scorecardresearch
Friday, 1 March, 2024
होमराजनीतिजब राजाओं ने मुगलों के सामने घुटने टेक दिए थे तब सिख गुरुओं ने राष्ट्र की रक्षा की थी: CM योगी

जब राजाओं ने मुगलों के सामने घुटने टेक दिए थे तब सिख गुरुओं ने राष्ट्र की रक्षा की थी: CM योगी

मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेशवासियों को प्रकाश पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रकाश पर्व हम सबके जीवन में गुरु कृपा से ज्ञान का प्रकाश देता है.

Text Size:

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मुगलों और सिखों के बीच हुए संघर्ष की याद दिलाते हुए सोमवार को कहा कि आज सिख पूरी दुनिया में छाये हुए हैं, मगर मुगलों की सत्ता का कहीं अता-पता नहीं है.

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सोमवार को राजधानी लखनऊ के आशियाना स्थित गुरुद्वारे में श्री गुरु नानक देव जी महाराज के 554 वें प्रकाश पर्व पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया. इस उन्होंने कहा, ‘‘सिख गुरुओं का बलिदान केवल खालसा पंथ के लिए न होकर हिन्दुस्तान और धर्म को बचाने के लिए था.”

सीएम योगी ने आगे कहा कि ऐसे युग में जब शक्तिशाली राजाओं और महाराजाओं ने मुगल प्रभुत्व के सामने समर्पण कर दिया था तब सिख गुरुओं ने स्वतंत्र रूप से अपने दम पर राष्ट्र और उसके विश्वास की रक्षा की थी. जिस देश और परंपरा में इस प्रकार का जुझारूपन हो उसे दुनिया की कोई ताकत झुका नहीं सकती.”

मुख्यमंत्री ने कहा, ”खालसा पंथ की स्थापना मुगल सल्तनत के पतन का कारण बनी. आज सिख पूरी दुनिया में छाये हैं, मगर मुगलों की सत्ता का कहीं अता-पता नहीं है. ये सत्य और धर्म का रास्ता है.”

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को प्रकाश पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रकाश पर्व हम सबके जीवन में गुरु कृपा से ज्ञान का प्रकाश देता है.

उन्होंने कहा कि सिख गुरुओं का त्याग, बलिदान, भक्ति, शक्ति, साधना देश और धर्म के लिए अनुकरणीय है और भारत ही नहीं पूरी दुनिया में गुरु नानक जी का प्रकाश फैला है.

उन्होंने कहा कि एक पक्ष भक्ति के माध्यम से साधना का है, तो वहीं दूसरा पक्ष भक्ति के माध्यम से लोक कल्याण और राष्ट्र कल्याण का मार्ग प्रशस्त करता है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि भक्ति के माध्यम से गुरु नानक देव जी ने उस कालखंड में बाबर के अत्याचारों के खिलाफ आवाज बुलंद की थी. उन्होंने कहा, ‘‘जात-पात और अन्य संकीर्ण विचारों से मुक्त रहकर कार्य करने की प्रेरणा हमें गुरु नानक देव जी से मिलती है.’’

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सिख धर्म साधना के गूढ़ रहस्यों से भरा पड़ा है और खालसा केवल एक पंथ नहीं है, यह देश और धर्म की रक्षा के लिए गुरु कृपा से निकला हुआ प्रकाश पुंज है. इसने विपरीत परिस्थितियों में भी विदेशी ताकत को झुकने के लिए मजबूर किया.

मुख्यमंत्री ने प्रेरित करते हुए कहा कि गुरु नानक जी द्वारा रखी गई इस नींव को और मजबूत करना हर सिख और हर भारतीय का दायित्व है और इसी में राष्ट्र की समृद्धि निहित है.


यह भी पढ़ें: क्या, क्यों, कब, कैसे? भारत के लैपटॉप आयात प्रतिबंधों पर बुनियादी सवालों के साथ अमेरिका पहुंचा WTO


 

share & View comments