Monday, 17 January, 2022
होमदेशगुजरात के भरूच में अस्पताल में आग लगने से कोविड के करीब 18 मरीजों की मौत

गुजरात के भरूच में अस्पताल में आग लगने से कोविड के करीब 18 मरीजों की मौत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस घटना के बाद अपनी संवेदना जताई है. मुख्यमंत्री रुपाणी ने पीड़ितों के परिवार के लिए 4 लाख रुपए की सहायता राशि की घोषणा की है.

Text Size:

भरूच: गुजरात के भरूच में एक अस्पताल में शुक्रवार देर रात आग लगने से कोरोनावायरस के कम से कम 18 मरीजों की मौत हो गई.

हादसे की दिल दहला देने वाली तस्वीरों में कुछ मरीजों के शव स्ट्रेचरों और बेड पर झुलसते हुए नजर आए.

एक अधिकारी ने बताया कि चार मंजिला वेलफेयर अस्पताल में देर रात एक बजे हुए इस हादसे के वक्त करीब 50 अन्य मरीज भी थे जिन्हें स्थानीय लोगों एवं दमकल कर्मियों ने सुरक्षित बाहर निकाला.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस घटना के बाद अपनी संवेदना जताई है. मुख्यमंत्री रुपाणी ने पीड़ितों के परिवार के लिए 4 लाख रुपए की सहायता राशि की घोषणा की है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पुलिस के एक अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘सुबह साढ़े छह बजे की सूचना के मुताबिक, हादसे में मृतक संख्या 18 है. आग लगने के तुरंत बाद, हमें 12 मरीजों के मौत की पुष्टि की गई थी.’

भरूच के पुलिस अधीक्षक (एसपी) राजेंद्र सिंह चुड़ासमा ने बताया कि कोविड-19 वार्ड में 12 मरीजों की मौत आग और उससे निकले धुएं की वजह से हुई.

यह स्पष्ट नहीं है कि शेष छह मरीजों की मौत भी अस्पताल के भीतर ही हुई या उनकी मौत दूसरे अस्पतालों में ले जाने के दौरान हुई.

कोविड-19 के इलाज के लिए निर्धारित यह अस्पताल राजधानी अहमदाबाद से करीब 190 किलोमीटर दूर भरूच-जंबूसार राजमार्ग पर स्थित है और इसका संचालन एक न्यास करता है.

अधिकारी ने कहा कि आग के कारणों का पता लगाया जा रहा है.

दमकल के एक अधिकारी ने बताया कि आग पर एक घंटे के भीतर काबू पा लिया गया और करीब 50 मरीजों को स्थानीय लोगों एवं दमकल कर्मियों की मदद से सुरक्षित निकाला गया.

उन्होंने बताया कि इन मरीजों को पास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.


यह भी पढ़ें: ‘गुरु तेग बहादुर का बलिदान मजबूती देता है’- 400वें प्रकाश पर्व पर शीशगंज गुरुद्वारा पहुंचे PM मोदी


 

share & View comments