Sunday, 26 June, 2022
होमदेशUP बोर्ड की परीक्षाएं कल से, 51 लाख से ज्यादा छात्र होंगे शामिल

UP बोर्ड की परीक्षाएं कल से, 51 लाख से ज्यादा छात्र होंगे शामिल

बोर्ड द्वारा घोषित परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों की ही परीक्षाएं 24 मार्च से शुरू होकर 12 अप्रैल तक चलेंगी. परीक्षाएं दो पालियों में होंगी.

Text Size:

लखनऊ: माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश (उप्र बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा बृहस्पतिवार को एक साथ शुरू होगी. दुनिया में अपनी तरह की सबसे बड़ी परीक्षा कहे जाने वाले इस इम्तिहान में कुल 51 लाख 92 हजार 689 परीक्षार्थी शामिल होंगे.

बोर्ड द्वारा घोषित परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों की ही परीक्षाएं 24 मार्च से शुरू होकर 12 अप्रैल तक चलेंगी. परीक्षाएं दो पालियों में होंगी.

इस बार हाई स्कूल में 15 लाख 53 हजार 198 छात्र तथा 12 लाख 28 हजार 456 छात्राएं परीक्षा देंगी. वहीं, इंटरमीडिएट में 13 लाख 24 हजार 200 छात्र तथा 10 लाख 86 हजार 835 छात्राएं इम्तिहान देंगी. कुल 51,92,689 परीक्षार्थी इस बार की बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होंगे. संख्या के लिहाज से उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षाओं को दुनिया की सबसे बड़े पैमाने पर आयोजित की जाने वाली परीक्षा माना जाता है.

बोर्ड परीक्षाएं कराने के लिए कुल 8373 केंद्र बनाए गए हैं. इनमें 497 राज्य की 3589 अशासकीय सहायता प्राप्त तथा 4307 वित्तविहीन विद्यालय शामिल हैं. बोर्ड ने 861 परीक्षा केंद्रों को संवेदनशील तथा 254 केंद्रों को अति संवेदनशील की श्रेणी में रखा है. परीक्षा की व्यवस्थाओं पर नजर रखने के लिए एक नियंत्रण कक्ष बनाया गया है जिसका उद्घाटन बुधवार को प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने किया.

मिश्र ने बताया, ‘इस नियंत्रण कक्ष के माध्यम से सभी परीक्षा केंद्रों पर लगाए गए कुल 2,97,124 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज सीधे प्राप्त होगी और पूरे प्रदेश में बनाए गए स्ट्रांग रूम के जरिए वरिष्ठ अधिकारियों की निगरानी में एक टीम संपूर्ण परीक्षा पर बारीकी से नजर रखेगी.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इसके अलावा, जिला स्तर पर 75 तथा विद्यालय स्तर पर 8373 नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं. परीक्षा पर नजर रखने के लिए 8373 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं.

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments