mirage 2000
मिराज 2000 एयर क्राफ्ट/ फोटो- ब्लूमबर्ग
Text Size:
  • 61
    Shares

नई दिल्ली: पाकिस्तानी सेना के डीजी आईएसपीआर आसिफ गफूर ने आरोप लगाया है कि भारतीय वायुसेना का विमान एलओसी पार करके पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसा है और उसने वहां जल्दबाज़ी में बालाकोट के पास विस्फोटक फेंके. पर इसमें कोई घायल नहीं हुआ और पाकिस्तान को कोई नुकसान नहीं हुआ. उसका आरोप है कि उनके विमानों ने पीछा किया जिसके बाद ये विमान वापस लौट गए.

भारतीय वायु सेना या प्रतिरक्षा मंत्रालय ने इस दावे पर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. प्रतिरक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने दिप्रिंट को बताया कि इस पर वक्तव्य दिन में दिया जायेगा.

भारतीय समाचार एजेंसी एएनआई ने वायुसेना अधिकारियों के हवाले से कहा है कि भारतीय वायु सेना के मिराज 2000 लड़ाकु जेट्स ने ‘लाईन ऑफ कंट्रोल के पास एक बड़े आतंकी अड्डे पर निशाना साधा. जिसने उसे पूरी तरह ध्वस्त किया. ‘ ये हमला माना जा रहा है. भारतीय वायु सेना ने रात साढ़े तीन बजे एलओसी पर हमला किया है.

पाकिस्तान का दावा सबसे पहले पाकिस्तान के डायरेक्टर जनरल इंटर सर्विसेस पब्लिक रिलेशन्स, मेजर जनरल आसिफ गफूर ने मंगलवार तड़के यह जानकारी दी.

‘भारतीय वायु सेना ने सीमा नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया जिसके बाद पाकिस्तान एयर फोर्स ने तुरंत उसका पीछा किया.’ जिसके बाद भारतीय विमान वापिस लौट गए. बाद में उन्होंने एक और ट्वीट की और कहा कि पाकिस्तान वायु सेना के समय से और पुख्ता जवाब के कारण भारतीय विमान को असला जल्दबाज़ी में बालाकोट में गिराना पड़ा. पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने साथ ही कहा कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कोई नुकसान नहीं हुआ.

जो वेबसाइटें विमानों पर ट्रैक रखती हैं उनका कहना था कि भारतीय वायु सेना के अरली वारनिंग विमान और आईएल – 78 विमान में इंधन भरने वाला विमान उस क्षेत्र में दिखाई दिया.

14 फरवरी के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद से दोनो देशों के फाइटर जैट हाई अलर्ट पर बने हुए थे. पुलवामा हमले में 40 सीआरपीएफ जवान मारे गए थे. पाकिस्तान स्थित जैश ए मौहम्मद ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी.


  • 61
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here