scorecardresearch
Wednesday, 24 April, 2024
होमदेशलखीमपुर खीरी हिंसा : 'मोदी जी अजय मिश्रा का इस्तीफा लो', सरकार की कार्रवाई पर प्रियंका का सवाल

लखीमपुर खीरी हिंसा : ‘मोदी जी अजय मिश्रा का इस्तीफा लो’, सरकार की कार्रवाई पर प्रियंका का सवाल

प्रियंका ने कहा ‘मोदी जी, आप आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए लखनऊ जा रहे हैं. क्या आपने यह वीडियो देखा है?

Text Size:

लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों के परिजनों बीजेपी सरकार की कार्यवाई की निंदा की है. दरअसल मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि हिंसा में मारे गए किसानों के परिवार बीजेपी सरकार की कार्यवाई से संतुष्ट नहीं हैं और आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं.

इसी मुद्दे पर प्रियंका ने ट्वीट किया कि ‘सरकारी दावों के लिए सिर्फ़ इतना ही कि अब तक की गई कार्रवाई से मृतक किसानों के परिवार संतुष्ट हैं.’उन्होने साथ ही हैशटेग ‘मोदीजी अजय मिश्रा का इस्तीफा लो’ का प्रयोग किया है

इससे पहले प्रियंका ने पीएम नरेंद्र मोदी से सवाल करते हुए कहा कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को अब तक बर्खास्त क्यों नहीं किया गया? और किसानों को ‘अपनी गाड़ी से कुचलने वाले’ उनके पुत्र की गिरफ्तार क्यों नहीं हुई?

प्रियंका ने प्रधानमंत्री से ये सवाल उस वक्त किए हैं जब वह लखनऊ में न्यू अर्बन इंडिया थीम पर आयोजित तीन दिवसीय कॉन्क्लेव की शुरुआत करने लखनऊ पहुंचे हैं.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

लखीमपुर खीरी के तिकोनिया क्षेत्र में हुई हिंसा में चार किसानों और एक पत्रकार समेत आठ लोगों की मौत के बाद वहां जाने के दौरान रास्ते में हिरासत में ली गईं प्रियंका 30 घंटे से भी अधिक समय पुलिस हिरासत में हैं.

प्रियंका ने प्रधानमंत्री से सवाल करते हुए वह वीडियो भी दिखाया जिसमें दिख रहा है कि एक गाड़ी सड़क पर चल रहे किसानों के ऊपर चढ़ा दी गई. यह वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया है.

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने एक वीडियो जारी कर कहा, ‘मोदी जी, मैंने सुना है कि आप आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए लखनऊ पहुंच रहे हैं. क्या आपने यह वीडियो देखा है? यह वीडियो आपकी सरकार के एक मंत्री के बेटे को किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलते हुए दिखाता है. आप यह वीडियो देखिए और इस देश को बताइए कि इस मंत्री को बर्खास्त क्यों नहीं किया गया? और इस लड़के को अभी तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है?’


यह भी पढ़ें: न गठबंधन, न सामंजस्य- यूपी कांग्रेस से सपा में शामिल हुए नेताओं की पार्टी छोड़ने की ये हैं वजहें


उन्होंने यह सवाल भी किया, ‘मेरे जैसे विपक्षी नेताओं को तो आपने बिना आदेश या बिना प्राथमिकी को गिरफ्तार किया है. मैं जानना चाहती हूं कि यह आदमी (मंत्री का बेटा) आजाद क्यों हैं?’

प्रियंका ने कहा, ‘आप आजादी के अमृत महोत्सव की महफिल में मंच पर बैठे रहेंगे तो यह याद करिए कि आजादी किसानों ने दिलवाई. आज भी देश की सुरक्षा और सीमाओं की रक्षा किसानों के बेटे करते हैं. किसान महीनों से त्रस्त हैं और अपनी आवाज उठा रहे हैं, लेकिन आप उसे नकार रहे हैं।’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘मैं आपसे आग्रह करती हूं कि लखीमपुर आइए ना. जिन्होंने आजादी दिलवाई, जो इस देश के अन्नदाता हैं, जो देश की आत्मा हैं, उनकी पीड़ा समझिए. उनकी रक्षा करना आपका धर्म है. जिस संविधान पर आपने शपथ ली है, उसके प्रति आपका धर्म है और आपका कर्तव्य है.’

इससे पहले, कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने बताया कि प्रियंका समेत पांच नेताओं को हिरासत में लिए गए 28 घंटे से ज्यादा समय हो चुका है.

इससे पहले भी प्रियंका ने एक ट्वीट में पीएम से पूछा था कि ‘नरेंद्र मोदी जी आपकी सरकार ने बग़ैर किसी आदेश और मुकदमे के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है.’ उन्होंने ट्वीट के साथ किसानों को रौंदते हुए जा रही गाड़ी वायरल  वीडियो भी अटैच किया था.

प्रियंका ने सवाल किया, ‘अन्नदाता को कुचल देने वाला ये व्यक्ति अब तक गिरफ़्तार नहीं हुआ. क्यों?’ उधर, लल्लू ने कहा, ‘प्रियंका को अब तक अपने वकीलों से मिलने नहीं दिया गया. किसी को 24 घंटे से ज्यादा समय तक पुलिस हिरासत में रखना ग़ैर क़ानूनी है. मगर प्रशासन के कान पर जूं नहीं रेंग रही है. प्रशासन ने उन्हें हिरासत में लेने की कोई क़ानूनी वजह भी नहीं बताई है.’

उन्होंने कहा कि सीतापुर के पीएसी द्वितीय वाहिनी परिसर में हिरासत में रखी गईं प्रियंका ने साफ़ कहा है कि वह हिरासत से छूटते ही लखीमपुर खीरी जाकर शहीद किसानों के परिजनों से मुलाकात करेंगी.


यह भी पढ़ें: लखीमपुर खीरी में गम और गुस्सा, मृत किसानों के परिजनों ने लगाया ‘कोल्ड बल्डेड मर्डर और योगी के गुंडा राज का आरोप’


प्रियंका गांधी के साथ पार्टी के राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर, युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी. वी. श्रीनिवास और विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह भी हिरासत में हैं.

लल्लू ने बताया कि द्वितीय वाहिनी पीएसी परिसर के बाहर इस वक्त बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता और पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता मौजूद हैं और हिरासत में लिए गए सभी नेताओं को छोड़ने की मांग कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं में वाद्रा की ग़ैर क़ानूनी हिरासत को लेकर बेहद आक्रोश है.

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों और एक पत्रकार समेत नौ लोगों की मौत हो गई थी. इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

share & View comments