scorecardresearch
Tuesday, 25 June, 2024
होममत-विमतअपने बॉयफ्रेंड्स को लेकर साफ है सुष्मिता सेन का नजरिया, ललित मोदी कहां तक फिट बैठेंगे

अपने बॉयफ्रेंड्स को लेकर साफ है सुष्मिता सेन का नजरिया, ललित मोदी कहां तक फिट बैठेंगे

क्या किसी को परवाह है कि सुनक यूके के अगले पीएम बनेंगे या नहीं? हम बस इतना जानना चाहते हैं कि सुष्मिता सेन और ललित मोदी की शादी की तारीख क्या है, संगम होगा कि नहीं.

Text Size:

दोनों बड़ी लीग के खिलाड़ी हैं- इंडियन प्रीमियर लीग ऑफ रोमांस. लेकिन अरे, मुझे श्राप लग जाएगा. सोचा था कि मैंने मीडिया/शोबिज में सब-कुछ देखा है, सिवाय इसके कि सुपर खिलाड़ी ललित मोदी के ‘प्यारे’ ट्वीट ने मुझ सनकी बुढ़िया को भी चौंका दिया. उनके साथी को पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन के रूप में पहचाना गया और आधिकारिक तौर पर घोषित कर दिया कि दोनों साथ में हैं. क्या..? इसने अखबारों, मित्रों और परिचितों को झकझोर कर रख दिया— यहां तक कि पूरी तरह से अजनबियों को भी.

ललित ने अपने जीवन में सुष्मिता की भूमिका का जिक्र हैशटैग (#betterhalf) के साथ किया. यहां के लोग इस शब्द का मतलब ‘पत्नी’… ‘धर्म पत्नी’ समझते हैं. माफ करना! हम गलत थे. उन्होंने जिस महिला का जिक्र किया था, उनका तुरंत अपने ट्वीट के साथ जवाब आ गया: ‘नो रिंग, नो मैरिज’. शर्मीले, नए-नवेले बीएफ ने तुरंत ‘जस्ट डेटिंग’ ट्वीट के साथ अपनी स्थिति साफ कर दी. हममें से बाकी लोगों ने कहा, ‘हुह?’ क्या आप इसे प्यार नहीं करते हैं? उनकी मसालेदार कहानी मानसून में भीगी एक प्रेम कहानी जैसी है- एक ड्रिपी प्रेम कहानी. मेरे लिए भुना हुआ भुट्टा लाओ, जल्दी! उन ट्वीट्स को डिकोड करते हुए, मानना होगा कि पहला फास्ट एंड फ्यूरियस टी-20 मैच सुष्मिता के पाले में देना होगा: यहां एक महिला है जो साफ तौर से अपने सभी विकल्प खुले रखती है. क्यों नहीं? कौन जानता है कि लंदन के लिए प्रथम श्रेणी में उड़ान भरते हुए उनके पास कौन बैठा होगा? क्या अभी भी एलन मस्क को देख रहे हैं?

किशोरों की तरह चोंच से चोंच मिलाते इन दो सेलिब्रिटी लव बर्ड्स की एकदम ब्रांड नई प्रेम कहानी, अचानक से अपने अनियंत्रित हार्मोनल का अनुभव करा रही है, जिसने देश को बेवजह परेशान कर दिया है. पिछले तीन दिनों से मोदी (अरे बाबा-कोई और मोदी नहीं, ललित … शांत हो जाओ) पर बनने वाले वाइल्ड मीम्स के इस जश्न ने अन्य सभी खबरों को एक तरफ कर दिया और इसे कचरे के ढेर ने उन्हें दबा दिया. मेरा मतलब है, क्या किसी को वास्तव में परवाह है कि सुनक अगले ब्रिटिश पीएम बनेंगे या नहीं? हम बस यही जानना चाहते हैं- शादी की तारीख क्या है, संगम होगा कि नहीं.


यह भी पढ़ें: मोदी-BJP चाहती है कि मुसलमान उनकी शर्तों पर चलें, राजनीतिक चुनौती देने के लिए 3 शर्तें जरूरी


सुष्मिता ने हाल ही में स्वीकार किया था कि वह तीन संभावित पतियों के साथ करार करने के करीब पहुंच गईं थीं. चैनल 4 पर निक्की बेदी के चैट शो में ब्रिटिश टीवी प्रजेंटर ने तब हाल ही में बनी इस सुंदरी विजेता से पूछा था, ‘आप एक आदमी में क्या देखती हैं?’ और एक पल भी गवाएं 18 साल की सुष्मिता ने जवाब दिया था, ‘उसे बिस्तर पर अच्छा होना चाहिए.’ अब जिम जाओ ललित! यह मान लेना महफूज रहेगा कि देश में रहने वाला उनका प्रेमी रोहमन शॉल, एक दावेदार नहीं था. मुझे सुष्मिता की समझदारी और प्राथमिकताएं पसंद हैं- उनके बॉयफ्रेंड निर्धारित बॉयफ्रेंड के कम्पार्टमेंट में ही रहते हैं, उनकी जगह नहीं बदलती लेकिन बॉयफ्रेंड जरूर बदलते रहते हैं. मुझे अभी भी यकीन नहीं है कि ललित किस कम्पार्टमेंट में फिट बैठते हैं. इसे कुछ इस तरह से देखें, स्वर्ग में बनी एक जोड़ी- सुष्मिता सेन (46) और ललित मोदी (56)- जिनके मामले में प्रचार के लिए स्टार बिलिंग महत्वपूर्ण है: ललित से पहले सुश.

आप उन्हें ‘ऑड कपल’ कह सकते हैं लेकिन सबटेक्स्ट जरूर पढ़ें. आखिर, इतना अजीब भी नहीं, वेब सीरीज आर्या की सफलता के बावजूद सुष्मिता के पास ऑफर्स की बाढ़ नहीं आई है. उन्हें अब एक ‘वयोवृद्ध’ स्टार के रूप में जाना जाता है, जो उनके स्टेटस को कम कर देता है- ऑटोमेटिकली उनकी स्थिति को ‘फेडिंग-इन-द-फर्ममेंट’ स्तर तक कम कर देती है.

ललित के लिए… वह अपने जीवन के इस पड़ाव पर रन आउट होने के लिए काफी अनुभवी हैं. वह उस्तादों के उस्ताद के रूप में जाने जाते हैं. तो क्या हुआ अगर उन्हें अपना जीवन एक अस्वीकार्य व्यक्ति के रूप में बिताना पड़े और वह भारत वापस नहीं आ सके? सुष्मिता और ललित के बीच, उनके पांच बच्चे हैं- सुष्मिता की दो गोद ली बेटियां और ललित की तीन. दो बेटियां उनकी दिवंगत पत्नी मीनल (जिनका 2018 में 64 साल की उम्र में निधन हो गया) से हैं और एक बेटी मीनल की पिछली शादी से. एक रिकॉर्ड के मुताबिक, मीनल की पिछली शादी से एक नाइजीरियाई-भारतीय व्यवसायी से एक बेटी थी. गौरतलब है कि ललित ने मीनल की कैंसर से मौत के बाद उन्हें एक प्यारी और भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की थी. ‘माई लाइफ, माई सोलमेट…’ और ‘मैं आपको पूरे दिल से प्यार करता हूं…’ के साथ खत्म होती है. खैर, वही दिल अभी के लिए…उन्होंने सुष्मिता सेन के लिए गिरवी रखा है.

ऐसा कहने के लिए मुझ पर हमला न करना लेकिन इस रोमांस में कुछ हटकर लग रहा है. एक पब्लिसिटी स्टंट? लेकिन इसकी ज्यादा जरूरत किसे है? शीघ्र ही एक बिजनेस एसोसिएशन की घोषणा की जाएगी? ऐसा संभव है. सुष्मिता एक बहुत ही हाई मेंटेनेंस लेडी हैं, जो उनके खुद के हाइपर लक्स सोशल मीडिया पोस्ट से जाहिर होता है.


यह भी पढ़ें: श्रीलंका संकट बहुसंख्यक-अल्पसंख्यक नहीं, भ्रष्टाचार और राजपक्षे परिवार की लालच का नतीजा


हां, वह अपनी यहां से वहां जाने की आदतों से प्यार करती है- जितना बड़ा उतना अच्छा. उन्होंने अपनी बेटियों को सिंगल मदर के रूप में पाला है लेकिन आगे जाकर उन्हें आर्थिक रूप से सुरक्षित होने की जरूरत होगी. वह बिंदास तरीके से आजाद और अपनी शर्तों पर जीवन जीने के लिए जानी जाती हैं. ट्रेडिशनल वाइफ मैटेरियल, क्या ऐसा है, नहीं न. तो फिर, क्या उंची-उड़ान वाले ललित एक ‘पारंपरिक’ पत्नी की तलाश में हैं जो उनके दोस्तों के लिए सुरुचिपूर्ण दावत की मेजबानी करेगी? या क्या वह एक हाई-प्रोफाइल मिस यूनिवर्स ‘ट्रॉफी पत्नी’ की तलाश में है, जिसके साथ जाते हुए वह इठला सकें, क्योंकि उन्हें जेट से विलासिता भरी आर और आर सफर करने का शौक है? यॉट-होपिंग उनकी और सुष्मिता दोनों की पसंद है. फिर भी, यह देखते हुए कि उन्होंने उस महत्वपूर्ण, महाकाव्य ट्वीट में उनके इंस्टा हैंडल को गलत पाया, जब वह अपने नए रिश्ते के साथ सार्वजनिक हुए, तो संदेह करने वालों को संदेह तो होगा! साथ में उनकी उन पुरानी तस्वीरों के बारे में क्या? उन्हें भूल जाओ … सुश बहुत से प्रभावशाली पुरुष को जानती हैं और ललित बहुत सारी आकर्षक महिलाओं को.

तुरंत वायरल होने वाले कुछ मीम्स के अनुसार, सुष्मिता की लव लाइफ से कई लोगों को जलन होती है- शादी के प्रस्ताव वाले नामों को असामान्य पात्रों की लॉन्ड्री सूची की तरह पढ़े जाते हैं. इसकी तुलना क्रिकेट इलेवन से करने वालों ने ललित मोदी को बारहवां व्यक्ति बताया. ऐसा नहीं है कि इसमें से कोई भी परेशान करने वाला है. और चूंकि हर कोई एक प्रेम कहानी पर झूम उठता है, जो सुखद अंत के साथ आती है, यहां ‘सुशला’ को शुभकामनाएं, उस सारे ड्रामा और उत्साह के लिए, जिसके वे हकदार हैं. जिंदगी बहुत ही बकवास है यार… मजा करो! एक मामूली हाथ से बुने हुए शॉल से लेकर कश्मीरी कार्डिगन तक…वह हमारी सुश है!

ओह … लेकिन … ‘कृपया मेरे एसएमएस का जवाब दें’ ललित. व्याकरण पर ध्यान न दें.

(लेखिका स्तंभकार, सामाजिक टिप्पणीकार, पत्रकार और ओपीनियन-शेपर हैं. उन्होंने 20 किताबें लिखी हैं. उनका ट्विटर @DeShobhaa है. व्यक्त विचार निजी हैं)

(इस लेख को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: मोदी सरकार अमेरिका और फ्रांस से सीखे, भारत के रक्षा क्षेत्र में प्राइवेट कंपनियों को बढ़ावा देने की जरूरत


 

share & View comments