Friday, 27 May, 2022
होमदेशKTR ने मुनव्वर फारूकी और कुणाल कामरा को दिया हैदराबाद आने का न्यौता, कहा- ‘हम शो रद्द नहीं करते’

KTR ने मुनव्वर फारूकी और कुणाल कामरा को दिया हैदराबाद आने का न्यौता, कहा- ‘हम शो रद्द नहीं करते’

तेलंगाना के आईटी मंत्री के.टी. रामा राव का कहना है कि हैदराबाद ‘सभी संस्कृतियों और आलोचनाओं’ का स्वागत करता है, जबकि बेंगलुरु- जहां फारूकी का पिछला शो रद्द कर दिया गया था-’कॉमेडी को बहुत गंभीरता से लेता है.’

Text Size:

हैदराबाद: तेलंगाना के आईटी मंत्री के.टी. रामा राव (केटीआर) ने कहा है कि स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी और कुणाल कामरा का हैदराबाद में स्वागत है, जहां उनके शो ‘रद्द नहीं किए जाएंगे.’

केटीआर- जो मुख्यमंत्री के बेटे भी हैं- ने शुक्रवार को शहर में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के दौरान स्टैंड-अप कॉमेडियन को हैदराबाद में कार्यक्रम के आयोजन के लिए ‘खुला न्योता’ दिया और कहा कि ‘यह सभी संस्कृतियों और आलोचनाओं का स्वागत करता है.’

उन्होंने पड़ोसी राज्य कर्नाटक के ‘कॉस्मोपॉलिटिन’ बेंगलुरु पर भी टिप्पणी की, जहां पिछले महीने फारूकी का शो रद्द कर दिया गया था. बेंगलुरु पुलिस ने आयोजकों को ‘कानून-व्यवस्था’ के मुद्दों का हवाला देते हुए शो को बंद करने के लिए कहा था, और फारूकी को ‘विवादास्पद व्यक्ति’ बताया था.

फारूकी ने इस वर्ष की शुरुआत में एक शो के दौरान कथित तौर पर ‘हिंदू देवी-देवताओं का अपमान’ करने के आरोप में एक माह इंदौर जेल में बिताया था, लेकिन उनका दावा है कि उन्हें इस कार्यक्रम में प्रदर्शन का मौका ही नहीं मिला था. तभी से, उन्हें लगातार हिंदूवादी समूहों की ओर से निशाना बनाया जाता रहा है. सूरत, अहमदाबाद, वडोदरा, मुंबई, रायपुर और बेंगलुरु में उनके शो तोड़फोड़ की धमकी देकर बंद करा दिए गए थे.

केटीआर ने कहा कि बेंगलुरु ‘एक महानगर होने का दावा करता है, लेकिन कॉमेडी को बहुत गंभीरता से लेता है.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

केटीआर ने तेलंगाना की राजधानी में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘हैदराबाद आज पूरे देश और दुनियाभर के लोगों का स्वागत कर रहा है. हम वास्तव में एक कॉस्मोपॉलिटिन शहर हैं. हमारे शहर में स्टैंड-अप कॉमेडियन को खुला आमंत्रण मिलता है. हम मुनव्वर फारुकी और कुणाल कामरा के शो सिर्फ इसलिए रद्द नहीं कर देते क्योंकि हम राजनीतिक रूप से उनसे सहमत नहीं होते.’

उन्होंने कहा, ‘हम उनका स्वागत करते हैं. यह मैं बेंगलुरु के उन लोगों से कह रहा हूं, जो वैसे तो एक कॉस्मोपॉलिटिन होने का दावा करते हैं पर कॉमेडी को बहुत गंभीरता से लेते हैं. यह बात मेरी समझ से परे है.’

उन्होंने कहा, ‘इसलिए, हम दावा कर सकते हैं कि हम एक कॉस्मोपॉलिटिन शहर हैं, जो सभी संस्कृतियों और आलोचनाओं का स्वागत करते हैं. आप यहां आकर सरकार की आलोचना कर सकते हैं. हमें तो रोज ही विपक्ष के तमाम हमले झेलने पड़ते हैं लेकिन हम बहुत सहनशील हैं.’


यह भी पढ़ें : ‘नफ़रत जीत गई’-दो महीने में 12 कार्यक्रम रद्द होने के बाद मुनव्वर फारूकी ने दिए कॉमेडी छोड़ने के संकेत


बेंगलुरु में फारूकी का शो रद्द होने के कुछ दिनों बाद कामरा ने सोशल मीडिया पर कहा था कि आयोजकों को धमकी मिलने के बाद शहर में उनके शो रद्द किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा था, ‘शासक वर्ग एक समान रूप से दमन की कोशिश कर रहा है.’

पूरे भारत में उनके 12 शो रद्द होने के बाद फारूकी ने पिछले महीने संकेत दिया था कि वह कॉमेडी छोड़ सकते हैं.

इस महीने की शुरुआत में उन्हें ‘सार्वजनिक सुरक्षा’ के आधार पर गुड़गांव कॉमेडी फेस्टिवल से भी हटा दिया गया था.

‘हैदराबाद निवेश के लिए भी बेहतर’

केटीआर मैसाचुसेट्स स्थित वित्तीय सेवा कंपनी मास म्यूचुअल द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.
हैदराबाद को बेंगलुरू की तुलना में निवेश के लिए एक बेहतर स्थान बताते हुए केटीआर ने कहा कि हैदराबाद में ‘बेहतर बुनियादी ढांचा, कम लागत और बेहतर यातायात’ की सुविधा है.

उन्होंने कहा, ‘कोई दूसरा शहर नहीं है जो मूल्यों के मायने में हैदराबाद की बराबरी कर सकता हो.’

केटीआर, जो सत्तारूढ़ क्षेत्रीय पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति के कार्यकारी अध्यक्ष भी हैं, ने सितंबर में राज्य कांग्रेस प्रमुख रेवंत रेड्डी के खिलाफ मानहानि और निषेधाज्ञा का मुकदमा दायर किया था, क्योंकि रेड्डी ने उन्हें ‘नशीली दवाओं का ब्रांड एंबेसडर’ कहा था.रेड्डी ने केटीआर के पिता और मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को भी ‘शराबियों का ब्रांड एंबेसडर’ कहा था.

मंत्री ने टिप्पणियों के जवाब में चेतावनी दी थी कि सीएम के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने वालों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया जाएगा.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें )

share & View comments