scorecardresearch
Friday, 19 July, 2024
होमराजनीतिनगर निगम चुनाव में केजरीवाल की भारी जीत के बाद फिर बोले चन्नी- पंजाब में बाहरी लोगों की जरूरत नहीं

नगर निगम चुनाव में केजरीवाल की भारी जीत के बाद फिर बोले चन्नी- पंजाब में बाहरी लोगों की जरूरत नहीं

रोहनो कलां गांव में खेल के मैदान और पंचायत भवन का उद्धाटन करने आए चन्नी ने कहा, 'गर्व से भरे पंजाबी केजरीवाल जैसे बाहरी व्यक्ति को खुद पर कभी शासन नहीं करने देंगे.'

Text Size:

रोहनो कलां (पंजाब): चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में आम आदमी पार्टी की जबरदस्त जीत के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख अरविंद केजरीवाल को पंजाबियों को हल्के में नहीं लेना चाहिए और उन्हें समझना चाहिए कि वे अपने राज्य का शासन चलान में सक्षम हैं और उन्हें किसी ‘बाहरी’ की जरूरत नहीं है.

एक सरकारी बयान के अनुसार, खन्ना के पास रोहनो कलां गांव में खेल के मैदान और पंचायत भवन का उद्धाटन करने आए चन्नी ने कहा, ‘गर्व से भरे पंजाबी केजरीवाल जैसे बाहरी व्यक्ति को खुद पर कभी शासन नहीं करने देंगे.’

चन्नी ने कहा कि उनकी सरकार आम लोगों के एजेंडे को लागू कर रही है जबकि केजरीवाल जैसे लोग ‘दिल्ली की आम जनता की बेहतरी के लिए काम करने की जगह पंजाब के लोगों के लिए चांद-तारे लाने का वादा कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘केजरीवाल पंजाब के लोगों के सामने सिर्फ झूठ का पुलिंदा खोलने में अच्छे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यह वही केजरीवाल हैं जिन्होंने 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले गारंटी दिया था कि वह (शिअद नेता) बिक्रम सिंह मजीठिया को मादक पदार्थ तस्करों के साथ संबंधों को लेकर जेल भिजवाएंगे.’

उन्होंने कहा, ‘और जब पंजाब में आप सरकार नहीं बना सकी तो, इन्हीं केजरीवाल ने अदालत में मजीठिया से बिना शर्त माफी मांगी थी, वह भी आप के लेटरहेड पर. मादक पदार्थों के कारण अपने बच्चों को खोने वाले परिवार केजरीवाल को कभी माफ नहीं करेंगे.’

चन्नी ने कहा कि उनकी सरकार ने प्रक्रिया शुरू कर दी है और ना सिर्फ मजीठिया के खिलाफ मामला दर्ज किया है बल्कि छापे भी पड़ रहे हैं.

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और बिक्रम सिंह मजीठिया के बीच का ‘चाचा-भतीजे’ का संबंध अब सबको पता है क्योंकि पूर्व मुख्यमंत्री अकाली नेता के पक्ष में बयान जारी कर रहे हैं.

मोगा में एक अन्य कार्यक्रम में चन्नी ने जनता को आश्वासन दिया कि पूर्ववर्ती शिअद-भाजपा गठबंधन सरकार को ‘दशक लंबे कुशासन’ और लोगों को धोखा देने के लिए जवाबदेह बनाया जाएगा.

बता दें कि हाल ही में हुए चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा जबकि आप सबसे बड़ी पार्टी के रूप में जीतकर आई.

आप को कुल 35 सीटों में से 14 सीटों पर जीत मिली, जबकि बीजेपी को 10 और कांग्रेस को सिर्फ 8 सीटों पर जीत मिल सकी. खास बात यह है कि इस वक्त नगर निगम पर बीजेपी का कब्जा है. पिछले चुनाव में उसे 20 सीटें मिली थीं जबकि राज्य में कांग्रेस की सरकार है. ऐसी स्थिति में दोनों ही पार्टियों के लिए यह अलार्मिंग कंडीशन है. आम आदमी पार्टी के दमनप्रीत सिंह ने बीजेपी के मेयर रविकांत शर्मा को हरा दिया था.


यह भी पढ़ेंः ‘जनता ने हमारा भव्य स्वागत किया, ‘चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में AAP को मिली बढ़त पर बोले मनीष सिसोदिया


 

share & View comments