scorecardresearch
Wednesday, 29 May, 2024
होमराजनीतिकिसानों से महज एक फोन कॉल की दूरी पर है सरकार, पीएम बोले-बातचीत से समाधान का प्रयास है जारी

किसानों से महज एक फोन कॉल की दूरी पर है सरकार, पीएम बोले-बातचीत से समाधान का प्रयास है जारी

बजट सत्र से पहले पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई सर्वदलीय बैठक में विपक्षी पार्टियों ने लोकसभा में बिल के अलावा किसानों के मुद्दे पर चर्चा की मांग की है इसके लिए सरकार तैयार है.

Text Size:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से कहा कि उनकी सरकार प्रदर्शनकारी किसानों की ओर से उठाए गए मुद्दों का बातचीत के जरिए समाधान निकालने का निरंतर प्रयास कर रही है.

सूत्रों के मुताबिक, संसद में विभिन्न दलों के सदन के नेताओं की डिजिटल बैठक में मोदी ने यह भी कहा कि तीन कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार ने जो प्रस्ताव दिया था वो आज भी बरकरार है.

सरकार ने यह सर्वदलीय बैठक बजट सत्र के दौरान संसद की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने और विधायी कार्यों के संदर्भ में चर्चा के मकसद से बुलाई थी. विभिन्न दलों के नेताओं ने इस बैठक में अलग अलग मुद्दे उठाए.

सूत्रों ने इस बैठक में प्रधानमंत्री के संबोधन का हवाला देते हुए बताया कि मोदी ने नेताओं से कहा कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर प्रदर्शनकारी किसानों से सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी पर हैं और तोमर ने इस महीने की शुरुआत में किसान नेताओं को इस बात से अवगत भी कराया था.


यह भी पढ़ें: किसानों के समर्थन में आए राहुल गांधी, कहा -आगे गांवों से शहरों तक फैलेगा आंदोलन


किसान मुद्दे पर चर्चा के लिए सहमत सरकार

बजट सत्र से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई सर्वदलीय बैठक में लगभग सभी पार्टियों के नेता ने हिस्सा लिया. केंद्रीय संसदीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया, ‘बैठक के दौरान विपक्षी पार्टियों ने मांग की है कि लोकसभा में बिल के अलावा चर्चा हो और सरकार इसके लिए सहमत है. विपक्ष ने किसानों के मुद्दे पर भी चर्चा की मांग की है इसके लिए भी हम सहमत हैं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

जोशी ने आगे यह भी कहा, ‘प्रधानमंत्री ने कहा है कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने जो प्रस्ताव दिया था, हम उस पर चर्चा के लिए तैयार है.’

बैठक में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय, शिरोमणि अकाली दल के नेता बलविंदर सिंह भूंदड़, शिवसेना के विनायक राउत और कई अन्य नेता शामिल हुए.


यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य क्षेत्र में बड़ी वृद्धि और टैक्स में राहत- मोदी सरकार के बजट 2021 से आप क्या उम्मीद कर सकते हैं


 

share & View comments