Monday, 27 June, 2022
होमराजनीतिमिजोरम में बोले राहुल, देश के लोकतंत्र को ध्वस्त करना चाहते हैं भाजपा-आरएसएस

मिजोरम में बोले राहुल, देश के लोकतंत्र को ध्वस्त करना चाहते हैं भाजपा-आरएसएस

कांग्रेस अध्यक्ष का मोदी पर हमला, कहा, 'गुजरात से लाया गया उनका साथी करोड़ों रुपये की उगाही कर रहा है. लोकतंत्र रो रहा है.'

Text Size:

चंफाई(मिजोरम): कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को यहां कहा कि ‘विभाजनकारी विचारधारा’ वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)-राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) देश के लोकतांत्रिक ढांचे को तबाह करने के लिए अपने लोगों को सरकारी संस्थानों में भेज रहे हैं.

राहुल ने यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि भगवा पार्टी मिजोरम नेशनल फ्रंट जैसे स्थानीय संगठनों के जरिए मिजोरम में प्रवेश करने की योजना बना रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा-आरएसएस जानते हैं कि वे 2019 आम चुनाव में जीत हासिल नहीं करने वाले हैं.

राहुल ने कहा, ‘वे जानते हैं कि वे (भाजपा) अगला चुनाव नहीं जीतने वाले हैं. न केवल मिजोरम में, बल्कि पूरे भारत में. वे लोग राजभवनों, सीबीआई आरबीआई, ईसीआई में अपने लोग भर रहे हैं, ताकि लोकतांत्रिक संस्थानों पर हमला किया जा सके. इसके पीछे विचार यह है कि अगर वे हार भी गए तो भी इन संस्थानों में उनके लोग होंगे.’

उन्होंने राफेल सौदे से संबंधित मौजूदा विवादों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने कांग्रेस शासन में तय कीमतों से ज्यादा कीमत में लड़ाकू विमान खरीदे.

राहुल ने कहा कि कांग्रेस विभिन्न लोगों, विभिन्न भाषाओं में सौहार्द्र की विचारधारा और समावेशिता पर विश्वास करती है. कांग्रेस भाजपा-आरएसएस की एक ही तरह की विचारधारा को पूरे देश में लागू करने नहीं देगी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा, ‘वे विभिन्न संस्कृतियों और भाषाओं के लोगों को बांटना और एक-दूसरे से लड़वाना चाहते हैं.’

राहुल ने यह भी दावा किया कि 10 वर्षों के कांग्रेस के शासनकाल में मिजोरम में प्रति व्यक्ति आय दोगुनी हुई है. मिजोरम में 2008 से कांग्रेस की सरकार है और यहां 28 नवंबर को चुनाव होने वाले हैं.

‘चौकीदार चोर है’ नामक क्राइम थ्रिलर चल रहा

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को सरकारी अधिकारियों पर सीबीआई के कामकाज में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया. ताजा आरोप यह है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने एक मामले में दखल देने की कोशिश की थी. राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला जारी रखते हुए मंगलवार को ट्वीट किया, ‘दिल्ली में ‘चौकीदार चोर है’ नामक एक क्राइम थ्रिलर चल रहा है.

उन्होंने कहा, ‘नए एपिसोड में सीबीआई के डीआईजी ने एक मंत्री, एनएसए, विधि सचिव और कैबिनेट सचिव के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं.’

सर्वोच्च न्यायालय में सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने डोभाल सहित सरकार के शीर्ष अधिकारियों पर आरोप लगाए हैं कि सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ जांच में उन सभी ने दखल की थी.

राहुल ने कहा, ‘गुजरात से लाया गया उनका साथी करोड़ों रुपये की उगाही कर रहा है. अफसर थक गए हैं. भरोसा टूट चुका है. लोकतंत्र रो रहा है.’

सीबीआई अधिकारी एमके सिन्हा ने डोभाल व केंद्रीय सर्तकता आयुक्त केवी चौधरी पर अस्थाना के खिलाफ जांच में दखल देने के आरोप लगाए हैं. इसके बाद राहुल ने यह ताजा हमला किया है. अस्थाना रिश्वत के आरोपों का सामना कर रहे हैं.

अस्थाना मामले की पहले जांच कर रहे डीआईजी रैंक के अधिकारी सिन्हा को अचानक केंद्र सरकार ने नागपुर स्थानांतरित कर दिया. सिन्हा ने यह भी आरोप लगाया है कि केंद्रीय कोयला व खदान राज्य मंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी को कुछ करोड़ रुपये दिए गए हैं.

share & View comments