Monday, 27 June, 2022
होमलास्ट लाफचुनाव और महिला दिवस के बाद रेड कार्पेट पर चढ़ना और वोटर्स को एकजुट करना क्या है

चुनाव और महिला दिवस के बाद रेड कार्पेट पर चढ़ना और वोटर्स को एकजुट करना क्या है

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के फीचर्ड कार्टून में, संदीप अध्वर्यु तुलना कर रहे हैं कि नेता चुनाव से पहले और बाद में वोटर्स के साथ कैसा व्यवहार करते हैं – उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अंतिम चरण का मतदान 7 मार्च को पूरा हुआ था – 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर और उसके बाद पुरुष महिलाओं के साथ कैसा व्यवहार करते हैं.

Nala Ponappa | Twitter/@PonnappaCartoon
नाला पोनप्पा | Twitter/@PonnappaCartoon

नाला पोनप्पा ने नागरिक की मौतों की तरफ इशारा किया है – संयुक्त राष्ट्र ने अब तक यूक्रेन पर रूस के हमले में कम से कम 474 मौतों की पुष्टि की है. नाला हताहतों की संख्या को कम करने का एक तरीका बता रहे हैं. रूस पहले से ही यूक्रेन में साइबर हमले से लेकर डीपफेक के जरिए प्रचार तक सूचना युद्ध का इस्तेमाल कर रहा है.

Sajith Kumar | Deccan Herald
साजिथ कुमार | Deccan Herald

साजिथ कुमार ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी की आशंका के बीच भारत में पेट्रोल स्टेशनों पर टैंक भरने के लिए भीड़ को दिखा रहे हैं. यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दाम बढ़ने के बावजूद भारत में कीमतों को महीनों तक कम रखा गया है. उत्तर प्रदेश में सोमवार को अंतिम चरण के मतदान के बाद इसके कीमतें ऊपर जाने की उम्मीद थी, हालांकि यह अभी तक नहीं हुआ है.

Manjul | Vibes of India
मंजुल | Vibes of India

मंजुल ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में यूक्रेन के खिलाफ रूस के चल रहे युद्ध पर टिप्पणी की है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

R. Prasad | Economic Times
आर. प्रसाद | Economic Times

आर. प्रसाद ने अन्य कारकों के साथ-साथ यूक्रेन में युद्ध के चलते तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर गिरने पर टिप्पणी की है. रूसी रूबल, जिसे रूबल भी कहा जाता है, पश्चिमी प्रतिबंधों के बीच ऐतिहासिक स्तर पर गिर गया है.

(इन कार्टून्स को अंग्रेजी में देखने के लिए यहां क्लिक करें.)

share & View comments