scorecardresearch
Thursday, 18 July, 2024
होमदेशआज है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, नरेंद्र मोदी US में लेगें योग की क्लास

आज है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, नरेंद्र मोदी US में लेगें योग की क्लास

हर साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को अलग अलग थीम के साथ मनाया जाता है और इस साल योग दिवस का थीम 'वसुधैव कुटुंबकम' हैं.

Text Size:

धैर्यं यस्य पिता क्षमा च जननी शान्तिश्चिरं गेहिनी
सत्यं सूनुरयं दया च भगिनी भ्राता मनः संयमः।
शय्या भूमितलं दिशोSपि वसनं ज्ञानामृतं भोजनं
एते यस्य कुटिम्बिनः वद सखे कस्माद् भयं योगिनः।।

इस श्लोक का अर्थ है, नियमित रूप से योग का अभ्यास करने से व्यक्ति कुछ बहुत अच्छे गुणों को अपना सकता है, जैसे साहस जो पिता की तरह रक्षा करता है, क्षमा जो एक मां के पास होती है और मानसिक शांति जो एक स्थायी दोस्त बन जाती है. योग के नियमित अभ्यास से सत्य हमारा बच्चा, दया हमारी बहन, आत्म-नियंत्रण हमारे भाई, पृथ्वी हमारा बिस्तर बन जाती है और ज्ञान हमारी भूख को शांत करता है.

इस साल 9वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस अवसर के लिए संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय न्यूयॉर्क में पहली बार योग क्लास का नेतृत्व करेंगे.

2015 में शुरू हुए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को आज आठ साल पूरे हो गए. हर साल भारत में योग दिवस को अलग अलग थीम के साथ मनाया जाता है और इस साल योग दिवस का थीम ‘वसुधैव कुटुंबकम’ हैं. जिसका अर्थ है पूरी दुनिया एक परिवार है.

केंद्रीय मंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर जनता से शानदार प्रतिक्रिया मिली है और इस साल 21 जून के समारोह में कम से कम 25 करोड़ लोग हिस्सा लेंगे.

इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ‘ओशन रिंग ऑफ योगा’ जैसे कई अद्वितीय कार्यक्रमों का साक्षी बनेगा, जहां भारतीय नौसेना के जहाजों को दुनिया भर के 9 बंदरगाहों पर तैनात किया जाएगा और कॉमन योगा प्रोटोकॉल (सीवाईपी) के प्रदर्शन में भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी. बंदरगाहों, नौवहन और जलमार्ग मंत्रालय भी उन देशों में सीवाईपी प्रदर्शन आयोजित करेगा जिनके साथ उन्होंने एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं.

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी के यूएस दौरे पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि “इस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर, आइए हम एकता की भावना को अपनाएं और बेहतर दुनिया बनाने का संकल्प लें.”

इस साल राष्ट्रीय स्तर पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने को लेकर गांव-गांव में सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है और “हर आंगन योग” के लक्ष्य को अपनाया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी ग्राम प्रधानों को एक पत्र लिखा है, जो उन्हें अपने निकटतम आंगनवाड़ी, स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों व स्कूलों में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रमों का निरीक्षण करने के लिए अपील करता है.


यह भी पढ़ें: बिना टेंडर के फ्री में हो सकेगा स्वर्ण मंदिर की गुरबाणी का प्रसारण, मान सरकार ने पारित किया विधेयक


भारतीय परंपरा का अमूल्य उपहार

योग प्राचीन भारतीय परंपरा का एक अमूल्य उपहार है जो शारीरिक और मानसिक तंदुरुस्ती को बढ़ावा देने के सबसे भरोसेमंद साधनों में से एक के रूप में उभरा है. ‘योग’ शब्द संस्कृत मूल युज से लिया गया है जिसका अर्थ है ‘शामिल होना’, ‘जुड़ना’ या ‘एकजुट होना’, जो मन और शरीर की एकता, विचार और क्रिया, संयम और तृप्ति, मानव और प्रकृति के बीच सामंजस्य और स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती के लिए एक समग्र दृष्टिकोण का प्रतीक है.

2015 में शुरू किए गए योग दिवस का थीम ‘सदभाव और शांति के लिए योग’ था. इसे 21 जून, 2015 को नई दिल्ली के राजपथ पर आयोजित किया गया था. इसके नाम 2 गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड भी दर्ज हुए थे – पहला 35,985 लोगों के लिए एक ही स्थान पर एक ही योग सत्र में भाग लेना और दूसरा अधिकांश राष्ट्रीयताओं (84) का योग सत्र 2015 में भाग लेना.

दूसरे योग दिवस 2016 का थीम ‘युवाओं को जोड़ने’ का था, इसका आयोजन चंडीगढ़ में किया गया था. प्रधानमंत्री मोदी के साथ 30,000 लोगों और 150 दिव्यांगजनों ने इसमें हिस्सा लिया था.

21 जून, 2017 में लखनऊ में आयोजित तीसरे योग दिवस का थीम ‘स्वास्थ्य के लिए योग’ था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 51,000 लोगों को अपने साथ जोड़ते हुए जीवन शैली में योग के महत्व के बारे में चर्चा की थी.

50,000 प्रतिभागियों के साथ 21 जून, 2018 को देहरादून में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया जिसका थीम ‘शांति के लिए योग’ था.

2019 में आयोजित पांचवे योग दिवस का थीम ‘क्लाइमेट एक्शन’ पर था. इसका आयोजन झारखंड के रांची में किया गया था.

‘स्वास्थ्य के लिए योग-घर पर योग’ 2020 का थीम था जिसे कोविड-19 महामारी के दौरान मनाया गया था.

पीएम नरेंद्र मोदी ने सातवें योग दिवस पर डब्ल्यूएचओ एम-योग ऐप लॉन्च किया था जिसका थीम था ‘सेहत के लिए योग’.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक के मैसूरु पैलेस मैदान में अठवा योग दिवस का नेतृत्व किया था जिसका थीम ‘मानवता के लिए योग’ था.

‘कुर्सी पर योग’

कार्य स्थल या ऑफिस में तनाव और थकान को दूर कर ऊर्जावान रहने के लिए आयुष मंत्रालय का ‘वाई ब्रेक’ कार्यक्रम आयोजित किया गया है. इस साल ‘कुर्सी पर योग’ लॉन्च किया गया, जो कुर्सी पर बैठकर किया जा सकता है. भारत सरकार के सभी मंत्रालयों / विभागों से अनुरोध किया गया है कि वे अपने कर्मचारियों से कुर्सी पर योग का अभ्यास करने के लिए कहें.

21 जून 2023 के अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह में दुनिया के लगभग 180 देशों के लोग शामिल होंगे.


यह भी पढ़ें: नेल्सन मंडेला से शेख मुजीब, गीता प्रेस विवाद से पहले गांधी शांति पुरस्कार का इतिहास


share & View comments