scorecardresearch
Wednesday, 29 May, 2024
होमराजनीतिजाति जनगणना आजादी के बाद होगा सबसे क्रांतिकारी फैसला, दिल्ली में सरकार बनते ही करेंगे पहला साइन : राहुल

जाति जनगणना आजादी के बाद होगा सबसे क्रांतिकारी फैसला, दिल्ली में सरकार बनते ही करेंगे पहला साइन : राहुल

राहुल गांधी ने कहा कि जिस दिन इस देश के ओबीसी, दलित और आदिवासियों को अपनी असली आबादी और अपनी असली ताकत का पता चल जाएगा, यह देश हमेशा के लिए बदल जाएगा.

Text Size:

बेमेतरा (छत्तीसगढ़) : कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि जब उनकी सरकार दिल्ली में बनेगी तो पहली साइन जाति जनगणना पर की जाएगी. उन्होंने कहा, ”यह (जाति जनगणना) आजादी के बाद सबसे क्रांतिकारी फैसला होगा.”

चुनावी राज्य छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “जब ओबीसी को अधिकार देने की बात आती है, तो वे कहते हैं कि कोई ओबीसी नहीं है. भारत में केवल एक ही जाति है, गरीब. हम पता लगाएंगे कि कितने ओबीसी हैं. चाहे 10, 20 या 60 फीसदी हो, जितनी आबादी होगी उतनी भागीदारी मिलेगी. कर्ज माफ होगा तो किसानों का होगा, अरबपतियों का नहीं. चाहे नरेंद्र मोदी करें या नहीं, अगर छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार बनी तो यहां जाति सर्वेक्षण कराया जाएगा. जब दिल्ली में हमारी सरकार बनेगी तो सबसे पहला साइन जाति जनगणना पर होगा.”

राहुल गांधी ने कहा, “जिस दिन इस देश के ओबीसी, दलित और आदिवासियों को अपनी असली आबादी और अपनी असली ताकत का पता चल जाएगा, यह देश हमेशा के लिए बदल जाएगा. आजादी के बाद (जाति जनगणना कराना) यह सबसे क्रांतिकारी फैसला होगा.”

राहुल गांधी ने कहा, “राज्य सरकार द्वारा हर साल राज्य की सभी महिलाओं के खाते में 15,000 रुपये जमा किए जाएंगे.”

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा, “छत्तीसगढ़ सरकार ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है: केजी से पीजी तक छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी.”

छत्तीसगढ़ विधानसभा के दूसरे चरण का चुनाव शुक्रवार को होना है. राज्य में पहले चरण का चुनाव 7 नवंबर को संपन्न हुआ. राजस्थान में 25 नवंबर को मतदान होगा.

दोनों राज्यों में कांग्रेस सत्ता में है. छत्तीसगढ़ में कांग्रेस 90 में से 68 सीटें जीतकर राज्य में सत्ता में आई थी, बीजेपी को 15 सीटें मिलीं थीं.

राजस्थान में कांग्रेस ने 200 में से 99 सीटें जीती थीं और बहुजन समाज पाराटी (बीएसपी) और निर्दलियों की मदद से सरकार बनाई थी. बीजेपी ने 73 सीटें हासिल की थीं.


यह भी पढ़ें : अमित शाह बोले: BJP ने केंद्रीय मंत्रियों और सांसदों को उन्हीं के अनुरोध पर विधानसभा चुनाव में उतारा है


 

share & View comments