scorecardresearch
Friday, 14 June, 2024
होमदेशअपराध'बिल्कुल बर्दाश्त नहीं,' दिल्ली के द्वारका में लड़की पर तेजाब से हमले पर बोले CM अरविंद केजरीवाल

‘बिल्कुल बर्दाश्त नहीं,’ दिल्ली के द्वारका में लड़की पर तेजाब से हमले पर बोले CM अरविंद केजरीवाल

सफदरजंग अस्पताल में लड़की के इलाज में जुटे डॉक्टर ने कहा, उसका चेहरा सात-आठ प्रतिशत तक झुलस गया है और आंखों पर भी असर हुआ है. फिलहाल उसकी हालत स्थिर है.

Text Size:

नई दिल्लीः पश्चिमी दिल्ली के द्वारका में बुधवार सुबह दो बाइक सवार लड़कों ने स्कूल जा रही छात्रा के चेहरे पर तेजाब फेंक दिया. पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. फिलहाल लड़की की हालत स्थिर बनी हुई है हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि उसके चेहरे का 7-8 फीसदी हिस्सा झुलस गया है और इसका असर आंखों पर भी पड़ा है.

पुलिस उपायुक्त (द्वारका) एम. हर्षवर्धन ने कहा, ‘आज सुबह करीब साढ़े सात बजे मोटरसाइकिल पर आए दो लोगों ने 17 वर्षीय लड़की पर कथित रूप से तेजाब जैसा पदार्थ फेंक दिया.’

डीसीपी ने कहा कि पीड़िता की बहन ने दो लोगों को नामजद किया है उनमें से एक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जांच के दौरान एक और लड़के का नाम मुख्य संदिग्ध के रूप में सामने आया है, आरोपी को पकड़ने के लिए कई टीमों का गठन किया गया है.

सफदरजंग अस्पताल में लड़की का इलाज कर रहे डॉक्टर ने कहा, ‘उसका चेहरा सात-आठ प्रतिशत तक झुलस गया है और आंखों पर भी इसका असर हुआ है. उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया है और उसकी हालत स्थिर है.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सुबह बेटी के साथ घटी घटना के बाद बच्ची के पिता ने कहा, ‘मेरी छोटी बेटी भागते हुए घर पर आई और उसने बताया कि 2 लड़के दीदी पर तेजाब फेंक कर फरार हो गए. उनके चेहरे भी ढके हुए थे इसलिए पहचान नहीं हो पाई थी. बेटी की हालत अभी बहुत खराब है, उसकी दोनों आंखों में तेजाब चला गया है.’


यह भी पढ़ेंः थिएटर कमांड हो या डिफेंस यूनिवर्सिटी, क्यों राष्ट्रीय सुरक्षा को चाहिए राजनीतिक प्रोत्साहन


कब जगेंगी सरकारें?

इस बीच राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने मामले पर संज्ञान लिया है. आयोग की एक टीम मामले के बारे में सभी जानकारी जुटाने के लिए सफदरजंग अस्पताल पहुंच गई है. आयोग ने पीड़िता की हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है.

वहीं दूसरी तरफ इस हादसे पर दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने कहा, ‘हमने दिल्ली पुलिस को हमलावरों को गिरफ्तार करने और उन्हें कड़ी से कड़ी सजा देने के लिए नोटिस जारी किया है. हम पीड़िता और उसके परिवार की मदद कर रहे हैं.’

मालीवाल ने ट्विटर पर एक पोस्ट के जरिए स्कूल में पढ़ने वाली पीड़ित लड़की के लिए न्याय की मांग की और देश में तेजाब की खुलेआम हो रही बिक्री पर प्रतिबंध लगाने में नाकाम रहने के लिए सरकार की आलोचना की.

मालिवाल ने कहा,  ‘यहां सबसे बड़ा सवाल यह है कि कई बार नोटिस देने के बाद भी तेजाब की खुदरा बिक्री पर रोक क्यों नहीं लगाई जाती. हम इतने सालों से लगातार आवाज़ उठा रहे हैं. तेजाब बैन करने की लड़ाई लड़ रहे हैं. आज सब्जियों की तरह हर दुकान पर एसिड मिल जाता है. आखिर सरकारें कब जागेंगी.’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया , ‘ये बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. अपराधियों की इतनी हिम्मत आख़िर हो कैसे गई? अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए. दिल्ली में हर बेटी की सुरक्षा हमारे लिए महत्त्वपूर्ण है.’

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने भी राष्ट्रीय राजधानी में अपराध की ‘बढ़ती’ दर पर चिंता जताई.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘एलजी साब , आपके पास दिल्ली पुलिस है और रोज़ अपराध बढ़ते जा रहे हैं. दिल्ली सरकार के कामों में दखल देने के बजाय आप अपने काम पर ध्यान दीजिये. आपके आने के बाद दिल्ली में अपराध बढ़ते जा रहे हैं.’


यह भी पढ़ेंः 10 हाईवे, 3,000 किलोमीटर सड़कें—महाराष्ट्र में अगले 5 सालों में लगभग हर जिले को जोड़ने की महा-योजना


 

share & View comments