Tuesday, 18 January, 2022
होम2019 लोकसभा चुनावमोदी सरकार की दूसरी पारी आज से, कैबिनेट के साथ 7 बजे लेंगे शपथ

मोदी सरकार की दूसरी पारी आज से, कैबिनेट के साथ 7 बजे लेंगे शपथ

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस मंत्रिमंडल में शामिल होंगे या नहीं इसे लेकर संशय बरकरार है.

Text Size:

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 में जबर्दस्त वापसी के बाद पीएम नरेंद्र मोदी गुरुवार को दूसरे कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. राष्ट्रपति भवन के प्रागंण में होने वाले समारोह में पीएम के साथ करीब पांच दर्जन मंत्री भी शपथ लेंगे. इस दौरान सभी निगाहें इस पर लगी हुई हैं कि गृह, वित्त, रक्षा और विदेश मंत्रालय किसके पास होगा. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के अधिकांश सदस्य नए मंत्रिमंडल में भी दिखेंगे. इसके अलावा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस मंत्रिमंडल में शामिल होंगे या नहीं इसे लेकर संशय बरकरार है.

जदयू-शिवसेना के दो, लोजपा से एक सांसद मंत्रिमंडल में

शपथ ग्रहण और मंत्रिपरिषद को तय करने को लेकर पीएम मोदी और शाह के बीच मंगलवार और बुधवार को लंबी बैठकें भी हुईं. इसके अलावा बिहार के सीएम और जदयू अध्यक्ष नितीश कुमार ने भी शाह के साथ मंत्रणा की. सूत्रों की मानें तो इस शपथ ग्रहण में जदयू की तरफ से दो, शिवसेना की तरफ से दो, अकाली दल एक और लोजपा के कोटे से एक रामविलास पासवान मंत्रिमंडल में शामिल होंगे. इसके अलावा एआईएडीएमके के कोटे से भी सरकार में किसी को मंत्री बनाया जा सकता है.

महात्मा गांधी और अटलजी की समाधि पर पहुंचे पीएम

शपथ ग्रहण से पहले पीएम मोदी गुरुवार सुबह महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंचे. इसके बाद वे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि स्थल सदैव अटल पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धासुमन अर्प्रित किए.

दाल रायसीना होगी विशेष भोज में

शपथ ग्रहण के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू समेत 40 हस्तियों के लिए राष्ट्रपति कोविंद की तरफ से विशेष भोज का आयोजन किया गया है. इसमें दाल रायसीन विशेष तौर पर मेहमानों को परोसी जाएगी. यह राष्ट्रपति भवन की विशेष डिश है. इसे करीब 48 घंटों तक पकाया जाता है. इसमें इस्तेमाल की गई सामग्री लखनऊ से मंगवाई जाती है. इसके अलावा इसमें वेज-नानवेज खाने की थालियां भी होंगी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

शाहरुख, द्रविड़, रजनीकांत को भी न्यौता

इस बार शपथ ग्रहण में बॉलीवुड, क्रिकेटर के अलावा विभिन्न वर्गों के बद्धीजीवियों को आमंत्रित किया गया है. इसमें सुपर स्टार रजनीकांत, कमल हासन के अलावा शाहरुख खान समेत कई बालीवुड सितारों को निमत्रंण भेजा गया है. इस कार्यक्रम में राहुल द्रविड़, मुकेश अंबानी, गौमत अडानी, रतन टाटा को भी शपथ ग्रहण में शामिल होने का न्यौता भेजा गया है. इस कार्यक्रम में करीब 6 हजार लोग शामिल हो सकते हैं.

सोनिया-राहुल करेंगे शिरकत, ममता-नवीन नहीं होंगे शामिल

इस समारोह में केरल के ​सीएम पिनराई विजयन, ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी शपथ ग्रहण समारोह में नहीं आएंगे. कार्यक्रम में यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह समेत कई विपक्षी दलों के बड़े नेता शामिल होंगे. इसके अलावा मप्र के सीएम कमलनाथ और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल भी शामिल नहीं होंगे. केंद्र सरकार ने उन्हें न्यौता भेजा था, लेकिन व्यस्तताओं को आधार बनाकर दोनों नेता इस कार्यक्रम में शामिल होने से इंकार कर दिया है.

जेटली नहीं बनेंगे नई सरकार में मंत्री

वित्त मंत्री अरुण जेटली मोदी की नई सरकार में मंत्री नहीं बनेंगे. उन्होंने शपथ ग्रहण के एक दिन पहले बुधवार दोपहर को ही पत्र लिखकर अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए जिम्मेदारी नहीं लेने की इच्छा व्यक्त की थी. जेटली के इस फैसले के बाद पीएम मोदी ने उनके घर जाकर उनसे मुलाकात की.

एससीओ की बैठक में जाएंगे मोदी

मालदीव की संसद मजलिस ने बुधवार को ध्वनिमत से प्रस्ताव पारित किया कि आगामी बैठक के दौरान भारत के पीएम नरेंद्र मोदी उनकी बैठक को संबोधित करेंगे. इसकी जानकारी मालदीव के विदेश मंत्री ने ट्वीट कर दी. अभी इसकी तारीख तय नहीं है. इसकी तैयारियां विदेश मंत्रालय में चल रही हैं. इसके अलावा पीएम मोदी शंघाई कोऑपरेशन आर्गेनाइजेशन समिट एससीओं की बैठक में हिस्सा लेंगे. इसके लिए वह 14-15 जून को कि​र्गिस्तान जाएंगे. इस बैठक में पीएम मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रुस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे.

पीएम को राष्ट्रऋषि की उपाधि देगी श्रीकाशी विद्वत परिषद

श्रीकाशी विद्वत परिषद पीएम नरेंद्र मोदी को राष्ट्रऋषि की उपाधि से अलकृंत करेगी. बनारस में भव्य आयोजन कर उन्हें यह अलंकरण प्रदान किया जाएगा. यह निर्णय परिषद की शंकुलधारा स्थित बैठक में यह निर्णय लिया गया है.

विदेशी मेहमान पहुंचेंगे शपथग्रहण समारोह में

शपथ ग्रहण समारोह में पिछली बार सार्क देशों के राष्ट्रध्यक्षों को बुलाया गया था लेकिन इस बार बिम्सटेक देश के प्रमुखों को बुलाया गया है. इसके के अलावा 54 ‘विशेष’ अतिथि आमंत्रित हैं.

बांग्लादेश के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हामिद भारत पहुंच चुके हैं. वहीं श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना, म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन म्यिंट, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली, भूटान के प्रधान मंत्री डॉक्टर लोटे त्सरिंग और थाईलैंड के विशेष दूत ग्रिसडा बूनराच भी समारोह में शामिल होंगे.

इन मेहमानों के अलावा मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद कुमार जगन्नाथ और किर्गिज़ गणराज्य के राष्ट्रपति सोओरोंबे जेनेबकोव भी शामिल होंगे. मॉरीशस और किर्गिज़ गणराज्य के राष्ट्रपति को शामिल करने का उद्देश्य भारत की ‘लुक ईस्ट’ नीति को मज़बूत करना है.

वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मोदी की जीत पर उनको बधाई दी थी और साथ मिलकर काम करने की इच्छा जताई थी लेकिन उनके आने की संभावना नहीं है.

(आईएएनएस के इनपुट्स के साथ)

share & View comments