Wednesday, 1 February, 2023
होमराजनीति'सदन की शोभा' 'भूमि पुत्र,' PM Modi और खड़गे ने राज्यसभा में की सभापति जगदीप धनखड़ की तारीफ

‘सदन की शोभा’ ‘भूमि पुत्र,’ PM Modi और खड़गे ने राज्यसभा में की सभापति जगदीप धनखड़ की तारीफ

संसद का शीतकालीन सत्र शुरू.यह 29 दिसंबर तक चलेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में कहा जिस प्रकार से भारत से अपेक्षाएं बढ़ी हैं और वैश्विक मंच पर अपनी भागीदारी बढ़ाता जा रहा है ऐसे समय में #G20 की मेज़बानी भारत को मिलना एक बहुत बड़ा अवसर है.

Text Size:

नई दिल्ली: संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो गया है.यह 29 दिसंबर तक चलेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में कहा जिस प्रकार से दुनिया में भारत से अपेक्षाएं बढ़ी हैं और जिस प्रकार से हमारा देश वैश्विक मंच पर अपनी भागीदारी बढ़ाता जा रहा है ऐसे समय में #G20 की मेज़बानी भारत को मिलना एक बहुत बड़ा अवसर है.

पीएम ने इस दौरान मीडिया से बातचीत में कहा कि, ‘शीतकालीन सत्र का आज पहला दिन है, यह सत्र महत्वपूर्ण इसलिए है क्योंकि 15 अगस्त के पहले हम मिले थे, 15 अगस्त को आजादी का अमृत महोत्सव पूरा हुआ और हम अमृत काल में आगे बढ़ रहे हैं.’

मोदी ने आगे कहा, ‘यह सिर्फ एक डिप्लोमेटिक इवेंट नहीं है बल्कि भारत के सामार्थ्य को विश्व के सामने प्रस्तुत करने का समय है.’

संसद सत्र के पहले दिन राज्यसभा में पीएम मोदी ने अध्यक्ष जगदीप धनखड़ का स्वागत किया और कहा, ‘हमारे उपराष्ट्रपति किसान पुत्र हैं और उन्होंने सैनिक स्कूल में पढ़ाई की है. इस प्रकार वह जवानों और किसानों के साथ घनिष्ठ रूप से जुड़े हुए हैं. मैं इस सदन के साथ-साथ राष्ट्र की ओर से सभापति को बधाई देता हूं. आप संघर्षों के बीच जीवन में आगे बढ़ते हुए इस मुकाम पर पहुंचे हैं, यह देश के कई लोगों के लिए प्रेरणा है. आप सदन में इस महती पद की शोभा बढ़ा रहे हैं.’

‘मेरे बारे में कोई राय मत बनाना गालिब मेरा वक्त भी बदलेगा मेरी राय भी बदलेगी.’ पीएम के बाद राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़ने ने पराष्ट्रपति की तारीफ में शेर भी सुनाया. वह बोले, संसदीय परंपराओं को आप बखूबी समझते हैं. राजस्थान विधानसभा और पश्चिम बंगाल में राज्यपाल रहे हैं. पढ़ने लिखने में आपकी रूची है, आपकी रूपरेखा बेहद बड़ी है. खड़गे ने कहा कि मैं कहना चाहता हूं कि राज्यसभा के संरक्षक के रूप में आपकी भूमिका बाकी भूमिकाओं से काफी बड़ी हैं. आप जिस आसन पर बैठे हैं उसपर कई गणमान्य लोग बैठ चुके हैं.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

मीडिया से बातचीत के दौरान पीएम ने कहा, इस सत्र में देश को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए वर्तमान वैश्विक परिस्थितियों में भारत को आगे बढ़ाने के नए अवसरों को ध्यान में रखते हुए कई महत्वपूर्ण निर्णय करने का प्रयास होगा.’

इस दौरान पीएम ने सभी राजनीतिक दलों से गुजारिश की कि सभी राजनीतिक दल आगे आएं. उन्होंने नए सांसदों के उज्जवल भविष्य की और लोकतंत्र की भावी पीढ़ी को तैयार करने की बात की.

पीएम ने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि सभी राजनितिक दल चर्चा को और आगे बढाएंगे, वे अपने विचारों से निर्णयों को नई ताकत देंगे, दिशा को स्पष्ट रूप से उजागर करने में मदद करेंगे.’

‘मैं सभी पार्टी के लीडर और फ्लोर लीडर से आग्रह करना चाहता हूं कि जो पहली बार सदन में आए, जो नए सांसद हैं उनके उज्जवल भविष्य की और लोकतंत्र की भावी पीढ़ी को तैयार करने के लिए हम ज़्यादा से ज़्यादा अवसर उन सभी को चर्चा का अवसर दें.’

‘मेरी सभी सांसदों से जब भी अनौपचारिक मुलाकातें हुई है वे कहते हैं कि सदन में शोर-शराबे के बाद सदन स्थगित हो जाता है, जिससे हम सासंदों का बहुत नुकसान होता. युवा सांसदों का कहना है कि सदन न चलने के कारण हम जो सीखना चाहते हैं वो सीख नहीं पाते हैं.’

पीएन ने आगे कहा, ‘ आज पहली बार हमारे उपराष्ट्रपति (जगदीप धनखड़) राज्यसभा अध्यक्ष के रूप में अपना कार्यकाल शुरू करेंगे. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने जिस तरह से आदिवासी परंपराओं के साथ भारत को गौरवान्वित करने में बड़ी भूमिका निभाई, एक किसान पुत्र अध्यक्ष के रूप में आज भारत को गौरवान्वित करेंगे.


यह भी पढ़ें: संसद का शीतकालीन सत्र कल से- विपक्ष बेरोजगारी, महंगाई के मुद्दे पर सरकार को घेरेगा


 

share & View comments