scorecardresearch
Friday, 1 March, 2024
होमचुनावMP में निर्दलीय होंगे अहम: 6 एग्जिट पोल में से 3 में BJP की सरकार, दो में बराबरी तो 1 में कांग्रेस आगे

MP में निर्दलीय होंगे अहम: 6 एग्जिट पोल में से 3 में BJP की सरकार, दो में बराबरी तो 1 में कांग्रेस आगे

मध्यप्रदेश में फिलहाल भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और शिवराज सिंह चौहान इसके मुख्यमंत्री हैं. 230 सीटों वाली इस विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 116 है.

Text Size:

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम इन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो चुके हैं. तेलंगाना में वोटिंग के खत्म होने के साथ ही एग्जिट पोल के आंकड़े आने लगे हैं. बता दें फिर राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार है जबकि मध्यप्रदेश में बीजेपी की सरकार है. जबकि मिजोरम नेशनल फ्रंट के ज़ोरमथांगा मिजोरम के मुख्यमंत्री हैं और भारत राष्ट्र समिति के के. चंद्रशेखर राव तेलंगाना में सत्ता में हैं. हालांकि इन राज्यों में हुए चुनाव के वास्तविक नतीजे तो 3 दिसंबर को आएंगे लेकिन गुरुवार को आए एग्जिट पोल किस राज्य में किसकी बनेगी सरकार और क्या हैं इसके इशारे.

मध्यप्रदेश में निर्दलीय होंगे अहम

मध्यप्रदेश में फिलहाल भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और शिवराज सिंह चौहान इसके मुख्यमंत्री हैं. 230 सीटों वाली इस विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 116 है. भारतीय जनता पार्टी पिछले चार बार से यहां सत्ता में हैं. राज्य में किसकी होगी सरकार इसपर कुछ ओपिनियन पोल का कहना है कि यहां पिछली बार की तरह इस बार भी कोई दल बहुमत का आंकड़ा नहीं पार कर पाएगी. ऐसे में छोटे दलों और निर्दलीय विधायक अहम हो जाएंगे.

एग्जिट पोल में न्यूज 24-चाणक्य ने मध्यप्रदेश में बीजेपी को 151 सीटें दी हैं, जबकि कांग्रेस को 74 सीटों पर ही समट दिया है. जबकि अन्य को पांच सीटें मिलती दिखा रहे हैं.

जबकि रिपब्लिक भारत के सर्वे में एकबार फिर भाजपा को 118-130 सीटें, कांग्रेस को 97-107 सीटें और अन्य को दो सीटें मिलती दिखाई हैं.

वहीं यदि वोट शेयर की बात करें तो बीजेपी को 43.4 प्रतिशत

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कांग्रेस को 41.7 प्रतिशत और अन्य को 14.9 प्रतिशत मिलता दिखाया गया है. जबकि एक और एग्जिट पोल एजेंसी

रिपब्लिक मैट्रिज के सर्वे के अनुसार, बीजेपी को 118-130, कांग्रेस को 97-107 और अन्य को दो सीटें मिलने का अनुमान है जबकि टीवी 9 भारतवर्ष-पोलस्ट्रैट के एग्जिट पोल में मध्यप्रदेश में कांटे की टक्कर होगी. बीजेपी को 106-116 और कांग्रेस को 111-121 सीटें मिल सकती हैं.

हालांकि ‘जन की बात’ के एग्जिट पोल में एकबार फिर मध्यप्रदेश में कांटे का मुकाबला बताया है. जन की बात ने कांग्रेस को 102 से 125 सीटें मिलने का अनुमान बताया है वहीं, बीजेपी को 100 से 123 सीटें मिल सकती हैं. वहीं, अन्य को पांच सीटें मिलेंगी.

इंडिया टूडे- एक्सिस माय इंडिया का एग्जिट पोल
भाजपा को 118-130 सीटें,कांग्रेस को 97-107 सीटें
अन्य को 0-2 सीटें मिलती बताई हैं.


यह भी पढ़ें: ‘इस्तीफा दो, कैबिनेट छोड़ो’: मराठा विरोधी टिप्पणी पर BJP नेता विखे पाटिल ने NCP मंत्री भुजबल पर किया हमला


‘मैं एग्जिट पोल पर भरोसा नहीं करती’

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने कहा कि वह एग्जिट पोल पर ‘भरोसा’ नहीं करतीं.

भारती ने मीडिया से कहा, ”मैं चाहती हूं कि मेरी पार्टी मध्य प्रदेश में सरकार बनाये. मैं मध्य प्रदे्रश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बहुत सम्मान करती हूं.”

एग्जिट पोल के बारे में पूछे जाने पर भारती ने कहा कि वह उन पर भरोसा नहीं करतीं.

उन्होंने दावा किया, ‘वे भविष्यवाणी करते हैं कि एक पार्टी 112 से 130 सीटें (मध्य प्रदेश की 230 सीटों में से) के बीच जीतेगी. अब, अगर उस पार्टी को 112 सीटें मिलती हैं और चुनाव हार जाती है, तो एग्जिट पोल करने वालों का दावा है कि वे सही साबित हुए हैं. लेकिन अगर उस पार्टी को 120 सीटें मिलती हैं और वह जीतती है, तो एग्जिट पोल का दावा है कि उनकी भविष्यवाणी सही थी.’

उन्होंने कहा, ‘इसलिए एग्जिट पोल एक ही सिक्के के दो पहलू हैं.मैं उन पर भरोसा नहीं करती.’

उन्होंने कहा, नवंबर 2020 में बिहार में तेजस्वी यादव के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनता दल की सरकार बनने के बारे में एग्जिट पोल की भविष्यवाणी गलत साबित हुई.

जब उनसे पूछा गया कि भाजपा कितनी सीटें जीतेगी तो उन्होंने कहा कि पार्टी हर सीट जीतने के लिए चुनाव लड़ती है.

मध्य प्रदेश में कांग्रेस और उलटफेर की कहानी 

बता दें कि साल 2018 में कांग्रेस ने कमलनाथ की अगुवाई में सरकार बनाई थी. और पार्टी ने 114 सीटों के साथ बसपा, सपा और निर्दलीयों की मदद से कांग्रेस ने सरकार बनाई थी लेकिन 2020 के मार्ट में ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके वफादार विधायकों की बगावत के कारण कमलनाथ की सरकार गिर गई थी और शिवराज सिंह चौहान की मुख्यमंत्री की सीट एकबार फिर उन्हें फिर से मिल गई थी. बता दें कि 2018 में भारतीय जनता पार्टी ने महज 109 सीटें जीतीं थीं.


यह भी पढ़ें: तेलंगाना विधानसभा चुनाव में BRS सत्ता बचाने, तो कांग्रेस, BJP कब्जाने की लड़ाई में- जानें अहम सीटों का हाल


 

share & View comments