scorecardresearch
Thursday, 30 May, 2024
होमदेशओडिशा ट्रेन हादसे में अबतक 233 लोगों की मौत, 900 घायल, अश्विनी वैष्णव बोले- होगी उच्च स्तरीय जांच

ओडिशा ट्रेन हादसे में अबतक 233 लोगों की मौत, 900 घायल, अश्विनी वैष्णव बोले- होगी उच्च स्तरीय जांच

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक दुर्घटनास्थल पर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने मौके पर मौजूद अधिकारियों और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात कर स्थिति का जायज़ा लिया.

Text Size:

नई दिल्ली: ओडिशा के बालासोर जिले में शुक्रवार शाम को कोरोमंडल एक्सप्रेस और बेंगलुरु-हावड़ा एक्सप्रेस ट्रेन के बेपटरी होने और एक मालगाड़ी के टकराने से जुड़े रेल हादसे में 233 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई जबकि लगभग 900 से अधिक यात्री घायल हैं. उनका इलाज चल रहा है.

इस हादसे के बाद ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्य में एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की.

नवीन पटनायक दुर्घटनास्थल पर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने मौके पर मौजूद अधिकारियों और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात कर स्थिति का जायज़ा लिया.

ओडिशा के मुख्य सचिव प्रदीप जेना ने इन आंकड़ों की पुष्टि करते हुए कहा, अब तक 900 लोगों के घायल होने की सूचना है, उनका इलाज चल रहा है. 233 लोगों के शव बरामद हुए हैं. राहत और बचाव कार्य जारी है. एनडीआरफ, ODRAF और दमकल विभाग अब भी बोगी को काटने और लोगों को निकालने की कोशिश कर रहे हैं.

आगे बोले, शिनाख्त किए गए शवों को या तो उनके परिजनों को सौंप दिया जा रहा है या पोस्टमॉर्टम के बाद उनके गंतव्य स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. अज्ञात लोगों के लिए वैधानिक प्रक्रिया का पालन किया जाएगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

शनिवार सुबह केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव घटना स्थल पर पहुंच कर उन्होंने चल रहे बचाव कार्य का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने दुख जताते हुए कहा, “यह बहुत बड़ी दुर्घटना है. सभी दिवंगत आत्माओं के लिए हम प्रार्थना करते हैं. कल रात से रेलवे की टीम, एनडीआरफ, एसडीआरएफ बचाव कार्य में जुटी है. जिनके परिवार के सदस्यों की इस हादसे में मृत्यु हो गई, उनके प्रति मेरी संवेदनाएं हैं. सरकार उन्हें हर संभव मदद करेगी. रेलवे ने कल ही मुआवजे का ऐलान कर दिया था, जांच कमेटी का भी गठन किया गया है.”

उन्होंने आगे कहा, रेलवे, एनडीआरफ, एसडीआरएफ की टीम बचाव कार्य में जुटी है. फिलहाल हमारा ध्यान बचाव कार्य पर है. राहत और बचाव कार्य खत्म होने के बाद ही बहाली का कार्य शुरू कर दिया जाएगा. पहले से ही बहाली के लिए मशीने तैनात हैं.

वहीं नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ने ओडिशा ट्रेन हादसे पर शोक व्यक्त किया.

दूसरी तरफ ट्रेन हादसे के बाद पीड़ितों को रक्तदान करने के लिए अस्पताल में स्थानीय लोगों की भीड़ देखने को मिली.

एनडीआरफ के वरिष्ठ कमांडेंट जैकब किस्पोट्टा बोले, हमारी 6 टीम कल रात से यहां तैनात है. लगभग सभी जीवित लोगों को निकाल लिया गया है, अब शवों को निकाला जा रहा है, जल्द ही हम उन्हें भी निकाल लेंगे.

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि हावड़ा जा रही 12864 बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कई डिब्बे बाहानगा बाजार में पटरी से उतर गए और दूसरी पटरी पर जा गिरे.

उन्होंने कहा, ‘‘पटरी से उतरे ये डिब्बे 12841 शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस से टकरा गए और इसके डिब्बे भी पलट गए.’’

अधिकारी ने कहा कि कोरोमंडल एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतरने के बाद एक मालगाड़ी से टकरा गए, जिससे मालगाड़ी भी दुर्घटना की चपेट में आ गई. उन्होंने बताया कि हादसा शाम को करीब सात बजे हुआ.

वहीं, रेलवे के प्रवक्ता अमिताभ शर्मा ने कहा कि पहले कोरोमंडल एक्सप्रेस पटरी उतरी और इसके 10-12 डिब्बे बेंगलुरु-हावड़ा एक्सप्रेस की पटरी पर जा गिरे.

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रेल हादसे पर दुख जताया है और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है.

अधिकारियों ने बताया कि हादसे में घायल लोगों को जिले के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. उन्होंने कहा कि राज्य की राजधानी भुवनेश्वर समेत आसपास के जिलों के सभी निजी और सरकारी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है.


यह भी पढ़ें: मणिपुर में पुलिस कमांडो, कुकी-मैतेई के बीच हिंसा करवा रहे है? नहीं थम रहा आरोपी प्रत्यारोप का दौर


 

share & View comments