scorecardresearch
Friday, 12 July, 2024
होमराजनीति‘BJP विधायक की मंगेतर और IAS’, कौन हैं परी बिश्नोई, जिनकी राज्य में पोस्टिंग को हरियाणा सरकार ने दी सहमति

‘BJP विधायक की मंगेतर और IAS’, कौन हैं परी बिश्नोई, जिनकी राज्य में पोस्टिंग को हरियाणा सरकार ने दी सहमति

परी बिश्नोई, जो अभी गंगटोक में उप-विभागीय मजिस्ट्रेट (SDM) के रूप में तैनात हैं, का कहना है कि उन्होंने इसलिए आवेदन किया था क्योंकि उनके पिता अस्वस्थ हैं और वह उनके साथ रहना चाहती हैं.

Text Size:

गुरुग्राम: सिक्किम कैडर की 2020 बैच की IAS अधिकारी और हरियाणा के बीजेपी विधायक भव्य बिश्नोई की मंगेतर परी बिश्नोई को मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा राज्य में प्रतिनियुक्ति के लिए NOC (अनापत्ति प्रमाण पत्र) दे दिया गया है. दिप्रिंट को इसकी जानकारी मिली है.

हरियाणा सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक राज्य सरकार ने परी की प्रतिनियुक्ति के लिए केंद्र सरकार के अनुरोध पर अपनी सहमति दे दी है. अंतिम आदेश कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय द्वारा जारी किए जाएंगे.

परी बिश्नोई (27) की सगाई पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के पोते भव्य बिश्नोई (30) से हुई है. भजन लाल 1979 से 1986 और 1991 से 1997 तक हरियाणा के मुख्यमंत्री रहे थे. इस जोड़े के दिसंबर में शादी के बंधन में बंधने की संभावना है.

भव्य बिश्नोई के पिता कुलदीप बिश्नोई भी एक प्रमुख बीजेपी नेता हैं जो सांसद और विधायक रह चुके हैं. उनकी मां रेणुका बिश्नोई भी 2014 से 2019 तक हांसी से विधायक थीं.

भव्य बिश्नोई ने अपने पिता के कांग्रेस छोड़ने और बीजेपी में शामिल होने के बाद पिछले साल उपचुनाव में परिवार का गढ़ आदमपुर सीट जीती थी. उन्होंने इससे पहले 2019 का लोकसभा चुनाव कांग्रेस के टिकट पर हिसार से लड़ा था लेकिन बृजेंद्र सिंह से हार गए थे.

परी बिश्नोई, जो अभी सिक्किम के गंगटोक में उप-विभागीय मजिस्ट्रेट (SDM) के रूप में तैनात हैं, ने दिप्रिंट से कहा कि उन्होंने प्रतिनियुक्ति के लिए इसलिए आवेदन दिया था क्योंकि उनके पिता अस्वस्थ हैं और वह उनके साथ रहना चाहती हैं. उन्होंने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय में भी काम किया है.


यह भी पढ़ें: हिंदी विरोध के दिन गए: कैसे तमिलनाडु की DMK पॉडकास्ट और नौकरियों के जरिए हिंदी पट्टी को लुभा रही है


कौन हैं परी बिश्नोई?

26 फरवरी, 1996 को राजस्थान के बीकानेर में वकील मनीराम बिश्नोई और सरकारी रेलवे पुलिस (GRP) में स्टेशन हाउस ऑफिसर (SHO) इंस्पेक्टर सुशीला बिश्नोई के घर जन्मी परी ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) 2019 में 30वीं रैंक हासिल की थी.

उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट मैरी कॉन्वेंट, अजमेर से की और स्नातक की पढ़ाई इंद्रप्रस्थ महिला कॉलेज दिल्ली से की. उनके पास उन्होंने महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय, अजमेर से राजनीति विज्ञान में मास्टर डिग्री भी है.

दिल्ली में स्नातक स्तर की पढ़ाई के दौरान ही परी ने सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी शुरू कर दी थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (NET) और जूनियर रिसर्च फेलो (JRF) परीक्षा भी पास कर ली, लेकिन अपना ध्यान UPSC क्रैक करने पर केंद्रित किया.

उनके वेरिफाइड इंस्टाग्राम अकाउंट पर 153K फॉलोअर्स है, जहां वह अपनी यात्रा और SDM के रूप में काम की तस्वीरें पोस्ट करती रहती हैं.

(संपादनः ऋषभ राज)

(इस ख़बर को अग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)


यह भी पढ़ें: कमांडो, कुत्ते और तकनीक: आंध्र में CM जगन को मिलेगी ‘SPG’ जैसी सुरक्षा, सरकार बना रही है ‘स्पेशल यूनिट’


 

share & View comments