scorecardresearch
Sunday, 26 May, 2024
होमराजनीति'यह बकवास है', थरूर बोले- राहुल ने कभी भी लोकतंत्र को बचाने के लिए विदेशी ताकतों की मदद नहीं मांगी

‘यह बकवास है’, थरूर बोले- राहुल ने कभी भी लोकतंत्र को बचाने के लिए विदेशी ताकतों की मदद नहीं मांगी

उन्होंने कहा, 'हमारे देश में लोकतंत्र खतरे में है और सभी को इसके बारे में पता होना चाहिए. इस बारे में मैंने ऐसा कुछ भी नहीं सुना, जो गलत हो.'  

Text Size:

नई दिल्ली : लंदन में राहुल गांधी के भारत के लोकतंत्र पर की गई टिप्पणी को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ओर से लगातार उनसे माफी की मांग पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि वायनाड के सांसद गांधी ने कभी भी हमारे लोकतंत्र को बचाने के लिए विदेशी ताकतों की मांग नहीं की.

कांग्रेस सांसद थरूर ने कहा, ‘राहुल गांधी ने विदेशी ताकतों के भारत आने और हमारे लोकतंत्र को बचाने के लिए कभी भी मांग नहीं की. उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं कहा जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए. यह बकवास है.’ उन्होंने कहा, ‘हमारे देश में लोकतंत्र खतरे में है और सभी को इसके बारे में पता होना चाहिए. इस बारे में मैंने ऐसा कुछ भी नहीं सुना, जो गलत हो.’

इसके अलावा, संसद के बजट सत्र को लेकर बात करते हुए, थरूर ने कहा, ‘संसद चले इसकी जिम्मेदारी सत्ताधारी सरकार की होती है. बजट सत्र चल रहा है, फाइनेंस बिल पास किए जाने की जरूरत है.’

थरूर ने कहा, ‘जब इतने महत्वपूर्ण मामले हैं, तब आप एक गैरजरूरी-मुद्दे पर संसद को चलने नहीं दे रहे हैं.’

इससे पहले आज, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राहुल गांधी पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दिए बयान जिसमें उन्होंने गांधी को ‘एंटी नेशनल टूलकिट’ का ‘स्थायी हिस्सा’ कहने पर कहा कि बीजेपी, जिसने कभी भी देश की आजादी की लड़ाई में हिस्सा नहीं लिया था, देशद्रोही थी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

खड़गे ने कहा, ‘वे (बीजेपी) खुद एंटी नेशनल हैं. वे कभी भी भारत की आजादी में हिस्सा नहीं लिए, ब्रिटिशों के लिए काम किया और वे दूसरे को एंटी नेशनल बता रहे हैं? वे यह बेरोजगारी, महंगाई जैसे मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए कर रहे हैं. क्या राहुल गांधी कभी देशद्रोही हो सकते हैं? क्या लोकतंत्र पर बहस करने वाले लोग देशद्रोही हैं?’

इसके अलावा खड़गे ने कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी संसद में नड्डा के हमले का जवाब देंगे.

उन्होंने कहा, ‘मैं जेपी नड्डा के बयान की निंदा करता हूं. माफी मांगने की कोई बात ही नहीं है. हम इसका संसद में तगड़ा जवाब देंगे. राहुल गांधी जी खुद इस पर जवाब देंगे, लिहाजा, वे (बीजेपी) डरे हुए हैं. वे क्यों उन्हें संसद में बोलने का एक मौका नहीं दे रहे हैं.’

वहीं इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने यूके में राहुल गांधी की टिप्पणी पर करारा हमला बोला और कहा वह ‘एंटी नेशनल टूलकिट’ के स्थायी हिस्सा बन चुके हैं.’

नड्डा ने कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में लिप्त है. देश द्वारा बार-बार नकारे जाने के बाद राहुल गांधी अब एंटी नेशनल टूलकिट का स्थायी हिस्सा बन चुके हैं.’

इस बीच, बीजेपी और विपक्ष दोनों के अपने-अपने रुख पर अड़े रहने से संसद बार-बार बाधित हुई है. बीजेपी यूके में राहुल गांधी के बयान को लेकर उनसे माफी की मांग कर रही है, जबकि विपक्षी सदस्य अमेरिका स्थित शॉर्ट सेलर कंपनी हिंडेनबर्ग की अडाणी के खिलाफ रिपोर्ट की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) की मांग कर रहे हैं.


यह भी पढ़ें : भारतीय पत्रकारों को एहसानमंद होना चाहिए कि BBC ‘निष्पक्षता’ की लड़ाई हार गया


 

share & View comments