scorecardresearch
Monday, 15 July, 2024
होमदेश'रचनात्मक मतभेदों' की वजह से Zee News छोड़ने के कुछ ही दिनों बाद आज तक से जुड़े सुधीर चौधरी

‘रचनात्मक मतभेदों’ की वजह से Zee News छोड़ने के कुछ ही दिनों बाद आज तक से जुड़े सुधीर चौधरी

चौधरी ने पिछले महीने के अंत में यह कहते हुए इस्तीफा ज़ी मीडिया से दे दिया था कि वह 'अपना खुद का उद्यम' शुरू करना चाहते हैं, लेकिन इस बीच इस कंपनी के शीर्ष प्रबंधन के साथ उनके कथित सत्ता संघर्ष की ख़बरें भी छन कर आई थीं.

Text Size:

नई दिल्ली: कथित तौर पर अपना खुद का मीडिया पोर्टल खोलने के उद्देश्य से ज़ी न्यूज़ का साथ छोड़ने के कुछ ही दिनों बाद ज़ी मीडिया के पूर्व एडिटर-इन-चीफ (प्रधान सम्पादक) और सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) सुधीर चौधरी एक कंसल्टिंग एडिटर (सलाहकार सम्पादक) के रूप में हिंदी न्यूज़ चैनल ‘आज तक’ में शामिल हो गए हैं.

ज़ी न्यूज़ के प्राइम-टाइम शो ‘डीएनए’ (डेली न्यूज़ एंड एनालिसिस) की एंकरिंग (संचालन) करने वाले चौधरी ने 28 जून को ज़ी मीडिया से इस्तीफा दे दिया था. जाहिर तौर पर उन्होंने ऐसा ‘डीएनए’, जो अब ज़ी हिंदुस्तान के एंकर रोहित रंजन द्वारा संचालित किया जा रहा है, को लेकर कंपनी के शीर्ष प्रबंधन के साथ हुए कुछ ‘रचनात्मक मतभेदों ‘के बाद यह कदम उठाया था.

दिप्रिंट ने चौधरी से उनकी टिप्पणी के लिए व्हाट्सएप, मेल और फोन कॉल के जरिए संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने इस खबर के प्रकाशित होने तक उनका कोई जवाब नहीं दिया था.

‘आज तक’ में उनके शामिल होने की घोषणा इंडिया टुडे ग्रुप की वाइस-चेयरपर्सन कली पुरी द्वारा अपने सहयोगियों को भेजे गए एक आंतरिक ईमेल में की गई थी.

पुरी ने लिखा, ‘मुझे पता है कि अफवाहों का बाजार अति सक्रिय हो गया है और उसे इस घोषणा के साथ बंद हो जाना चाहिए कि समाचारों के मामले में घर-घर जाने जाने वाला नाम स्वाभाविक रूप से हमेशा आज तक ही होता है! सोशल मीडिया पर उनके पास सबसे बड़े फॉलोअर्स समूह में से एक है और उनके पास हर प्रतिष्ठित संगठन से मिले पुरस्कारों का अंबार सा है. मुझे खुशी है कि उन्होंने एक ऐसा फैसला लिया है जो उनके प्रशंसकों, जिन्हें वह सबसे ऊपर मानते हैं, को निराश नहीं करेगा.’

उन्होंने अपने इस पत्राचार के माध्यम से इस बात की पुष्टि की कि चौधरी ‘आज तक’ की समाचार निर्देशक सुप्रिया प्रसाद के अधीन काम करेंगे, और यह कि ‘सुधीर और ‘आज तक’ हमारे 100 मिलियन दर्शकों के लिए उनके द्वारा एंकर किया गया एक रोमांचक नया शो लाने के लिए आपस में सहयोग कर रहे हैं’.

इस बीच, चौधरी और ज़ी मीडिया के मालिक तथा एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा के बीच ईमेल के एक एक्सचेंज (आदान-प्रदान) – जिसे दिप्रिंट ने भी देखा है – के अनुसार चंद्रा ने 1 जुलाई को उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया था.

चौधरी ने ‘भारी मन’ के साथ ‘राहें जुदा होने’ के बारे में लिखा था और यह भी लिखा था कि वह ‘अपना खुद का उद्यम शुरू करना चाहते हैं.’

अपने सहकर्मियों को भेजे गए एक अन्य मेल में, जिसे भी दिप्रिंट द्वारा देखा गया है, चंद्रा ने उल्लेख किया है कि ‘चौधरी अपना खुद का उद्यम शुरू करना चाहते थे और वह इसके रास्ते में बाधा नहीं बनना चाहते हैं.‘

उन्होंने चौधरी के चैनल से बाहर जाने का जिक्र करते हुए यह भी लिखा कि लोगों को ‘इन बातों का कोई और मतलब नहीं निकालना चाहिए’ और ‘किसी भी एक व्यक्ति की तुलना में पद को अधिक महत्व दिया जाना चाहिए.’

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें )


यह भी पढ़ें : शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे बोले- द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेगी पार्टी, हम संकीर्ण मानसिकता वाले नहीं हैं


 

share & View comments