Wednesday, 29 June, 2022
होमराजनीतिसंप्रग सरकार ने गरीबों के लिए पर्याप्त घर नहीं बनाए: मोदी

संप्रग सरकार ने गरीबों के लिए पर्याप्त घर नहीं बनाए: मोदी

Text Size:

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘संप्रग सरकार ने अपने अंतिम चार सालों में गरीबों के लिए सिर्फ 25 लाख घर बनाए. हमने बीते चार सालों में गरीबों के लिए पूरी सुविधाओं से युक्त 1.25 करोड़ घर बनाए हैं.’

अहमदनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार पर गरीबों के लिए पर्याप्त घर नहीं बनाने के लिए हमला किया. मोदी ने कहा, ‘संप्रग के अंतिम चार सालों के शासन में उन्होंने गरीबों के लिए सिर्फ 25 लाख घर बनाए. भाजपा सरकार के बीते चार सालों में हमने गरीबों के लिए पूरी सुविधाओं से युक्त 1.25 करोड़ घर बनाए हैं.’

मोदी ने कहा, ‘अगर संप्रग-2 की सरकार जारी रहती तो उनकी गति से उन्हें 1.25 करोड़ घर बनाने में 20 साल लगते और गरीबों को अपने सपनों के घर के इंतजार में दो दशक झेलने पड़ते.’


यह भी पढ़ें: ‘मौनमोहन’ पर तंज करने वाले मोदी खुद अकबर पर मौन हैं


मोदी ने यह टिप्पणी महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के लाभार्थियों को उनके घरों की चाबियां सौंपने के बाद की है. पीएमएवाई के तहत इन घरों को महाराष्ट्र के 2,50,000 परिवारों को दिया गया है.

मोदी ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने एक घर बनाने में 18 महीने लिए, जबकि मौजूदा सरकार ने एक घर सिर्फ 12 महीनों में तैयार कर दिए, जिसमें बड़ी जगह के साथ शौचालय, बिजली, पानी व गैस जैसी सुविधाएं भी हैं. इसके अलावा सरकार की सब्सिडी हर घर पर 70,000 से बढ़ाकर 120,000 की गई. इस धन को लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे हस्तांतरित किया गया.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

गांधी परिवार का नाम लिए बगैर मोदी ने संप्रग सरकार पर गरीबों के लिए घर बनाने व अपने राजनीतिक हित साधने के लिए वोट बैंक की खातिर सिर्फ ‘एक परिवार’ के नाम को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया.

कुछ परिवारों को अपने हाथों से चाबियां सौंपने के बाद मोदी ने राज्य के विभिन्न जिलों के कई लाभार्थी परिवारों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की.

इस दौरान महाराष्ट्र के राज्यपाल सीवी राव व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद थे.

share & View comments