतजार कर रही थी.

विपक्षी दलों की यह बैठक पांच राज्यों-मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों के बाद हो रही है.

अगले लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का मुकाबला करने के लिए 26 विपक्षी दलों ने ‘इंडिया’ गठबंधन बनाया है.

‘इंडिया’ गठबंधन की अब तक तीन बैठकें पटना, बेंगलुरु और मुंबई में हो चुकी हैं. गठबंधन के घटक दलों के नेताओं की पिछले दिनों मुंबई में हुई बैठक में गठबंधन के भविष्य के कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार करने के लिए 14 सदस्यीय समन्वय समिति का गठन किया गया था.

समन्वय समिति विपक्षी गठबंधन की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था के रूप में कार्य करेगी.


यह भी पढ़ें: मोदी की साख अब दांव पर है, उन्हें सीमा पर चीन के दबदबे को लेकर निष्क्रियता छोड़नी चाहिए


 

share & View comments