Saturday, 4 December, 2021
होमराजनीतिराहुल से मुलाकात के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा, बने रहेंगे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष

राहुल से मुलाकात के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने वापस लिया इस्तीफा, बने रहेंगे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष

नवजोत सिंह सिद्धू ने 18 दिन बाद अपना इस्तीफा वापस ले लिया है, वो पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहेंगे. राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले, सारे मुद्दों को हल कर लिया गया है.

Text Size:

नई दिल्ली: कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की, जिसके बाद उन्होंने अपना इस्तीफा वापस लेने और अध्यक्ष पद पर बने रहने का फैसला किया.

राहुल गांधी के 12, तुगलक लेन स्थित आवास पर उनसे मुलाकात के बाद सिद्धू ने कहा कि सभी मुद्दों का समाधान निकाल लिया गया है. बैठक में कांग्रेस महासचिव और पंजाब प्रभारी हरीश रावत भी मौजूद थे.

सिद्धू ने संवाददाताओं से कहा, ‘मैंने अपनी चिंताओं से राहुल गांधी जी को अवगत कराया. सारे मुद्दों को हल कर लिया गया है.’

रावत ने कहा कि सिद्धू ने अपना इस्तीफा वापस लेने और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष का कामकाज फिर से संभालने का विश्वास दिलाया.

उन्होंने कहा, ‘हमने सिद्धू जी से कहा है कि उनकी चिंताओं पर ध्यान दिया जाएगा.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इससे एक दिन ही पहले ही, सिद्धू ने कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल तथा हरीश रावत से मुलाकात की थी तथा उन मुद्दों से वरिष्ठ नेताओं को अवगत कराया, जिनको लेकर उन्होंने पिछले दिनों पद छोड़ा था.

उल्लेखनीय है कि सिद्धू ने 28 सितंबर को कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में सिद्धू ने कहा था कि वह पार्टी की सेवा करना जारी रखेंगे.

उन्होंने पत्र में लिखा था, ‘किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व में गिरावट समझौते से शुरू होती है. मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकता हूं.’


यह भी पढ़ें: पंजाब में कांग्रेस बनाम कांग्रेस, लेकिन इस बार सिद्धू का इससे कोई लेना-देना नहीं है


 

share & View comments