scorecardresearch
Tuesday, 16 July, 2024
होमराजनीति'जिनको केजरीवाल ने ईमानदारी का सर्टिफिकेट दिया वो जेल में हैं', अनुराग ठाकुर ने AAP पर साधा निशाना

‘जिनको केजरीवाल ने ईमानदारी का सर्टिफिकेट दिया वो जेल में हैं’, अनुराग ठाकुर ने AAP पर साधा निशाना

केजरीवाल ने कहा, "संजय सिंह की गिरफ्तारी पूरी तरह से अवैध है. यह मोदी जी की घबराहट को दिखा रही हैं. वे चुनाव तक कई और विपक्षी नेताओं को गिरफ्तार करेंगे."

Text Size:

नई दिल्ली: केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कहा कि, “जिन लोगों को केजरीवाल ने ईमानदारी का सर्टिफिकेट जारी किया, वे जेल में हैं.”

अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि, “केजरीवाल अगले नंबर पर हो सकते हैं”.

ठाकुर ने आगे कहा कि, लोग अरविंद केजरीवाल पर हंस रहे हैं और उनके चेहरे का तनाव देख रहे हैं. जिसके उपमुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, शिक्षा मंत्री जेल में हो. लेकिन किंगपिन बाहर है, किंगपिन का नंबर भी आएगा. जिस-जिस को अरविंद केजरीवाल ईमानदारी का सर्टिफिकेट बांटते रहे वे 1 साल से जेल में हैं.

छत्तीसगढ़ CM भूपेश बघेल के बयान पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “जिस व्यक्ति का दामन साफ न हो. जिसपर शराब घोटाले से लेकर कोयले की दलाली तक न जाने कौन-कौन से आरोप लगे. राजस्थान और छत्तीसगढ़ दो ऐसे राज्य हैं जहां CM के करीबी अधिकारियों के पास से करोड़ों रुपए पकड़े गए, उन्हें तो शर्म से ही इस्तीफा दे देना चाहिए.”

इस बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिंह की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए दावा किया कि यह लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा की घबराहट को दर्शाता है.

केजरीवाल ने कहा, “संजय सिंह की गिरफ्तारी पूरी तरह से अवैध है. यह मोदी जी की घबराहट को दिखा रही हैं. वे चुनाव तक कई और विपक्षी नेताओं को गिरफ्तार करेंगे.”

आप सांसद की गिरफ्तारी पर इंडिया गठबंधन के नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की.

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता मनोज झा ने कहा, “यह ईडी नहीं है जिसने संजय सिंह को गिरफ्तार किया है, उन्हें भाजपा की इकाई ने गिरफ्तार किया है जिसमें ईडी-आईटी-सीबीआई शामिल है. काले दिन शुरू हो गए हैं. इस युग में तानाशाही का, जो डर गया वो मर गया. तानाशाह खुद डरे हुए हैं. इस डर का जल्द ही बदला लिया जाएगा.” आप भी सिंह की गिरफ्तारी के विरोध में गुरुवार को भाजपा मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी में है.

इस बीच सुप्रीम कोर्ट आज शराब नीति अनियमितता मामले में आप नेता मनीष सिसौदिया की जमानत याचिका पर सुनवाई करेगा.

आज की सुनवाई में ईडी सुप्रीम कोर्ट के उस सवाल का जवाब देगी कि इस मामले में किसी राजनीतिक दल को आरोपी क्यों नहीं बनाया गया, जबकि राजनीतिक दल को इसका लाभार्थी बताया जा रहा है.


यह भी पढ़ें: ‘बीते 3 सालों में BJP कमजोर क्यों हुई?’ उमा भारती बोलीं- पार्टी को MP जीतने के लिए छवि सुधारने की जरूरत


share & View comments