scorecardresearch
Friday, 19 July, 2024
होमलास्ट लाफचर्चिल के फकीर ने भारत के 'भीख आंदोलन' का नेतृत्व किया और भगत सिंह का कंगना के लिए सवाल

चर्चिल के फकीर ने भारत के ‘भीख आंदोलन’ का नेतृत्व किया और भगत सिंह का कंगना के लिए सवाल

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के फीचर कार्टून में सतीश आचार्य ने अभिनेत्री कंगना रनौत के उस बयान की आलोचना की है जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत को 1947 में स्वतंत्रता ‘महात्मा को कटोरे’ में भीख के रूप में दी गई थी. कंगना ने हाल ही में कहा था कि 2014 में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद ‘वास्तविक’ स्वतंत्रता मिली है.

Image
आलोक निरंतर | Twitter/@caricatured

आलोक निरंतर ने शहीद भगत सिंह के हौसले को दिखा कर कंगना रनौत के बयान पर चुटकी ली है.
कंगना को हाल ही में पद्म श्री दिए जाने के संबंध में ‘पुरस्कार’ का संदर्भ दिया गया है.

Image
संदीप अध्वर्यु | The Times of India

संदीप अध्वर्यु ने रॉबर्ट क्लाइव जिसे ईस्ट इंडिया कंपनी के जरिए भारत में ब्रिटिश शासन स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है. उनके और महात्मा गांधी के बीच एक मनगढंत बातचीत को दिखाया है. संदीप ने कंगना के हालिया बयान साथ-साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उस बात पर टिप्पणी की है जिसमें उन्होंने कहा था कि सावरकर को बापू ने दया याचिका लिखने की सलाह दी थी.

Freedom in 1947 was bheek says KanganaMy #cartoon for https://www.patreon.com/MANJULtoons Telegram: http://telegram.me/MANJULtoons Support: https://www.instamojo.com/@MANJULtoons #MANJULtoons #editorialcartoon #editorialcartoons #cartooning #cartoonists #cartoonistsofinstagram #dailycartoon #cartoosbymanjul
मंजुल | News9

मंजुल इस बात चुटकी ले रहे हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्न मनाने के लिए देश भर में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं. वहीं, कंगना भी 75 साल का जश्न मना रही हैं जिसे वह ‘भीख’ कहती हैं.

Image
कीर्तिश भट्ट | BBC News Hindi

कीर्तिश भट्ट भी कंगना के बयान पर तंज कस रह हैं जिसमें वो दो स्कूल के बच्चों को शिकायत करते हुए दिखा रहे हैं कि दूसरे स्वतंत्रता दिवस पर उनके साथ ‘धोखा’ किया जा रहा है.

ई.पी.उन्नी | The Indian Express

ई.पी.उन्नी, 10 नवंबर को भारत की तरफ़़ से आयोजित अफ़गानिस्तान के मुद्दे पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की बातचीत में चीन के शामिल ना होने पर टिप्पणी कर रहे हैं.

(इन कार्टून्स को अंग्रेज़ी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments