Monday, 8 August, 2022
होमराजनीति'मैं इस्तीफा दे रहा हूं,' महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे फेसबुक लाइव पर बोले- हमेशा के लिए नहीं जा रहा

‘मैं इस्तीफा दे रहा हूं,’ महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे फेसबुक लाइव पर बोले- हमेशा के लिए नहीं जा रहा

पिछले हफ्ते महाराष्ट्र में राजनीतिक उठापटक तब शुरू हुई जब महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे एकनाथ शिंदे 34 विधायकों के साथ अचानक सूरत पहुंच गए. इस गुट में सात निर्दलीय विधायक भी थे.

Text Size:

नई दिल्ली: पिछले एक पखवाड़े से उठापटक चलने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा बुधवार देर शाम महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट का फैसला सुनाए जाने के बाद अपने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का एलान किया.

बता दें कि फैसले में कोर्ट ने साफ कहा कि कल सदन की प्रक्रिया पर हम रोक नहीं लगा रहे हैं. कल 11 बजे फ्लोर टेस्ट होगा.पीला कुर्ता पहने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसैनिकों को संबोधित करते हुए कहा,’ मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं.’ उन्होंने इस मौके पर बागी विधायकों से कहा कि यदि आपको मुझसे परेशानी थी तो मुझसे बात करनी चाहिए थी.

महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना नेता ने अपने संबोधन में कहा, मैं संतुष्ट हूं कि हमने आधिकारिक तौर पर औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव कर दिया है यह बालासाहेब ठाकरे द्वारा नामित शहर हैं. वहीं उन्होंने यह भी कहा, ‘जो भी अच्छा लगता है, उसे नजर लग जाती है.’ उनकी तरफ से इस बात पर दुख जाहिर किया कि जो उनके अपने थे, उन्होंने ही साथ नहीं दिया, और जिन्हें शायद वे अपना नहीं मानते थे, वे अंत तक साथ खड़े रहे.’

उन्होंने इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार का भी धन्यवाद दिया. आज कैबिनेट समाप्त होने के बाद अशोक चव्हाण ने मुझे कहा कि हम आपके साथ हैं अगर इसलिए दिक्कत हो रही है तो हम महा विकास आघाडी के बाहर जाते हैं और आप को बाहर से समर्थन देते हैं लेकिन मैंने कहा नहीं ऐसा नहीं होता है.

शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे बार बार शिव सैनिकों को धन्यवाद देते रहे इस दौरान उन्होंने कहा, मैं अप्रत्याशित तरीके से (सत्ता में) आया था और मैं इसी तरह से बाहर जा रहा हूं. मैं हमेशा के लिए नहीं जा रहा हूं, मैं यहां रहूंगा, और मैं एक बार फिर शिवसेना भवन में बैठूंगा. मैं अपने सभी लोगों को इकट्ठा करूंगा. मैं सीएम और एमएलसी पद से इस्तीफा दे रहा हू.’बता दें कि पिछले एक हफ्ते से महाराष्ट्र की राजनीति में चल रहा उठा-पटक का खेल आज देर शाम ठाकरे के इस्तीफा देते ही खत्म हो गया है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

ठाकरे के इस्तीफे पर महाराष्ट्र के निर्दलीय विधायक रवि राणा ने कहा, ‘मुख्यमंत्री को इस्तीफा पहले ही देना चाहिए था, उनकी बंद मुट्ठी में भी जो ताकत थी वो खुल गई है. जहां हिन्दुत्व के विचार छोड़कर कांग्रेस के विचारों पर सीएम चल रहे थे. एकनाथ शिंदे गुट ने बालासाहेब के विचारों पर कायम रखने के लिए विद्रोह किया है.’

हलचल और एकनाथ शिंदे का एलान 

शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि उद्धव ठाकरे नीत खेमा पार्टी के अंदर ही अल्पमत में है और विधानसभा में शक्ति परीक्षण विधायकों की खरीद-फरोख्त रोकने का सर्वश्रेष्ठ उपाय है.

शिंदे ने बुधवार को ही दावा किया था कि उन्हें 50 विधायकों का समर्थन हासिल है और विधानसभा में संख्याबल की ‘किसी भी परीक्षा’ में वह उत्तीर्ण होंगे.

वहीं देर शाम सीएम पद के इस्तीफे की घोषणा के साथ ही मुंबई के ताज प्रेसिडेंट होटल में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस बीजेपी मुंबई के चीफ चंद्रकांत पाटिल के साथ खुशियां मनाते और मिठाई खिलाते देते गए.


यह भी पढ़ें: आदित्य ठाकरे ने कहा- ‘बागियों को जवाब देना होगा कि क्या विश्वासघात ठीक है’, ‘नैतिकता का टेस्ट’ पास करें


share & View comments