Saturday, 4 December, 2021
होमराजनीतिBJP का दलित, महिला विरोधी चेहरा बेनकाब करें, हर 30 तारीख को मनाएं ‘हाथरस की बेटी स्मृति दिवस’: अखिलेश

BJP का दलित, महिला विरोधी चेहरा बेनकाब करें, हर 30 तारीख को मनाएं ‘हाथरस की बेटी स्मृति दिवस’: अखिलेश

यादव ने ट्वटी किया शव को जलाने का जो कुकृत्य किया था उसकी याद दिलाएं, भाजपा का दलित व महिला विरोधी चेहरा बेनकाब हो.

Text Size:

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बृहस्पतिवार को कहा कि हाथरस में बलात्कार के बाद जान गंवाने वाली युवती की याद में हर माह की 30 तारीख को स्मृति दिवस मनाया जाएगा और राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)की सरकार का दलित और महिला विरोधी चेहरा बेनकाब किया जाएगा.

गत वर्ष 30 सितंबर को कथित तौर पर पुलिस ने शव का जबरन अंतिम संस्कार करा दिया था.

यादव ने ट्वीट किया, ‘ उत्तर प्रदेश के वासियों, सपा व सहयोगी दलों से अपील है कि हर महीने की 30 तारीख को ‘हाथरस की बेटी स्मृति दिवस’ मनायें और प्रदेश की भाजपा सरकार ने पिछले वर्ष 30 नवंबर को बलात्कार पीड़िता के शव को जलाने का जो कुकृत्य किया था उसकी याद दिलाएं, भाजपा का दलित व महिला विरोधी चेहरा बेनकाब हो.’ गौरतलब है कि हाथरस के एक गांव में पिछले साल 14 सितंबर को 19 साल की युवती के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया गया था. युवती की हालत बिगड़ने के बाद, उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया था, जहां घटना के एक पखवाड़े बाद उसकी मौत हो गयी थी .

परिवार और स्थानीय ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस ने जबरन आधी रात को अंतिम संस्कार करा दिया था. हालांकि, स्थानीय पुलिस अधिकारियों ने कहा था कि परिवार की इच्छा के अनुसार अंतिम संस्कार कराया गया है.

share & View comments