Monday, 17 January, 2022
होमलास्ट लाफभारत में हंसी की कोई कमी नहीं और संसदीय बहस को निरस्त करने वाला बिल

भारत में हंसी की कोई कमी नहीं और संसदीय बहस को निरस्त करने वाला बिल

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के फीचर कार्टून में आर. प्रसाद बता रहे हैं कि कॉमेडी शो रद्द होने के बाद भी भारत में हंसी की कोई कमी नहीं है. कृषि कानूनों का निरस्त करने वाला बिल सोमवार को बिना किसी चर्चा के संसद में पास हो गया.

मंजुल | News9

मंजुल संसद में विधेयकों के पारित करने के लिए हाल में अपनाए गए ट्रेंड पर जोर दे रहे हैं जिसमें बिना चर्चा किए बिलों को मंजूरी दे दी गई है. इस लिस्ट में नया नाम कृषि कानून निरसन बिल, 2021 का जुड़ गया है.

साजिथ कुमार | Deccan Herald

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

साजिथ कुमार विवादास्पद तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने वाले बिल की तरफ ध्यान दिलाने की कोशिश कर रहे हैं.

सतीश आचार्य | Twitter/@satishacharya

सतीश आचार्य ने कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के शो को रद्द करने पर तंज़ कसा है. हिंदू दक्षिणपंथी संगठनों ने शो रद्द ना करने पर तोड़फोड़ करने की धमकी दी थी.

संदीप अध्वर्यु | Times of India

संदीप अध्वर्यु भी मुनव्वर फारुकी विवाद और भारत में लोकतंत्र की स्थिति पर ध्यान खींच रहे हैं.

आलोक निरंतर | Twitter/@caricatured

आलोक निरंतर कल्पना कर रहे हैं कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी प्रशांत किशोर से उनके नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस का विस्तार करने के बारे में कुछ सवाल कर रही हैं. पार्टी देश के कई हिस्सों से लोगों को अपने साथ जोड़ रही है क्योंकि यह बंगाल से निकल कर खुद का विस्तार करने की फ़िराक़ में है.

(इन कार्टून्स को अंग्रेजी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments