Monday, 27 June, 2022
होमदेशबिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान- 3 चरणों में होगी वोटिंग, नतीजे 10 नवंबर को

बिहार विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान- 3 चरणों में होगी वोटिंग, नतीजे 10 नवंबर को

मतदान का समय एक घंटे बढ़ाया गया है. उम्मीदवारों के लिए ऑनलाइन नामांकन भरने की भी व्यवस्था की गई है. मतदान के आखिरी घंटों में कोविड मरीज वोट करेंगे. अपराधिक बैकग्राउंड वाले उम्मीदवारों को अपनी जानकारी मीडिया में देनी होगी.

Text Size:

नईदिल्ली: चुनाव आयोग ने शुक्रवार दोपहर बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के तारीखों का ऐलान कर दिया है. राज्य में 3 चरणों में चुनाव होंगे. चुनाव परिणामों की घोषणा 10 नवंबर को होगी.

3 चरणों में होने वाले चुनावों में पहले चरण में 70 सीटों पर, दूसरे चरण में 94 और तीसरे चरण में 78 सीटों पर मतदान होगा. पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर, दूसरे चरण का 3 नवंबर और तीसरे और आखिरी चरण का चुनाव 7 नवंबर को होगा. मतों कि गिनती 10 नवंबर को होगी.

243 सदस्यीय बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है. राज्य में पिछली बार पांच चरणों में चुनाव हुए थे. इस बार दीपवावली से पहले विधानसभा का गठन किया जा सकता है.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, मतदान का समय एक घंटे बढ़ाया गया है. सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होगा. पहले सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होता था. इस बार ऑनलाइन नामांकन भरने की भी व्यवस्था की गई है. चुनावों में कोरोना मरीज भी अपना मत डाल सकेंगे. मतदान के आखिरी घंटों में कोविड मरीजों के वोटिंग की व्यवस्था होगी.

चुनाव आयुक्त ने कहा, चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल ही होगा. वहीं 5 से ज्यादा लोग घर जाकर प्रचार नहीं कर सकेंगे. सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए ही चुनाव प्रचार किया जा सकेगा. अपराधिक पृष्ठिवाले उम्मीदवारों को अपनी जानकारी मीडिया में देनी होगी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा, राज्य में कुल 7 करोड़ 79 लाख मतदाता हैं. इनमें महिला वोटर्स 3 करोड़ 39 लाख, पुरुष वोटर्स 3 करोड़ 79 लाख हैं. हर वोटर्स के लिए ग्लब्स की व्यवस्था होगी. 46 लाख मास्क का इस्तेमाल होगा. 7 लाख हैंड सैनिटाइजर, 6 लाख फेस शील्ड और 6 लाख पीपीई किट का भी इस्तेमाल होगा. राज्य में 1.89 लाख बैलेट यूनिट ईवीएम का इस्तेमाल होगा.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, 70 से ज्यादा देशों में चुनाव टाला गया है. भारत में कोरोना काल में ये पहला चुनाव है. नए सुरक्षा मानकों के तहत ये चुनाव होंगे. कोरोना के दौर में ये पहला बड़ा चुनाव है. कोविड के चलते एक बूथ पर एक हजार मतदाता होंगे.

ये वर्तमान स्थिति

2015 के विधानसभा चुनाव में लालू प्रसाद की पार्टी आरजेडी राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. राज्य में आरजेडी और जेडीयू ने मिलकर सरकार बनाई थी लेकिन नीतीश कुमार की पार्टी ने 2017 में आरजेडी से गठबंधन तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बना लिया था. 2020 में भी एनडीए और महागठबंधन के बीच चुनाव जंग होनी है. भाजपा की ओर से ऐलान किया गया है कि एनडीए नीतीश कुमार की अगुवाई में ही चुनाव लड़ेगा.

बिहार राज्य में विधानसभा की कुल 243 विधानसभा सीटें हैं. राज्य की सत्ता पर जेडीयू और भाजपा काबिज हैं. फिलहाल एनडीए के पास कुल 130 सीटे हैं. इनमें जेडीयू के पास 69, भाजपा के पास 54, लोजपा दो, हम के पास एक पास और बाकि निर्दलीय के पास है. राज्य में अभी आरजेडी के पास सबसे ज्यादा 73 सीटें हैं. कांग्रेस के पास 23, सीपीआई के पास तीन, निर्दलीय के पास एक सीट है. वहीं अन्य एआईएमआईएम के पास 1 सीटे है. 12 सीटें रिक्त हैं.

चुनाव में कोविड प्रोटोकॉल का रखना होगा ध्यान

कोरोना काल के दौरान देश में ये पहला चुनाव होने जा रहा है. इस लिहाज से चुनाव आयोग ने लोगों की सुरक्षा को देखते हुए गाइडलाइन भी जारी की है. आयोग के मुताबिक आगामी बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान इन गाइडलाइन्स का पालन सुनिश्चित करना होगा. आयोग ने पहले की तुलना में अब मतदान केंद्रों की संख्या में बढ़ोत्तरी करने जा रहा है. वहीं मतदान कर्मचारियों की संख्या भी बढ़ाई गई है. मतदान केंद्रों पर वोटर्स की संख्या भी घटाकर सीमित कर दी है.

चुनाव प्रचार के दौरान डोर टू डोर कैंपेन में अधिकतम पांच लोगों ही मौजूद होंगे. रोड शो के दौरान 10 की जगह पांच गाड़ियों की टुकड़ियां बनानी होंगी.

सभी मतदान केंद्र पर वोटर्स को मास्क लगाकर आने को कहा गया है. वहीं सुरक्षा के तौर पर प्रत्येक मतदान केंद्र पर मास्क, हैंड फ्री सैनेटाइजिंग और शरीर का तापमान मापने के इंतजाम किए जा रहे हैं. वोटिंग वाले दिन मतदान केंद्र को पूरी तरह से सैनिटाइज कर डिसइन्फेक्ट करने के निर्देश दिए गए हैं.

इसके अलावा गृह मंत्रालय की ओर जारी गाइडलाइन्स का पालन करते हुए स्थानीय प्रशासन को रैली और जनसभाओं की मंजूरी देने के लिए कहा गया है.

share & View comments