Wednesday, 17 August, 2022
होममत-विमतअंडे खाने से डायबिटीज होती है? नए अध्ययन में जताया गया खतरा लेकिन हकीकत कुछ और ही है

अंडे खाने से डायबिटीज होती है? नए अध्ययन में जताया गया खतरा लेकिन हकीकत कुछ और ही है

अंडे हैं सबसे पौष्टिक आहार, उनमें उम्दा किस्म का प्रोटीन, सभी जरूरी एमिनो एसिड, वीटामिन और खनिज पाए जाते है. कम कार्बोहाइड्रेट वाले भोजन में अधिक प्रोटीन वाला खाना जरूरी है.

Text Size:

दुनिया भर में लोग नाश्ते में अंडे लेना पसंद करते हैं. हम उबले, फ्राइड, पोच तरह-तरह से अंडे बनाकर खाते हैं. अंडे सबसे पौष्टिक आहार हैं. उनसे उम्दा किस्म का प्रोटीन, सभी जरूरी एमिनो एसिड, वीटामिन और खनिज मिलते हैं. यह अधिक प्रोटीन वाला भोजन वजन घटाने के लिए कम कार्बोहाइड्रेट वाला खाना खा रहे लोगों के लिए बेहद जरूरी है जो ग्लूकोज, इंसुलिन वगैरह संतुलित करता है और मांसपेशियों को बनाने में मदद करता है.

हालांकि कई राष्ट्रीय न्यूज मीडिया में एक हालिया रिपोर्ट में 2020 के एक अध्ययन के हवाले बताया जा रहा था कि 1991 से 2009 के बीच लिए गए आंकड़ों से अंडे से डायबिटिज होने की बहस शुरू हो गई है. चीन के करीब 8,400 वयस्क लोगों के अध्ययन से नतीजा निकला है कि हर रोज एक (50 ग्राम) या अधिक अंडे के सेवन से डायबिटिज होने का खतरा 60 प्रतिशत बढ़ जाता है.

क्या इस अध्ययन को पूरी तरह वैज्ञनिक सबूत माना जा सकता है? नहीं, वजह ये हैं.

एक, अंडे खाने से डायबिटिज के खतरे बढ़ने के संबंध को साबित करने के लिए अध्ययन बेतरतीब नमूनों पर आधारित नहीं है बल्कि योजना के तहत किया गया है. दूसरे, अध्ययन में डेटा जुटाने के लिए 3 दिन और चौबीसों घंटे भोजन के तरीके का इस्तेमाल किया गया है जिससे अमूमन भ्रामक नतीजे निकलते हैं क्योंकि लोग अधमरी जानकारी दे सकते हैं. तीसरा, 1991 से 2009 के बीच चीनी लोगों के खाने की आदतों में संक्रमण में परिस्कृत कार्बोहाइड्रेट, उच्च प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों, शुगरी ड्रिंक्स वगैरह का ध्यान नहीं रखा गया है जो सीधे इंसुलिन प्रतिरोध का कारण बनते हैं और टाइप 2 डायबटिज का खतरा बढ़ाते हैं.

इस लेख में अंडे खाने के मौजूदा सबूतों और टाइप 2 डायबटिज के खतरे बढ़ने का आकलन करने की कोशिश की गई है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पौष्टिक तत्वों की पड़ताल करें

अंडों में पौष्टिक तत्वों की भरमार होती है. एक बड़े अंडे में 6.25 ग्राम प्रोटीन, 4.74 ग्राम फैट, 0.35 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 65 कैलोरी, हमारे शरीर द्वारा न बनाए जाने वाले सभी नौ जरूरी एमिनो एसिड, विटामीन ए, डी, ई और के, विटामीन बी12, ओमेगा 3 फैट, लुटीन और कोलिन जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट, आयरन, जिंक, सेलेनियम, पोटाशियम जैसे खनिज होते हैं. अंडे किफायती होते हैं और सलाद, सूप, सब्जियों, अनाज और कई तरीकों से उसके साथ खाए जा सकते हैं. अंडों में संतुलित पौष्टिक तत्व होते हैं जो हर उम्र के लोगों के लिए आदर्श आहार हैं.

अंडे में कोलेस्ट्राल

कोलेस्ट्राल को कॉर्डियो-वैस्कुलर यानी दिल के लिए संभावित खतरे बताया जाता है. दिल की सेहत के लिए अमूमन कम कोलेस्ट्राल वाले आहार की सिफारिश की जाती है लेकिन कोलेस्ट्राल की केमिस्ट्री जितनी हम सोचते हैं, उससे ज्यादा पेचीदा है. हाल के अध्ययनों ने भोजन में कोलेस्ट्राल से खून में कोलेस्ट्राल के रिश्ते संबंधी दशकों पुराने दिशा-निर्देशों को चुनौती दी है.

अंडे की जरदी (पीला भाग) में कोलेस्ट्राल भारी मात्रा में होता है और सेहंतमंद भोजन के लिहाज से उसे निकाल देने की सलाह दी जाती रही है. अनेक अध्ययनों के आधार पर मौजूदा सबूत इस दावे का खंडन करते हैं. नए अध्ययनों के मुताबिक ऐसा कोई रिश्ता नहीं देखा गया. दरअसल कुछ अध्ययन तो यह सलाह भी देते हैं कि हर रोज एक अंडा खाने से कॉर्डियो-वैस्कुलर रोगों का खतरा घट सकता है.


यह भी पढ़ें: युवाओं को दिल का दौरा पड़ना कोई आश्चर्य की बात नहीं है, देखिए इनकी खाने की थाली में क्या है


अंडे से डायबटिज के रिश्ते के सबूत

अमेरिका में 20,703 पुरुषों और 36,295 महिलाओं पर हुए एक व्यापक अध्ययन से पता चला कि हर हफ्ते एक से सात अंडे खाने से टाइप 2 डायबटिज का खतरा बढ़ता है. इस अध्ययन में 20 साल (1992-2007) के नतीजे भी शामिल थे. हालांकि लेखकों ने यह भी लिखा कि यह साफ नहीं है कि सिर्फ अंडे खाने से टाइप 2 डायबटिज हो गया है क्योंकि अध्ययन में शामिल लोगों के भोजन की आदतों में अंडों के साथ प्रसंस्कृत गोश्त, प्रसंस्कृत अनाज, शुगरी ड्रिंक्स, फ्रेंच फ्राइ, मिठाइयां, भारी प्रसंस्कृत स्नैक्स वगैरह शुमार था. दूसरी ओर एक जापानी अध्ययन में 27,248 पुरुषों और 36,218 महिलाओं में अंडे खाने और टाइप 2 डायबटिज में कोई रिश्ता नहीं पाया गया. इसी तरह, 2016 में स्वीडेन के एक अध्ययन में 39,610 पुरुषों में टाइप 2 डायबटिज का खतरा बढ़ने का कोई संकेत नहीं मिला. ये पुरुष 15 साल से हर हफ्ते 1 से 5 या अधिक अंडे खाते रहे हैं.

बेतरतीब परीक्षणों (आरसीटी) में अंडे के खाने और टाइप 2 डायबटिज में कोई संबंध नहीं पाया गया. 42 मोटे-थुलथुले, पहले से डायबटिज और टाइप 2 डायबटिज मरीजों के बीच 12 हफ्ते के आरसीटी अध्ययन में पाया गया कि अंडे खाने वाले वर्ग में इंसुलिन प्रतिरोध में काफी गिरावट दिखी और खाली पेट खून में ग्लूकोज की मात्रा में सुधार हुआ. लेखकों ने दरअसल हर रोज एक बड़ा अंडा खाने की सिफारिश की है क्योंकि इससे लिपिड प्रोफाइल में बिना किसी दुष्प्रभाव के डायबटिज का खतरा घट सकता है. ऑस्ट्रेलिया से एक और आरसीटी अध्ययन का नतीजा है कि पहले से डायबटिज या टाइप 2 डायबटिज के मरीजों ने तीन महीने तक वजन घटाने वाले भोजन में बड़ी मात्रा में अंडों का सेवन किया और उनका छह महीने तक फॉलोअप किया गया, उनमें कम अंडे के वजन घटाने वाले आहार लेने वालों के मुकाबले दिल की सेहत में कोई नकारात्मक असर नहीं दिखा.

सुनियोजित हस्तक्षेप वाले अध्ययन अंडे खाने और टाइप 2 डायबटिज के खतरे बढ़ने के बीच संबंध तक ही सीमित रहते हैं. लंबे समय तक अंडे खाने से डायबटिज का खतरा बढ़ने की रिपोर्ट करने वाले ज्यादातर अध्ययन महामारी विज्ञान से संबंधित, आबादी आधारित शोध या एकांगी हैं जो टाइप 2 डायबटिज मेें भोजन के दूसरे तत्वों के योगदान पर गौर नहीं करते हैं.

निष्कर्ष

अंडे डायबटिज के साथ जीने वाले लोगों के संतुलित आहार में सेहतमंद खाद्य पदार्थ की तरह शामिल किए जा सकते हैं. हालांकि संतुलित मात्रा लेना अहम है. हर रोज या हर भोजन में कितने अंडे खाएं, यह व्यक्ति की जरूरतों पर आधारित है कि उसे कुल कितने प्रोटीन की दरकार है. बेहतर तो यही है कि पौष्टिकता विशेषज्ञ से सलाह ली जाए.

(डॉ. सुभाश्री राय डॉक्टोरल स्कॉलर (केटोजेनिक डाइट), सर्टिफाइड डायबटिज एडुकेटर, और क्लीनिकल तथा सार्वजनिक स्वास्थ्य पौष्टिकता विशेषज्ञ हैं. डनका ट्विटर @DrSubhasree . व्यक्त विचार निजी हैं)

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)
share & View comments