Thursday, 26 May, 2022
होमदेशफिर से पटरियों पर दौड़ने को तैयार है प्राइवेट ट्रेन तेजस, Covid-19 से बचाव के लिए बरती जाएंगी ये सावधानियां

फिर से पटरियों पर दौड़ने को तैयार है प्राइवेट ट्रेन तेजस, Covid-19 से बचाव के लिए बरती जाएंगी ये सावधानियां

तेजस एक्सप्रेस नई दिल्ली से लखनऊ और अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलती है. 19 मार्च से इन ट्रेनों का भी ​परिचालन बंद है.

Text Size:

नई दिल्ली: प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस एक बार फिर से पटरियों पर दौड़ने के लिए तैयार है. ये ट्रेन 17 अक्टूबर से चलेगी. हालांकि अभी इन दोनों ट्रेनों की टिकटों की बुकिंग फिलहाल शुरू नहीं हुई है.आगामी एक या दो दिन में टिकटों की बुकिंग शुरू होगी.

तेजस एक्सप्रेस नई दिल्ली से लखनऊ और अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलती है. 19 मार्च से इन ट्रेनों का भी ​परिचालन बंद है.

प्राइवेट ट्रेन संचालित कराने वाली कंपनी आईआरसीटीसी ने बताया, त्यौहार के सीजन में बढ़ती यात्रियों की मांग के चलते तेजस एक्सप्रेस (लखनऊ-नई दिल्ली और अहमदाबाद-मुंबई) को फिर से चलाने की तैयारी की जा रही है.


यह भी पढ़े: ‘धर्मांतरण एक हिंसा’- आदिवासियों में बढ़ते धर्मांतरण को रोकने के लिए VHP-RSS चलाएगी जागरुकता अभियान


आईआरसीटीसी के अनुसार, इन ट्रेनों को शुरू करने के लिए रेलवे बोर्ड से मंजूरी मिल गई है. कोविड 19 के सुरक्षा मापदंड को देखते हुए ट्रेन की साफ-सफाई हो रही है. सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए दो यात्रियों के बीच की सीट को खाली रखा जाएगा. एक सीट छोड़कर एक सीट पर यात्रियों को बैठाया जाएगा. ताकि कोरोनावायरस का खतरा नहीं रहे. वहीं जिस यात्री को जो सीट मिली है उसे उसी सीट पर बैठना होगा. कोई भी यात्री अपनी सीट नहीं बदल सकेगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

यात्रियों को ट्रेन में आईआरसीटीसी के तरफ से एक कोविड 19 सुरक्षा किट दिया जाएगा. इसमें एक मास्क, एक फेस शील्ड और एक जोड़ी ग्लब्स और एक हैंड सैनिटाइज़र की बोतल होगी. कोच में प्रवेश करने से पहले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग और हाथ से सफाई भी करवाई जाएगी.

इस ट्रेन में यात्रा करने वाले लोगों को कोविड-19 के प्रोटाकाल को पालन करना अनिवार्य होगा. कोई भी यात्री अपनी सीट बदल नहीं सकेगा. कर्मचारियों और यात्रियों के लिए फेस मास्क आवश्यक होगा. आरोग्य सेतु एप जरूरी होगा. वहीं, टिकट बुक करते समय ही यात्रियों को नियमों के बारे में जानकारी दी जाएगी.

तेजस एक्सप्रेस के कोच, पैंट्री कार और शौचालय को थोड़े-थोड़े अंतराल पर सैनेटाइज किया जाएगा. यात्रियों के सामान को भी सैनेटाइज किया जाएगा. ऐसी सभी जगहों को जिसे यात्री छूते हैं उन्हें भी थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल पर सैनेटाइज किया जाएगा. इन सभी कार्यों के लिए अतिरिक्त कर्मचारी लगाए गए हैं. आईआरसीटीसी ने इसके लिए सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षित भी किया है.

गौरतलब है कि करीब एक साल पहले लखनऊ से नई दिल्ली के लिए कॉरपोरेट सेक्टर की देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत हुई थी. यह देश की पहली ट्रेन है जिसके लेट होने पर यात्रियों को मुआवजा देने का नियम है.

share & View comments