scorecardresearch
Sunday, 21 July, 2024
होमदेशतय समय पर हुई अयोध्या में राम लला की मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा पूरी, PM मोदी ने की पूजा-अर्चना

तय समय पर हुई अयोध्या में राम लला की मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा पूरी, PM मोदी ने की पूजा-अर्चना

प्रधानमंत्री ने भगवान की आंखों में काजल लगाया और उन्हें आईना दिखाया. उन्होंने मंदिर परिसर में जटायु की मूर्ति का भी उद्घाटन किया.

Text Size:

अयोध्या: सोमवार दोपहर को अयोध्या के नवनिर्मित राम मंदिर में तय समय पर राम लला की मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा हुई, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समारोह का संचालन किया और देश और दुनिया भर के 8,000 से अधिक आमंत्रित लोगों समेत करोड़ों लोगों ने इसे देखा.

राम लला की 51 इंच की काली मूर्ति की आंखों से कपड़ा दोपहर 12.20 बजे प्राण-प्रतिष्ठा के शुभ 84 सेकंड के दौरान हटाया गया.

प्रधानमंत्री ने भगवान की आंखों में काजल लगाया और उन्हें आईना दिखाया. उन्होंने मंदिर परिसर में जटायु की मूर्ति का भी उद्घाटन किया.

मूर्ति को आभूषणों, सोने के मुकुट और पन्ना, हीरे और माणिक का अलंकृत हार पहनाए गए, समारोह में मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के साथ प्रार्थना की.

रीम लला की मूर्ति के माथे पर चांदी और लाल रंग का तिलक लगाया गया है और उनके पास एक सुनहरा धनुष और तीर रखा गया हैं. लाल, पीले, हरे और बैंगनी फूलों की लंबी मालाएं भी राम लला की प्रतिमा को सुशोभित कर रही थीं.

प्राण-प्रतिष्ठा के निर्धारित समय पर, भारतीय वायु सेना के एक हेलीकॉप्टर ने मंदिर और आमंत्रित लोगों पर गुलाब के फूल बरसाए, साथ ही रघुपति राघव राजा राम की भजन पर लगभग एक घंटे तक प्रार्थना जारी रही. समारोह की शुरुआत मंगल ध्वनि के साथ हुई.

यह समारोह दोपहर 12.15 से 12.45 बजे के बीच तय समय पर हुआ, जिसे सबसे शुभ माना जाता है. 22 जनवरी तक एक सप्ताह तक अनुष्ठान किए गए. सोमवार को यजमान अनिल मिश्र ने अपनी पत्नी उषा के साथ पूजा की.

सफ़ेद धोती और कुर्ता पहने हुए, प्रधानमंत्री मंडपों से होते हुए गर्भगृह तक गए, जिसकी लंबाई और चौड़ाई 20 फीट और ऊंचाई 161 फीट है, जो दुनिया में सबसे बड़े मंडपों में से एक है.

समारोह के अंत में पीएम मोदी ने अकेले मंदिर का चक्कर भी लगाया.

मंदिर, जो पूरा होने पर दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा हिंदू मंदिर होगा, उत्तर भारतीय नागर शैली में डिजाइन किया गया है.

बता दें कि इसका उद्घाटन आम चुनाव से कुछ महीने पहले हुआ है.

अयोध्या में सोमवार सुबह से ही उत्सव शुरू हो गया था जिसके लिए पुजारी, बॉलीवुड अभिनेता, उद्योगपति, राजनेता, खिलाड़ी मंदिर में पहुंचे, जो 250 फीट चौड़ा, 380 फीट लंबा और 161 फीट ऊंचा है.

जहां मेहमानों के आने पर सेना के हेलीकॉप्टरों ने फूलों की वर्षा की, वहीं आमंत्रित लोगों ने आरती के दौरान मंदिर अधिकारियों द्वारा दी गई घंटियां बजाईं.

प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के बाद पीएम मोदी एक रोड शो भी करेंगे.

(इस ख़बर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: ‘आज केवल एक ही व्यक्ति मंदिर जा सकता है’, असम मंदिर में प्रवेश न मिलने पर राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज


 

share & View comments