scorecardresearch
Thursday, 20 June, 2024
होमराजनीति'पांच न्याय', जाति जनगणना, 50% कोटा पर प्रतिबंध हटाने के लिए संशोधन - कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र

‘पांच न्याय’, जाति जनगणना, 50% कोटा पर प्रतिबंध हटाने के लिए संशोधन – कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र

'न्याय पत्र' शीर्षक वाले घोषणापत्र के वादों में 'न्याय के 5 स्तंभ शामिल हैं: युवा न्याय, नारी न्याय, किसान न्याय, श्रमिक न्याय और हिस्सेदारी न्याय.

Text Size:

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी ने शुक्रवार को दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) मुख्यालय में 2024 लोकसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र जारी किया.

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस संसदीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य नेताओं को न्याय पत्र नामक पार्टी घोषणापत्र का अनावरण करते देखा गया.

पार्टी का चुनाव घोषणापत्र ‘पांच न्याय’ या न्याय के पांच स्तंभों पर केंद्रित है, जिसमें ‘युवा न्याय’, ‘नारी न्याय’, ‘किसान न्याय’, ‘श्रमिक न्याय’ और ‘हिस्सेदारी न्याय’ के साथ-साथ इसके द्वारा 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए अपने चुनावी वादों के तहत लोगों से की गई गारंटी भी शामिल है.

पार्टी ने अपने घोषणापत्र में यह भी कहा है कि पार्टी जातियों और उप-जातियों और उनकी सामाजिक-आर्थिक स्थितियों की गणना करने के लिए एक राष्ट्रव्यापी सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना कराएगी और एससी, एसटी व ओबीसी के लिए आरक्षण पर 50 प्रतिशत की सीमा बढ़ाने के लिए एक संवैधानिक संशोधन पारित करेगी.

पार्टी के अनुसार, कांग्रेस का घोषणापत्र राष्ट्रव्यापी विचार-विमर्श करने और ईमेल तथा ‘आवाज़ भारत की’ वेबसाइट के माध्यम से हजारों सुझाव प्राप्त करने के बाद तैयार किया गया.

कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की मार्च में बैठक हुई और आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के घोषणापत्र पर गहन विचार-विमर्श किया गया. बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पूर्व पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अन्य कांग्रेस नेता मौजूद थे.

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “समिति ने इसे केवल कागजों तक ही सीमित रखने के बजाय, इसमें सार्वजनिक भागीदारी को सफलतापूर्वक सुनिश्चित करने की कोशिश की. इसने देश के विभिन्न हिस्सों में व्यापक विचार-विमर्श किया और 6 मार्च, 2024 को मुझे एक मसौदा सौंपा.”

उन्होंने कहा कि सुझाव और टिप्पणियां एक ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से भी मांगी गई थीं, जिसे सही नाम “आवाज़ भारत की” कहा गया था.

खड़गे ने कहा, “घोषणा पत्र में जो भी वादा किया गया है उसे सख्ती से लागू किया जाएगा. घोषणापत्र में वादे करने से पहले, यह सुनिश्चित करने के लिए गहन विचार-विमर्श किया गया है कि इन वादों को कैसे लागू किया जाएगा,”

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 30 मार्च को लोकसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र तैयार करने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में 27 सदस्यीय समिति की घोषणा की, जिसमें कई केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री शामिल थे.

लोकसभा चुनाव 2024 सात चरणों में होंगे, जो 19 अप्रैल से शुरू होकर 1 जून को समाप्त होंगे. परिणाम 4 जून को घोषित किए जाएंगे.

(एएनआई इनपुट के साथ)


यह भी पढ़ेंः ‘ऊपर वाले लोगों के कारण मिले वोट’ — बिहार सांसद अजय निषाद ने टिकट से इनकार के बाद छोड़ी BJP


 

share & View comments