Friday, 27 May, 2022
होमराजनीति‘यूपी में का बा’—भोजपुरी गायिका नेहा राठौर की भाजपा सांसद रवि किशन के साथ छिड़ी सॉन्ग वार

‘यूपी में का बा’—भोजपुरी गायिका नेहा राठौर की भाजपा सांसद रवि किशन के साथ छिड़ी सॉन्ग वार

राठौर ने ‘यूपी में का बा’ बोल के साथ अपने गाने में कोविड से मौतों और हाथरस ‘बलात्कार और हत्या मामले’ जैसे मुद्दों पर योगी सरकार की आलोचना की है. उनका यह वीडियो रवि किशन के ‘यूपी में सब बा’ गाने के जवाब में आया है.

Text Size:

नई दिल्ली: भोजपुरी गायिका और सोशल मीडिया सनसनी नेहा सिंह राठौर का एक नया वीडियो वायरल हिट होने के साथ उनकी भाजपा सांसद और भोजपुरी अभिनेता गायक रवि किशन के साथ सॉन्ग वार छिड़ गई है. मौजूदा सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर मजाकिया अंदाज में कटाक्ष के लिए चर्चित नेहा ने इस बार योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है.

राठौर ने रविवार को अपने लोकप्रिय यूट्यूब चैनल पर नए गाने ‘यूपी में का बा’ का वीडियो अपलोड किया.

इसमें उन्होंने महामारी की दूसरी लहर के दौरान कोविड से मौतों, हाथरस ‘बलात्कार और हत्या का मामला’, केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे के काफिले द्वारा लखीमपुर खीरी में किसानों को कथित तौर पर कुचल देने की घटना के साथ-साथ अन्य तमाम मुद्दों पर यूपी सरकार की आलोचना की है.

राठौर के इस एक मिनट के ट्रैक को कई विपक्षी नेताओं और सोशल मीडिया इंफ्लूएंसर्स ने साझा किया, जो कि रवि किशन की तरफ से पांच मिनट का भोजपुरी चुनावी गीत जारी करने के कुछ घंटों बाद ही जारी किया गया था.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

भोजपुरी अभिनेता और भगवाधारी पार्टी के नेता ने ‘यूपी में सब बा’ शीर्षक वाले अपने गीत में खुद को ‘रवि किशन शुक्ला’ के तौर पर पेश किया है और भोजपुरी मतदाताओं को लुभाने के लिए आदित्यनाथ सरकार की उपलब्धियां गिनाई हैं.

रवि किशन का गाना कुछ इस तरह है, ‘योगी के सरकार बा, विकास के बहार बा, सड़क के जाल बा, काम बेमिसाल बा, अपराधी के जेल बा, बिजली रेलम रेल बा, कोरोना गइल हार बा, यूपी में सब बा.’

इन दावों पर पलटवार करते हुए राठौर ने गाया है, ‘कोरोना से लाखन मर गईल ले, लाशन से गंगा भर गईल बे, कफन नोचत कुकुर बिलार बा, ऐ बाबा, यूपी में का बा?.’

उन्होंने अक्टूबर 2021 की लखीमपुर खीरी घटना का भी जिक्र किया, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा के काफिले ने कथित तौर पर एक प्रदर्शन के दौरान चार किसानों व अन्य को कुचल दिया था. इस घटना के लिए कौन जिम्मेदार है, इस पर सवाल उठाने के लिए गायिका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘चौकीदार’ वाली छवि पर निशाना साधा.

इसके बोल हैं, ‘मंत्री के बेटुआ बड़ा रंगदार बा, किसान के छत्ती पे रौंदत मोटर कार बा, ऐ चौकीदार, बोलो के जिम्मेदार बा?’


यह भी पढ़े: बेतुके बयान, चर्चों के भीतर कलह- क्यों केरल कोर्ट ने पूर्व बिशप फ्रांको मुलक्कल को किया बरी


कौन हैं नेहा सिंह राठौर?

राठौर ने 2020 में उस समय अपने रैप सांग ‘बिहार में का बा’ के साथ सनसनी मचा दी थी जब मोदी सरकार की तरफ से पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी. यह गाना एक वायरल हिट ‘बंबई में का बा’ से प्रेरित था, जिसमें बॉलीवुड अभिनेता मनोज बाजपेयी नजर आए थे और उन्होंने प्रवासी मजदूरों के पलायन को रेखांकित किया था.

राठौर के गाने ने लाखों लोगों का दिल जीत लिया और वह देखते-देखते ऑनलाइन दुनिया में छा गईं. तबसे, उन्होंने छात्रों, प्रवासियों, महिलाओं और वंचित तबके से जुड़े लोगों पर कई गीत गाए हैं.

उनके करीब दो साल पुराने यूट्यूब चैनल के सब्सक्राइबर अब 2.86 लाख के पार पहुंच चुके हैं. फेसबुक पर उनके 3.67 लाख फॉलोअर्स हैं. उनके गीत अक्सर दहेज और शराब जैसी सामाजिक बुराइयों के खिलाफ होते हैं.

बिहार के कैमूर जिले से ताल्लुक रखने वाले नेहा राठौर बीएससी स्नातक हैं. उनके फेसबुक बायो में लिखा है, ‘भोजपुरी का सम्मान बहाल करने के लिए लड़ना, जिसे फिल्मी गानों ने चोट पहुंचाई है.’

यह पहली बार नहीं है जब राठौर ने कोई चुनावी गीत गाया है. कुछ महीने पहले उनके गाने ‘उत्तर प्रदेश में चुनाब आए पास’ और ‘जुमलेबाज़ रऊज’ ने भी ध्यान आकृष्ट किया था.

 

 

(इस खबर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़े: UP चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ सरकार क्यों छोड़ रहे हैं मंत्री, ये हैं 5 कारण


share & View comments