Thursday, 30 June, 2022
होमराजनीति'मुझपर भरोसा रखना, मेरी नीयत खराब नहीं,' जीत के बाद बोले पंजाब के होने वाले मुख्यमंत्री भगवंत मान

‘मुझपर भरोसा रखना, मेरी नीयत खराब नहीं,’ जीत के बाद बोले पंजाब के होने वाले मुख्यमंत्री भगवंत मान

संगरूर में जनता से बात करते हुए सीएम कैंडीडेट  भगवंत मान और उनकी मां हरपाल कौर ने पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों का अभिवादन करते हुए भावुक हो गए.

Text Size:

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के बाहर पंजाब में भी अपनी झाड़ू चला दी है. पिछले दिनों पंचायत चुनाव में अपनी धमक दिखा चुकी आप अब विधानसभा चुनाव में बड़ी पार्टी बनकर उभरी है बल्कि बहुमत के आंकड़े से भी बहुत आगे निक चुकी है. आप के मुख्यमंत्री कैंडिडेट भगवंत मान ने 45 हजार वोटों से रिकॉर्ड जीत दर्ज की है.

संगरूर में आप के भगवंत मान ने कहा कि पार्टी ने पंजाब में जीत हासिल की है. जीत के बाद भगवंत मान ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि हमें मिलकर पंजाब चलाना है, पहले पंजाब बड़े-बड़े दरवाजे वालों घरों से चलता था परन्तु आज के बाद पंजाब गांवों से चलेगा, वार्डों से चलेगा, शहरों से चलेगा.

भगवंत मान ने कहा कि चुनाव के दौरान और उससे पहले विरोधी पार्टियों के नेताओं ने अरविंद केजरीवाल और मुझपर निजी टिप्पणी की गई, ग़लत शब्दों का इस्तेमाल किया. उनकी शब्दावली उन्हें मुबारक हो. उन्हें माफ कर दीजिए लेकिन आगे से सबको पंजाब के पौने तीन करोड़ पंजाबियों की इज़्ज़त करनी पड़ेगी.

पंजाब विधानसभा चुनावों के रुझानों में आम आदमी पार्टी 117 में से 89 सीटों पर आगे चल रही है.

लोगों को संबोधित करते हुए भगवंत मान ने कहा कि पंजाबियों को बहुत बहुत धन्यवाद, उनका भी धन्यवाद जो दुनियाभर में हैं, जो आ नहीं सके. लेकिन किसी न किसी तरह से मदद की. भगवंत मान ने आगे कहा, ‘मैं मुख्यमंत्री पूरे पंजाब का बनूंगा. पहली कलम बेरोजगारी दूर करने के लिए चलेगी. लीडरों का काफिला खत्म होगा.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

भगवंत मान ने अपनी विक्ट्री स्पीट में कहा कि मुझपर भरोसा रखना. मेरी नीयत खराब नहीं है. धीरे-धीरे पंजाब की गाड़ी पटरी पर लाएंगे. 1 महीने में आपको फर्क दिखना शुरू हो जाएगा. पहला फैसला ये लूंगा कि किसी सरकारी दफ्तर में सीएम की नहीं भगत सिंह और बाबा साहेब अंबेडकर की फ़ोटो होगी.

उन्होंने आगे कहा कि बड़े बादल हार गए हैं यही नहीं सुखबीर बादल जलालाबाद से हार गए हैं. कैप्टन साहब पटियाला से हार गए. सिद्धू और मजीठिया दोनों हार रहे हैं. चन्नी साबह दोनों सीटों से हार गए हैं.

संगरूर में जनता से बात करते हुए सीएम कैंडीडेट  भगवंत मान और उनकी मां हरपाल कौर ने पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों का अभिवादन करते हुए भावुक हो गए.

बता दें कि  भगवंत मान का शपथ ग्रहण समारोह भी राजभवन की जगह शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़ कलां में होगा.  भगवंत मान दूसरी बार लोकसभा पहुंचे हैं. वह संगरूर सीट से सांसद हैं. धुरी विधानसभा सीट इसी क्षेत्र में आती है. इस विधानसभा सीट में 74 गांव हैं. चुनाव आयोग के आंकड़ों की बात करें तो यहां कुल 1,38,461 मतदाता हैं. इस लिहाज से कहा जा सकता है कि विधानसभा क्षेत्र बहुत बड़ा नहीं है.


यह भी पढ़े: केजरीवाल बने इस नन्हें बच्चे ने जीत लिया सबका दिल, पीली पगड़ी और गले में पहना मफलर


share & View comments