Sunday, 3 July, 2022
होमराजनीतिकेजरीवाल से बातचीत में दिल्ली के व्यापारियों ने दिए कई सुझाव, मेट्रो खोलने और बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर की मांग भी की

केजरीवाल से बातचीत में दिल्ली के व्यापारियों ने दिए कई सुझाव, मेट्रो खोलने और बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर की मांग भी की

एक व्यापारी ने मेट्रो रेल सर्विस सेवा करवाने की मांग करते हुए कहा, 'बस में सिर्फ़ 20 प्रतिशत लोग बैठ सकते हैं. सफ़र में की दिक्कत की वजह से 2-3 घंटे पहले दुकान बढ़ानी पड़ती है. मेट्रो चलवाई जाए.'

Text Size:

नई दिल्ली: दिल्ली के व्यापारियों ने राष्ट्रीय राजधानी के व्यापार को पटरी पर लाने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कई सुझाव दिए हैं. कोरोना महामारी से अर्थव्यवस्था को लगे गहरे धक्के से ऊबारने के लिए व्यापारियों ने मेट्रो और होटल खोलने से लेकर बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर और समन्वय समिति बनाने जैसी कई बातें मुख्यमंत्री के सामने रखीं.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने डिजिटल संवाद के माध्यम से दिल्ली के व्यापारियों से बात की. इस संवाद में व्यापारियों के साथ दिल्ली की अर्थव्यवस्था में सुधार के उपायों पर चर्चा हुई. इस दौरान उन्होंने दावा किया, ‘दिल्ली में कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर काफ़ी बेहतर नियंत्रण है. पिछले हफ्ते उद्योगपतियों के साथ मीटिंग में मुझे जो सुझाव मिले उनको लेकर आने वाले दिनों में बड़ी घोषणाएं होंगी.’

एक दिन में आए 1450 नए मामले

बता दें एक तरफ जहां दिल्ली सरकार और व्यापारी संघ बाजार, मेट्रो को खोले जाने को लेकर चर्चा कर रहे थे उसी बीच दिल्ली में 24 घंटे में दिल्ली में कोरोनावायरस के 1450 नए मामले सामने आए हैं. और 16 लोगों की मौत दर्ज की गई है.

इसी के साथ दिल्ली में कोरोना कुल संक्रमितों की संख्या 1,61,466 हो गई है. हालांकि रविवार को 1250 लोगों को डिस्चार्ज भी किया गया. कोरोनावायरस से राजधानी में अब तक कुल 4300 लोगों की मौत हो चुकी है. अभी 11778 सक्रिय मामले हैं. वहीं बीमारी से स्वस्थ्य होने वालो की संख्या 1,45,388 हैं.

इस दौरान मुख्यमंत्री को दी गई सलाहों में ख़ान मार्केट के अध्यक्ष संजीव मेहरा ने कहा, ‘एक समन्वय समिति बनाए जाने की ज़रूरत है. एनडीएमसी और व्यापारियों के बीच समन्वय नहीं बन पाता. दिल्ली सरकार समिति में होगी तो एनडीएमसी जल्दी बात सुनेगी.’ ख़ान मार्केट का इलाका सीएम केजरीवाल के ही विधानसभा क्षेत्र में आता है. मेहरा को जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘आपकी समिति तो मैं ही हूं. जो भी दिक्कत होगी मैं दूर करवा दूंगा.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

वहीं, चांदनी चौक मार्केट के अध्यक्ष संजय भार्गव ने कहा कि दिल्ली में मार्केट का इंफ्रास्टक्चर बहुत ख़राब है जिसकी वजह सोशल डिस्टेंसिंग संभव नहीं है. इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान काम नहीं होने और वर्तमान में कई बार 4-5 दिनों तक बिक्री नहीं होने का हवाला देते हुए उन्होंने बिजली बिल में फिक्स्ड चार्ज माफ़ किए जाने की मांग की.

एक व्यापारी ने मेट्रो रेल सर्विस सेवा करवाने की मांग करते हुए कहा, ‘बस में सिर्फ़ 20 प्रतिशत लोग बैठ सकते हैं. सफ़र  की दिक्कत की वजह से 2-3 घंटे पहले दुकान बढ़ानी पड़ती है. मेट्रो चलवाई जाए.’ इसके जवाब में सीएम ने कहा, ‘केंद्र से मेट्रो खोलने की अपील की है. धीरे-धीरे करके मेट्रो खोलने की इजाज़त मिलने की उम्मीद है.’ मुख्यमंत्री से इस संवाद के दौरान महिला उद्यमी मिनाक्षी दत्त ने कहा कि महिला उद्यमियों की शिकायतों व सुझाव के लिए एक सेल बनाया जाना चाहिए.


य़ह भी पढ़ें: लॉकडाउन में किताबों की बिक्री न होने के बावजूद हिंदी पब्लिशर्स ने एक भी कर्मचारी को नहीं निकाला, ई-बुक्स पर ज़ोर देने की तैयारी


दिल्ली में दोबारा लॉकडाउन नहीं

वहीं, एक अन्य महिला उद्यमी ने कहा कि इस महामारी का इवेंट इंडस्ट्री और हॉस्पिटैलिटी पर सबसे ज़्यादा प्रभाव पड़ा है. होटल खोले जाएं ताकि इस इंडस्ट्री के लोगों थोड़ी राहत मिले. इनके जवाब में सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘जब से लॉकडाउन खुला तब से दिल्ली में दोबारा लॉकडाउन नहीं लगा. होटल और वीकली बाज़ार भी खोल दिए गए हैं.’

इसके अलावा दिल्ली मार्बल एसोसिएशन के प्रेज़िडेंट प्रवीण गोयल ने कहा कि दिल्ली में मार्बल की 1000 से अधिक दुकानें हैं जिनसे 1 लाख़ से ज़्यादा लोगों को रोज़गार मिलता है. गोयल ने शिकायत की कि मार्बल का कोई एक मार्केट नहीं है. उन्होंने दिल्ली सरकार से इसके लिए 100 एकड़ ज़मीन देने की मांग की.

सदर बाज़ार प्रेज़िडेंट राकेश यादव ने इस बाज़ार को दिल्ली की रीढ़ की हड्डी है बताते हुए कहा कि यहां 40,000 दुकानें हैं. उन्होंने कहा, ‘हाल ही में चांदनी चौक का जैसा विकास हुआ, उसी तर्ज पर पुरानी दिल्ली के अन्य इलाकों का विकास हो. सदर में मेट्रो के काम को आगे बढ़ाया जाए. रोड और ड्रेनेज सिस्टम पहले से बेहतर हो.’ इसके जवाब में सीएम ने कहा कि चांदनी चौक पायलट प्रोजेक्ट था. दिल्ली के बाकी इलाकों को भी इसी की तर्ज पर विकसित किया जाएगा.

व्यापारियों को पूरे समर्थन का भरोसा दिलाते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘इसके पहले शायद ही ऐसा हुआ होगा लेकिन हमने डीज़ल के रेट 8 रुपए कम किए. सर्कल रेट को लेकर भी कई तरह के सुझाव हैं हम इसको भी ठीक करेंगे.’ उन्होंने दावा किया कि दिल्ली सरकार ने जो रोज़गार बाज़ार शुरू किया है उसका जबरदस्त रेस्पॉन्स है. इससे व्यापारियों और काम खोज रहे लोगों में तालमेल बन रहा है.


य़ह भी पढ़ें: रणनीति पर सवाल उठने के बावजूद, कोविड प्रभावित 5 सबसे बड़े राज्यों के मुक़ाबले, दिल्ली में ज़्यादा होते हैं एंटिजेन टेस्ट


उन्होंने कहा, ‘8-9 हज़ार कंपनियों ने रजिस्टर किया और लाख़ों नौकरियां पोस्ट की और लाख़ों को काम मिल रहा है.’

share & View comments